समाचार
|| जिले में हर्षोल्लास से मनाया गया गणतंत्र दिवस || कलेक्टर कार्यालय में ध्वजारोहण || ग्रामीण अंचलों में छुपी प्रतिभाओं को अवसर देने का काम कर रही है प्रदेश सरकार- स्कूल शिक्षा मंत्री || प्रदेश में शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने किए जा रहे हैं नवाचार- स्कूल शिक्षा मंत्री || कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने केन्द्रीय विद्यालय डिण्डौरी में किया ध्वजारोहण || कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने कलेक्टर कार्यालय मे किया ध्वजारोहण || ग्राम पंचायतों के पंच एवं सरपंच पदों की आरक्षण कार्यवाही आज || स्कूलो में विशेष भोज का आयोजन हुआ || विभिन्न कार्यालय भवनों पर तिरंगा ध्वज फहराया गया || एनजीओ मेस का लोकार्पण
अन्य ख़बरें
महात्मा गांधी के छिंदवाडा प्रवास की जानकारी से बच्चों और युवाओं में दिखा उत्साह (खुशियों की दास्तां)
-
छिन्दवाड़ा | 08-जनवरी-2020
 
   
    वैसे तो छिंदवाडा जिले के सभी स्कूली विद्यार्थियों ने अपनी सहायक वाचन की पुस्तक में महात्मा गांधी के व्यक्तित्व और कृतित्व की सभी मोटी-मोटी बातों को पढा, जाना और समझा था, लेकिन जब से उन्हें जिला प्रशासन द्वारा आयोजित किये गये महात्मा गांधी प्रवास शताब्दी समारोह के माध्यम से यह पता चला है कि महात्मा गांधी उनके छिंदवाडा जिले में न केवल एक बार बल्कि दो-दो बार आ चुके हैं, तब से इन स्कूली बच्चों और युवाओं में एक अलग ही उत्साह और उमंग देखने को मिल रही है। हर बच्चा अपने अंदर एक गांधी को महसूस का रहा है और महात्मा गांधी के दिखाये गये रास्ते पर चलने के लिये तैयार है। इतना ही नहीं महात्मा गांधी के छिंदवाडा जिले में प्रवास शताब्दी शुभारंभ के अवसर पर इनमें से पूरे एक सौ बच्चों ने महात्मा गांधी के स्वरूप और उनकी वेशभूषा में अपने को प्रदर्शित कर सभी जिलेवासियों को सत्य, अहिंसा और प्रेम का संदेश भी दिया।

      उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 6 जनवरी 1921 को अली बंधुओं के साथ पहली बार छिंदवाड़ा आए थे। उन्होंने दोपहर में ग्रामीण महिलाओं की एक सभा को संबोधित करने के बाद शाम को गांधी गंज, जो उस समय चिटनवीसगंज के नाम से जाना जाता था, में आम सभा को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने देश भक्ति की व्याख्या की, स्वदेशी और एकता का महत्व बताया और स्वराज प्राप्ति का उद्देश्य स्पष्ट किया। उनके प्रथम बार छिंदवाड़ा आगमन के बाद इस स्थल का नाम गांधी गंज पडा। महात्मा गांधी दूसरी बार 29 नवंबर 1933 में छिंदवाडा आये थे। यहां महात्मा गांधी ने अनुसूचित जाति समुदाय के मोहल्लों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्हें मान पत्र अर्पित किये गये और आदिवासियों ने एक सौ रूपये की थैली भेंट की।

      जिला प्रशासन द्वारा महात्मा गांधी प्रवास शताब्दी समारोह के अंतर्गत 2 जनवरी को स्कूल स्तर पर और 4 जनवरी को विकासखण्ड स्तर पर महात्मा गांधी के जीवन दर्शन, व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता तथा महाविद्यालय स्तर पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता की तैयारी के दौरान भी इन बच्चों और युवाओं ने महात्मा गांधी के संबंध में अध्ययन किया और कई रोचक और महत्वपूर्ण जानकारियों से अवगत हुये। इसके साथ ही जिला प्रशासन द्वारा जनसंपर्क विभाग के माध्यम से 6 जनवरी 2020 को छिंदवाडा के एस.ए.एफ. ग्राउण्ड महात्मा गांधी प्रवास शताब्दी समारोह स्थल पर महात्मा गांधी के छिंदवाडा आगमन और जीवन यात्रा से संबंधित छायाचित्र प्रदर्शनी के माध्यम से भी इन बच्चों और युवाओं को महात्मा गांधी के कृतित्व और व्यक्तित्व के बारे में कई नई जानकारियां प्राप्त हुईं। प्रदर्शनी स्थल पर छिंदवाडा के खादी ग्रामोद्योग विभाग द्वारा सूत कातता हुआ चलित चरखे का प्रदर्शन भी बच्चों और युवाओं के आकर्षण का केन्द्र रहा। इस दौरान बच्चों और युवाओं ने स्वदेशी और खादी के महत्व को भी समझा ।   
(19 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2020फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer