समाचार
|| सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने के नियमों का पालन नहीं करने वाले 113 लोगों पर 23 हजार रूपए का जुर्माना || सार्थक एप पर दर्ज करें फीवर क्लीनिक में उपचार कराने वालों का डाटा - श्री यादव || बड़ी संख्या में कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने पर संभागायुक्त ने की मेडिकल में उपलब्ध सुविधाओं की तारीफ || प्रदेश के 290 लाख गौ भैंस वंशीय पशुओं का होगा टीकाकरण || लॉकडाउन में महिला-बाल विकास विभाग कर रहा || रेरा ने एक प्रतिशत घटाई प्रतिकर दर || बरसात के पूर्व करें तालाब निर्माण के कार्य मनरेगा के कार्यों में तेजी लाएं - कलेक्टर || टिड्डी दल के प्रकोप से बचाव के लिये सभी जिले हाई अलर्ट पर - मंत्री श्री पटेल || योजनाओं का लाभ सभी किसानों को मिले - मंत्री श्री पटेल || बिलिंग, राजस्व संग्रहण एवं विद्युत आपूर्ति प्रभावी ढंग से करें
अन्य ख़बरें
जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना के संबंध में एडवायजरी
-
कटनी | 20-मार्च-2020
    कोरोना वायरस के विरुद्ध संपूर्ण देश में शासन, प्रशासन एवं जनता द्वारा अनेक प्रयास व नवाचार किये जा रहे हैं। माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भी जनता से 22 मार्च 2020 को प्रातः 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक घर पर ही रहने का अनुरोध किया गया है। हर स्तर पर नागरिकों से अनावश्यक आने-जाने को रोकने की सलाह दी जा रही है। 20 से अधिक व्यक्तियों को एक साथ एकत्र होने की निषेधाज्ञा जारी की जा रही है।
            स्वास्थ्य विभाग के जिला नोडल अधिकारी डॉ0 यशवंत वर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस रोग की शंका होने पर व्यक्ति चिकित्सालयों में जा रहे हैं। उनके साथ कई परिजन व अन्य जुड़े व्यक्ति भी अस्पताल पहुंच रहे हैं। इस कारण से डॉक्टर्स के कक्षों के सामने लंबी कतारें परिलक्षित होती हैं। जहां व्यक्ति एक मीटर की सुरक्षित दूरी का ख्याल न रखते हुये एक दूसरे के काफी नजदीक रहते हैं। वे इस बात से अंजान हैं कि वे अपने आपको कोरोना के अतिरिक्त अन्य संक्रमणों के लिये भी असुरक्षित बना रहे हैं।
            कलेक्टर शशिभूषण सिंह व जिला स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी जनसाधारण से अनुरोध किया गया है कि बिना किसी लक्षण विशेष के वे सिर्फ सामान्य चिकित्सीय परीक्षण के लिये अस्पताल न जायें। एक रोगी के साथ अधिकतम एक व्यक्ति या परिजन ही अस्पताल में रहे, अन्य सब बाहर रहें। इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि अस्पताल के गलियारों, सीढि़यों, रैम्प तथा लिफ्ट में भी परिजन या व्यक्ति गुटका खाकर न थूंकें व अस्पताल परिसर को स्वच्छ बनाये रखने में सहयोग प्रदान करें। क्योंकि इससे उनके ही रोगियों के स्वस्थ्य होने में बाधा होगी। इस अनाश्यक भीड़ नहीं होने पर चिकित्सा कर्मी अस्पताल में भर्ती रोगियों को बेहतर सेवायें देने में ज्यादा समय दे सकेंगे।
            नोडल अधिकारी डॉ0 वर्मा ने जानकारी में बताया कि जिला चिकित्सालय में 4 आईसोलेशन बिस्तरों का क्वारंटाईन वार्ड में अभी तक कोई भी कोरोना रोगी या संदेहास्पद व्यक्ति भर्ती नहीं है। चिकित्सकों द्वारा सभी विदेश से आये व्यक्तियों एवं उनके संपर्कों पर निगरानी रखी जा रही है। साथ ही आम नागरिकों को अफवाहों को नजर अंदाज करते हुये संयमित जीवन शैली का पालन करने की सलाह भी चिकित्सा विभाग द्वारा दी गई है।
 
(71 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2020जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
27282930123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer