समाचार
|| सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने के नियमों का पालन नहीं करने वाले 124 लोगों पर 15 हजार रूपए का जुर्माना || छोटी ओमती बनेगा नया कंटेनमेंट जोन || 20 समूह नल-जल योजनाओं से 2659 ग्रामों में मिलेगा पेयजल || मत्स्य प्रजनन काल 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट निषेध || जेल बंदियों से मुलाकात की प्रतिबंध अवधि बढ़ी || होम क्वारेंटाइन व्यक्तियों को दिया जाएगा होम क्वारेंटाइन || बीएमसी से 07 मरीज स्वस्थ होकर खुशी-खुशी घर लौटे || सदर  कंटेनमेंट क्षेत्र में निःषुल्क राशन वितरण || शहर के विभिन्न स्थानों पर सरोकर योजना के तहत जरूरतमंदों को भोजन एवं राशन के पैकेट वितरित || 3 और पॉजिटिव मरीज मिले
अन्य ख़बरें
कोरोना वायरस की घातकता को गंभीरता से लेवे : कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान
कोरोना से बचाव के लिए धर्म गुरुओं की बैठक आयोजित की गई
रतलाम | 20-मार्च-2020
    कोरोना वायरस मनुष्य के लिए अत्यंत घातक है। यह बीमारी बगैर किसी वर्ग भेद के किसी को भी अपना शिकार बना सकती हैं। वर्तमान हालात बहुत गंभीर हैं, समाज के सभी वर्ग शासन-प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर सहयोग करें, कोरोना का हराने में मदद करें। यह बात कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में शुक्रवार को धर्म गुरुओं की बैठक में कही।
    बैठक में उपस्थितजनों ने प्रशासन के साथ पूर्ण सहयोग के लिए आश्वस्त करते हुए कहा कि वे अपने-अपने समाजजनों में कोरोना से बचाव और आवश्यक सावधानियों के लिए जागरूकता का सघन प्रसार करेंगे। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री गौरव तिवारी, अपर कलेक्टर श्रीमती जमुना भिड़े, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकद्वय  डॉ. इंद्रजीत बाकलवार, श्री सुनील पाटीदार, एसडीएम सुश्री लक्ष्मी गामड, डिप्टी कलेक्टर सुश्री शिराली जैन तथा बड़ी संख्या में सभी समुदायों के वरिष्ठजन, धर्मगुरु उपस्थित थे।
    कलेक्टर ने कोरोना वायरस के बैकग्राउंड से भी अवगत कराया। इस बात पर प्रबल जोर दिया कि हमें कोरोना वायरस की घातकता का हर समय ध्यान रखना है, स्वयं अपने परिवार, परिजनों, समाजजनों को कोरोना वायरस से बचाना है। कलेक्टर ने आवश्यक सावधानियां भी बताई तथा कहा कि धार्मिक स्थलों पर वर्तमान हालात में कम से कम लोग एकत्र हो, धार्मिक स्थल पर लोगों के बीच में कम से कम 1 मीटर की दूरी हो।
    कलेक्टर ने यह भी कहा कि बर्थ-डे जैसे समारोह अभी नहीं मनाए जाएं। जहां तक हो सके शादियों जैसे समारोह भी स्थगित किए जाएं। सैनिटाइजर और मास्क का उपयोग किया जाए। मास्क के संबंध में बताया कि वह व्यक्ति अवश्य मास्क का उपयोग करें जिन व्यक्तियों को सर्दी, जुकाम, बुखार हो रहा है या हॉस्पिटल परिसर या मरीज के नजदीकी संपर्क में रहने वाले व्यक्ति मास्क का उपयोग करें। कलेक्टर ने बताया कि सूती कपड़े का मास्क उपयोग किया जा सकता है जिसे 6 से 8 घंटे उपयोग पश्चात पुनः उपयोग के लिए कुकर में पानी डालकर दो सीटी की प्रक्रिया में उबालकर सुखाकर यूज करें।
 
(74 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2020जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer