समाचार
|| कोरोना वायरस के बचाव हेतु डोर टू डोर किया जा रहा है सर्वे, मास्क भी बांटे जा रहे || कलेक्टर ने टीबी अस्पताल एवं बीड़ी अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्डों का किया निरीक्षण ली समीक्षा बैठक || घर-घर सब्जी उपलब्ध कराने की अभिनव पहल का हर वर्ग द्वारा किया जा रही हैं सराहना || कंट्रोल रूम नम्बार 104/181, 0755-2704201/202/203 || कोरोना हेल्थ बुलेटिन || शहर के सुलभ काम्प्लेक्स और सामुदायिक शौचालय की सुविधा निःशुल्क रहेंगी || कोविड-19 जरूरत के समय रक्त की कमी नहीं होगी – नागरिकों ने स्वेच्छा से किया रक्तदान ‘’अच्छी खबर ‘’ || आम जनता को ऑन लाइन समान उपलब्ध कराने के लिये खाद्य अधिकारी तैनात || भारत सरकार ने कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिये नई एडवाइजरी जारी की || "कोविड-19 कंट्रोल रूम" - हर जरूरतमंद की अपेक्षाओं को पूरा करने में मददगार बना
अन्य ख़बरें
कर्फ्यू और लॉकडाउन के दौरान रोजमर्रा की जरूरतों की सामग्री की कमी नहीं
होम डिलेवरी को भी प्रोत्साहन
जबलपुर | 25-मार्च-2020
      कलेक्टर भरत यादव ने कहा है कि शहर में लगाये गये कर्फ्यू और जिले के शेष क्षेत्रों में टोटल लॉकडाउन के तहत लगाये गये प्रतिबंधों के बावजूद दूध, दवा, फल-सब्जी, किराना और राशन जैसी रोजमर्रा की जरूरतों वाली सामग्री की आपूर्ति बाधित नहीं होगी । श्री यादव ने बताया कि नागरिकों की सुविधा के लिए कर्फ्यू और टोटल लॉकडाउन के दौरान दैनिक उपयोग की इन सभी वस्तुओं की दुकानों को खोलने की अनुमति दी गई है । उन्होंने बताया कि प्रशासन द्वारा सभी वस्तुओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की गई है साथ ही इनकी सप्लाई चेन बाधित न हो इसके भी समुचित इंतजाम किये गये हैं ।
      कलेक्टर ने नागरिकों से इन वस्तुओं का अनावश्यक स्टॉक न करने का आग्रह भी किया है । उन्होंने कहा है कि नागरिकों को बहुत जरूरत हो तभी इन सामग्रियों को लेने घरों से बाहर निकलने की अनुमति होगी । इसमें भी वे निकटतम सेवा प्रदाता तक ही जा सकेंगे । उनहोंने कहा कि नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए कर्फ्यू और टोटल लॉकडाउन के तहत लगाये गये प्रतिबंधों का सख्ती से पालन करने के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिये गये हैं । 
      कलेक्टर ने बताया कि प्रशासन दैनिक उपयोग की वस्तुओं की होम डिलेवरी को प्रोत्साहन दिया जा रहा है ।  नागरिक घरों से न निकलें और उन तक रोजमर्रा की जरूरत की सामग्री पहुंचे इसके लिए बिग बाजार, रिलायंस फ्रेश जैसे कई और  संस्थानों को होम डिलेवरी की अनुमति दी जा रही है ।  इसके अलावा वार्डवार, क्षेत्रवार किराना एवं जनरल स्टोर्स की सूची भी तैयार की गई है जहां लोग संपर्क कर होम डिलेवरी की मांग पर सकेंगे । हाथ ठेला से सब्जी और फल का विक्रय करने वालों को भी मोहल्ले-गलियों में फलों के विक्रय की अनुमति रहेगी । 
      श्री यादव ने लोगों से कहा है कि कर्फ्यू और टोटल लॉकडाउन के दौरान रोजमर्रा की सामग्री के लिए घरों से निकलने की बजाय क्षेत्र की किराना दुकान के संचालक से होम डिलेवरी की ही मांग करें । यह उनके और उनके परिवार के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए भी बेहद जरूरी है । 
      श्री यादव ने कहा कि दैनिक रोजमर्रा की जरूरतों की सामग्री के लिए दुकानों के सामने अनावश्यक भीड़ न लगे, लोग एक साथ न खड़े हों इसके लिए इन वस्तुओं की दुकानों के सामने नगर निगम एवं जिले के अन्य क्षेत्रों के स्थानीय निकायों के माध्यम से चूने और पेंट से मार्किंग कराई जा रही है । उनहोंने नागरिकों से आग्रह किया कि बहुत जरूरी होने पर वे सामग्री खरीदने यदि बाजार जाते हैं तो सोशल डिस्टेडिंग के प्रोटोकॉल को अनिवार्य रूप से अपनाये और एक दसरे से दूरी बनाकर निर्धारित मार्किंग वाले स्थान पर ही खड़े हों । 
 
ग्राहकों को नहीं होगी सब्जी और फल मंडी जाने की अनुमति:
 
      कलेक्टर ने बताया कि कर्फ्यू और लॉकडाउन के दौरान शहर में और जिले में स्थित सभी पेटा्रेल पंपों और रसोई गैस एजेंसियों को भी खुले रहने की अनुमति दी गई ।  उन्होंने आज सुबह निवाड़गंज स्थित सब्जी मंडी में बने हालातों का उल्लेख करते हुए कहा कि ऐसी स्थिति अब दोबारा बनने नहीं दी जायेगी ।  इसके लिए सख्त कदम उठाये जा रहे हैं ।  श्री यादव ने कहा कि नागरिकों को अब फल-सब्जी लेने मंडियों में जाने की अनुमति नहीं होगी ।  केवल फुटकर विक्रेता ही सब्जी मंडी जा सकेंगे और गली, मोहल्लो में उपभोक्ताओं को फल-सब्जियों की आपूर्ति करेंगे । 
 
कालाबाजारी करने वालों पर होगी दांडिक कार्यवाही:
 
      कलेक्टर ने बताया कि कर्फ्यू और लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ-साथ प्रशासन इन वस्तुओं की ऊंची कीमतों पर बेचने और कालाबाजारी करने वालों पर भी सख्त कदम उठा रहा है । कालाबाजारी और अधिक दाम वसूलने मिली शिकायतों पर ऐसी दुकानों की आकस्मिक जाँच की जायेगी और आवश्यक वस्तु अधिनियम के प्रावधानों के तहत उनके विरूद्ध दांडिक कार्यवाही की जायेगी । 
      कलेक्टर ने बताया कि दैनिक उपयोग की सामग्री के अलावा कोरोना वायरस के संक्रमण के बचाव में उपयोगी मास्क और हैंड सेनिटाइजर की भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित की गई है ।  कलेक्ट्रेट कार्यालय परिसर स्थित रेडक्रॉस सोसायटी की हेल्प डेस्क के अलावा अब सभी मेडिकल स्टोर्स में भी रेडीमेड गारमेंट क्लस्टर से बनवाये गये मास्क एवं एक निजी कंपनी के हैंड सेनिटाइजर उपलब्ध कराये जा रहे हैं । रेडीमेड गारमेंट क्लस्टर से प्रतिदिन दस हजार मास्क बनाये जा रहे ।
      कलेक्टर ने साधारण सर्दी-खांसी एवं बुखार से पीड़ित लोगों के लिए चिकित्सकीय परामर्श की प्रारंभ की गई सुविधा का उल्लेख करते हुए कहा कि अब साधारण सर्दी-खांसी एवं बुखार से पीड़ित लोगों को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है ।  वे एकीकृत कोरोना कंट्रोल रूम के पन्द्रह लाइनों वाले हेल्पलाइन नंबर 0761-2637501 से लेकर 0761-2637515 पर संपर्क कर चिकित्सकीय परामर्श ले सकेंगे । इसके अलावा जरूरत पड़ने पर यदि पीड़ित व्यक्ति का उसके घर चिकित्सक भेजकर उपचार भी किया जायेगा और दवाइयां भी उपलब्ध कराई जायेंगी । 
      कलेक्टर ने इस मौके पर बताया कि कर्फ्यू के दौरान बेसहारा और गरीब लोगों को भोजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था भी पुलिस और नगर निगम के सहयोग से प्रशासन द्वारा की गई है । इसमें कई सामाजिक संगठन भी भागीदारी निभा रहे हैं ।  
 
(7 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2020मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer