समाचार
|| दाऊदी बोहरा समाज ने गरीबों को भोजन के लिए 30 हजार रूपए एवं 1500 साबुन भेंट किए || राज्यपाल ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री कोष में दिए 10-10 लाख || कोरोना से जंग की असली योद्धा है पुलिस- मुख्यमंत्री श्री चौहान || ई - कामर्स / लाजिस्टिक कंपनियों को पूरे राज्य के लिए मान्य पास जारी करने हेतु प्रबंध निदेशक मध्यप्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम लिमिटेड अधिकृत || ‘भोजन वितरण वाहन’’ से मिलेगा बेसहारा एवं जरूरतमंद को भोजन || कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु निगम द्वारा शहर मे प्रतिदिन किया जा रहा है सेनेटाईजेशन व किटनाशक दवाईयो का छिडकाव || जिले में साढ़े 5 हजार से अधिक बेसहारा लोगों को निःशुल्क खाद्यान्न वितरित || सुरक्षित रहकर डॉक्टर कर सकेंगे कोरोना संक्रमित मरीजों का चेकअप व स्वाब टेस्ट || सफाई कर्मचारी का प्रशासनिक अधिकारियों ने मनाया जन्मदिन || सब्जी मंडी प्रांगण में  बिना पास धारक व्यक्तियों के प्रवेश पर होगी वैधानिक कार्यवाही
अन्य ख़बरें
नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जिला प्रशासन के अधिकारियों एवं प्राइवेट डाॅक्टरों की बैठक हुई आयोजित
-
सागर | 26-मार्च-2020
 
     
      विश्व में फैली महामारी नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण को दृष्टिगत रखते हुए एवं प्रभावी नियंत्रण हेतु कार्यालय स्मार्ट सिटी (ICCC) में कलेक्टर प्रीति मैथिल नायक की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। कलेक्टर श्रीमती मैथिल ने निर्देश देते हुए कहा की हम सभी जानते है कि डाक्टर को भगवान का रूप माना जाता है और इस महामारी की रोकथाम एवं नियंत्रण में आप सभी डाक्टर्स अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को निभाये और प्रशासन का सहयोग करें। इस दौरान उपस्थित सभी डाक्टर्स को कलेक्टर ने इस महामारी से संबंधित जानकारी के वर्तमान स्टेटस से अवगत कराते हुए कहा की पासपोर्ट डिपार्टमेंट से मिले डेटा के आधार पर बाहर से आये नागरिकों को चेक किया जा रहा है, इसके अलावा जिले में दूर-दराज से गांवो में आये मजदूर, किसान, छोटे कर्मचारी आदि को भी ग्राम पंचायतों के माध्यम से चिन्हित किया जा रहा है।
      बैठक में कलेक्टर ने प्राइवेट डाक्टर्स को बताया की नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु बीएमसी सागर को कोर सेंटर बनाया गया है। यदि आगे आवश्यकता होगी तो प्राइवेट हास्पिटल की सुविधाओं का उपयोग किया जायेगा। बीएमसी सागर में रोज लगभग 1600 ओपीडी केस आते है, जिन्हे आप सभी के सहयोग से हैंडिल किया जाये। क्योंकि बीएमसी की तात्कालिक सेवाएं नोवल कोरोना वाइरस रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु है। जिन पेशेंटो (गरीब अथवा अमीर) को छोटी-मोटी बीमारी है, उन्हें फोन, व्हाट्सएप के द्वारा इलाज मुहैया करायें ताकि लोगों को इलाज के नाम पर इधर-उधर घूमने से रोका जा सके। केवल सीरियस केस ही हाॅस्पिटल पहुचें, यह डाक्टर्स सुनिश्चित करें। इसकी मानिटरिंग हेतू डाँ.नीना गिडियन को नोडल अधिकारी बनाया। रिटायर्ड डाक्टर्स एवं मेडीकल स्टाफ से बात करें और उन्हें भी सक्रीय करें।
      अपर कलेक्टर सह जिला पंचायत सीईओ इक्षित गढ़पाले ने बताया की अभी भारत नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) के संक्रमण की सेकेण्ड स्टेज में है। थर्ड स्टेज में और ज्यादा फैलने से रोकने हेतू पूरे भारत में 21 दिन का लाकडाउन किया गया है। इस महामारी से रोकथम एवं इलाज के लिए कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है, इस हेतू सागरश्री हास्पिटल में वेंटीलेटर कार्यप्रणाली की ट्रेनिंग 20-20 के बैच में कर्मचारियों को दी जाएगी। नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) कंट्रोल रूम Integrated Control and Command Center(ICCC) Sagar में तीन डाॅक्टरों की टीम उपस्थित रहेगी।
      बैठक में भोपाल से आये डाँ.संतोष जैन अपर-संचालक ने बताया की बचाव ही इस महामारी को रोकने का तरीका है। इस हेतू डाँ.और उनकी टीमें भी पेशेंट का परीक्षण करने से पहले उसे मास्क पहिनाए, उसे सेनेटाइज करें और परीक्षण करने के बाद भी अच्छे से पेशेंट और अपनेआप को सेनेटाइज करें। इस दौरान उन्होंने सागर के प्राइवेट हाॅस्पिटल की व्यवस्थाओं जैसे- टोटल बेड की संख्या, रेस्पिरेटरी सिस्टम, सीपेप एवं बीपेप, टोटल आईसीयू बेड आदि की जानकारी ली एवं हास्पिटल के आईसीयू एवं मेजर वार्डों में एन्ट्री एवं एग्जिट गेट अलग-अलग करने का निर्देश दिया। निरंतर डाँ.जी.एस. पटेल बीएमसी ने बताया की बीएमसी में टोटल 750 बेड है। हमने नोवल कोरोना वाइरस (कोविड-19) के संक्रमण से रोकथामध्नियंत्रण को दृष्टिगत रखते हुए छः यूनिट बनाई है। इसके अंतर्गत 90 बेड का एक जनरल वार्ड बनाया है एवं अन्य में निमोनिया पेशेंट के लिए अलग बेड, जो कोरोना संक्रमित है उन्हे अलग बार्ड, आईसीयू में 20 बेड लगाए गए है। इसके अलावा एक वार्ड स्टाफ के लिए आइसोलेट किया गया है जहां डाक्टर्स, नर्स अन्य कमचारी रहेंगे उनके खाने रहने की व्यवस्था यहीं की गई है ताकि वे घर न जाएं और उनके घर के लोग सुरक्षित रहें धोखे से भी संक्रमण न फैले ।    
      बैठक में आर.पी. अहिरवार आयुक्त नगरपालिक निगम सागर, राहुल सिंह राजपूत मुख्य कार्यपालन अधिकारी, एसएससीएल, डाँ.एम एस सागर सीएमएचओ सागर, डाँ.प्रदीप एस चैहान, डाँ.संजीव मुखारया, डाँ. साधना मिश्रा, डाँ. निधि मिश्रा, डाँ. अभिषेक जैन, डाँ. स्मिता दुबे, डाँ. मोनिका जैन एवं शहर के अन्य डाक्टर्स, प्रशासनिक अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।
(13 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2020मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
27282930123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer