समाचार
|| जिले में बीते 24 घंटे में 170.6 मिलीमीटर औसत वर्षा || मास्क, फेस कवर नहीं पहनने पर 500 रूपए तथा सार्वजनिक स्थलों पर थूकने पर लगाया जाएगा 1000 रूपए जुर्माना || जिले में अभी तक कोरोना के 69 पॉजीटिव मरीज मिले || जिले में 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट पर प्रतिबंध || ग्रामीण क्षेत्रों में 5 लाख 36 हजार से ज्यादा हैण्डपम्प चालू || श्रमिकों को लेकर अब तक 137 ट्रेन आईं मध्यप्रदेश || आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिये यथासंभव "लोकल" का प्रयोग करें || बिजली बिलों में राहत देना सरकार की संवेदनशीलता || लॉकडाउन खुलने का मतलब असावधानी नहीं मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण की गति सबसे धीमी.डबलिंग रेट 31 दिन, रिकवरी रेट 63.4 || प्रदेश में 15 लाख 65 हजार तेन्दूपत्ता संग्रहित
अन्य ख़बरें
बर्ड फ्लू की सूचना मिलने पर भी बचाव नियंत्रण की कार्यवाही करें - कलेक्टर
-
कटनी | 01-अप्रैल-2020
    कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट शशिभूषण सिंह ने बर्ड फ्लू (एवियन एनफ्लूएंजा) की बीमारी की सूचना प्राप्त होने पर जिले में इस रोग से बचाव और नियंत्रण के संबंध में प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। कटनी जिले के रीठी विकासखण्ड में 15 कौवों की मृत्यु की सूचना के बाद कलेक्टर श्री सिंह ने एहतियात के रुप में एवियन एन्फ्लूएन्जा (बर्ड फ्लू) के बचाव और नियंत्रण के लिये भारत सरकार, मत्स्य, पशुपालन, डेयरी मंत्रालय के निर्देशों के अनुरुप कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं।
            कलेक्टर श्री सिंह ने पशु पालन विभाग के सभी क्षेत्रीय अधिकारी, कर्मचारियों को कहा है कि रैपिड रिस्पॉन्स टीम का गठन कर तत्काल क्षेत्र के जलाशयों में प्रवासी पक्षियों के सैम्पल और आस-पास के ग्रामों में कुक्कुट के सैम्पल एकत्र कर परीक्षण हेतु भोपाल भेजे जायें। जिले के सिंचित एरिया में पशुपालन, वन, सिंचाई व मत्स्य विभाग अपने दलों का गठन करें और कुक्कुट एवं प्रवासी पक्षियों के सैम्पल जांच के लिये भेजें। जिले के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अपने अनुविभाग के पॉल्ट्री फॉर्म, बैकयार्ड में पशुपालन और राजस्व अधिकारियों के माध्यम से सतत् निगरानी रखें और बायो सिक्यूरिटी मापदण्डों का पालन करायें। जिले में कहीं से भी पक्षियों या मुर्गियों की अप्राकृतिक या सन्देह जनक मृत्यु पाये जाने पर उप संचालक पशु चिकित्सा सेवायें तत्काल कार्यवाही करें। सैम्पल जांच के लिये भेजें। पक्षियों या मुर्गियों में बीमारी की सूचना मिलने पर घटना के संबंध में विभाग के अधिकृत और जिम्मेदार अधिकारी ही मीडिया को जानकारी दें। जिले के स्वास्थ्य, पशुपालन, वन, मत्स्य पालन, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, नगर निगम, सिंचाई, लोक निर्माण, पुलिस और राजस्व तथा जनसम्पर्क विभाग को समन्वय बनाते हुये आउटब्रेक की स्थिति में भारत शासन के निर्देशों के अनुरुप कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये हैं।
 
(64 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2020जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer