समाचार
|| राष्ट्रीय भारतीय सैन्य कॉलेज देहरादून प्रवेश परीक्षा 1 एवं 2 दिसम्बर को आयोजित होगी || महिला एवं बाल विकास विभाग की योजनाओं की प्रगति की समीक्षा || गरीब कल्याण रोजगार अभियान के कार्यो में और अधिक प्रगति लाने के निर्देश || राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम के तहत शहरी, आशा एवं आंगनवाडी कार्यकर्ताओं का एक दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न || नीमच में 12 लोगों ने जीती कोरोना से जंग-अब तक 1383 लोग हुए स्‍वस्‍थ्‍य "खुशियों की दास्‍ता" || मंत्री श्री सखलेचा आज जावद क्षैत्र में विभिन्‍न कार्यक्रमों में भाग लेगें || पोस्टल बैलेट वाले मतदाता घर से ही दे सकेंगे वोट || ’’खजाने की खोज’’ प्रतियोगिता में अधिकतम 20 टीम हिस्सा लेंगी || पत्रकार बीमा योजना में आवेदन करने की तिथि बढ़ी || बार-बार शिकायत कार्यक्षेत्र से बाहर करने पर सीएमएचओ और सीएस को नोटिस
अन्य ख़बरें
बच्चों के शिक्षा, संस्कार, पर्यावरण संस्कृति के प्रति समर्पित शिक्षक महेश सोनी "प्रेरक कहानी/ कहानी सच्ची है"
पद स्थापना के बाद से ही अपने स्कूल को उत्कृष्ट बनाने के लिए दिन-रात किया प्रयास
देवास | 08-मई-2020
   कोई भी स्कूल आदर्श तभी बन सकता है, जब उस स्कूल के शिक्षक समर्पण भाव से अपना दायित्व निभाये। शासकीय माध्यमिक विद्यालय महाकाल कालोनी में पदस्थ महेश सोनी ने विद्यालय में समर्पण भाव से जो कार्य किया उसी का परिणाम है कि आज विद्यालय अन्य स्कूलों के लिए मॉडल के रूप में उभरा है।
    प्रधानाध्यापक महेश सोनी ने बताया कि 2008 में जब शाला का प्रभार मिला तब स्थिति बहुत विकट थी। शाला में संसाधनों की कमी थी तथा बाउंड्रीवॉल भी नहीं थी और बच्चों के लिए खेल मैदान में नहीं था। शाला को विकसित करने का दृढ़ संकल्प किया और जन सहयोग तथा निरंतर प्रयास से आज विद्यालय इस मुकाम पर पहुंचा है। सर्वप्रथम बच्चों के लिए फर्नीचर रोटरी क्लब के माध्यम से उपलब्ध करवाए। निजी सहयोग एवं समाजसेवियों के माध्यम से शाला में बगीचे का निर्माण करवाया जिसमें झूले एवं फिसल पट्टी लगवाई। क्षेत्रीय पार्षद के माध्यम से बाउंड्रीवाल का निर्माण, ट्यूबवेल में मोटर, बच्चों के लिए आर.ओ का पानी नल कनेक्शन, सीमेंट की 10 कुर्सियां एवं बच्चों को स्कूल बैग एवं स्वेटर प्राप्त हुए। डीपीसी श्री राजीव सूर्यवंशी ने शाला को 10 लैपटॉप प्रदान किए ताकि बच्चे कंप्यूटर शिक्षा भी प्राप्त कर सके।
मनाए जाते हैं सभी त्योहार, पर्व और जयंतियां
   प्रधानाध्यापक महेश सोनी ने बताया कि शाला में बच्चों को सरल एवं सहज वातावरण में सभी विषय की शिक्षा दी जा रही है। शिक्षक श्रीमती अर्चना वर्मा द्वारा बच्चों को टीएलएम सामग्री द्वारा हिंदी, संस्कृत एवं कंप्यूटर शिक्षा दी जाती है। गणित का शिक्षण सूर्यबाला बघेल द्वारा दिया जाता है। शाला में नवाचार के रूप में एक निजी विद्यालय के शिक्षक प्रति शुक्रवार और शनिवार निशुल्क अंग्रेजी एवं कंप्यूटर की शिक्षा प्रदान करते हैं। बच्चों को शाला के द्वारा ही संपूर्ण स्टेशनरी, स्वेटर, शूज एवं अन्य आवश्यक सामग्री प्रदान की जाती है जो जन सहयोग से जुटाई जाती है। शाला में राष्ट्रीय त्यौहार के साथ बच्चों में भारतीय संस्कृति की परंपरा बनाए रखने के लिए दीपावली, गणेश उत्सव, नवरात्रि, मकर संक्रांति, तुलसी पूजा पर्व, महापुरुषों की जयंती उल्लास पूर्वक मनाई जाती है। दीपावली पर सभी बच्चों को मिठाई तथा पटाखे प्रदान किए जाते हैं।
स्वच्छता सर्वेक्षण में शाला को नगर में प्रथम पुरस्कार मिला
   जन शिक्षक आतिश कनासिया एवं हंसराज वाघेला ने बताया कि शाला को नगर निगम देवास द्वारा तीन बार उत्कृष्ट विद्यालय से पुरस्कृत किया गया है। इनरव्हील क्लब द्वारा शाला को हैप्पी स्कूल का दर्जा दिया गया। स्वच्छता सर्वेक्षण में शाला को नगर में प्रथम पुरस्कार मिला। जिलाधीश महोदय द्वारा प्रधानाध्यापक महेश सोनी को उत्कृष्ट कार्य हेतु पुरस्कृत किया गया एवं नगर निगम द्वारा तीन बार श्रेष्ठ शिक्षक का पुरस्कार दिया गया शिप्रा पंचायत एवं देवास यूथ वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान दिया गया।
शाला की उपलब्धियों का दिल्ली दूरदर्शन हुआ प्रसारित
   शाला की उपलब्धियों को दिल्ली दूरदर्शन द्वारा प्रसारित किया गया। विद्यालय में बच्चों के लिए खेल सामग्री एवं खिलौने पर्याप्त मात्रा में हैं उनके लिए इस सत्र से बास्केटबॉल मैदान भी शुरू किया जा रहा है। शाला में होने वाली बाल सभा में सामान्य ज्ञान एवं महापुरुषों से संबंधित जानकारी बच्चों को प्रदान की जाती है। शिक्षक महेश सोनी द्वारा शाला बगीचे का वर्षभर निरंतर ध्यान रखा जाता है और इसी का प्रयास है कि आज शाला का बगीचा विभिन्न प्रकार के पौधों फूलों से महक रहा है। जिसमें विभिन्न प्रकार के पक्षी गिलहरी तितलियां एवं कुछ बंदर बच्चों का मनमोह लेते हैं। जन शिक्षक ने बताया कि महेश सोनी द्वारा शाला समय पश्चात निर्धन बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाई जाती है और पिछले कुछ वर्षों में उनके मार्गदर्शन में बच्चे सेना पुलिस सेवा शिक्षक एवं अन्य क्षेत्रों में चयनित हुए हैं।
स्कूल की प्रतिदिन होती है साफ-सफाई
   नेशनल मेरिट मींस में इस वर्ष 2 छात्रों का चयन हुआ एवं प्रति वर्ष शाला से उत्कृष्ट विद्यालय प्रवेश परीक्षा में बच्चे चयनित होते आ रहे हैं। जन शिक्षक ने बताया कि शाला में छात्र छात्राओं के लिए पृथक पृथक शौचालय हैं जिनकी सफाई स्वयं महेश सोनी द्वारा प्रतिदिन की जाती है जो सराहनीय है। शाला में बच्चों को ग्रीष्मावकाश में व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से प्रतिदिन अध्यापन करवाया जा रहा है और उसे निरंतर चेक किया जा रहा है।

 
(140 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2020अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
31123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
2829301234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer