समाचार
|| आज एक पॉजिटिव मरीज मिला || किल कोरोना अभियान : छठवें दिन 48 हजार 215 घरों के 2 लाख 47हजार व्यक्तियों के स्वास्थ्य का हुआ सर्वे || कोरोना से स्‍वस्‍थ हुये दो व्‍यक्ति डिस्‍चार्ज || कलेक्‍टर श्री यादव ने दसवीं कक्षा की प्रावीण्‍य सूची में शामिल सभी छात्रों को किया सम्‍मानित || जिले विक्‍टोरिया अस्‍पताल के कूलरों एवं पानी की टंकियों में की गई लार्वा की जांच || आई.टी.आई. में प्रवेश के लिए 19 जुलाई तक रजिस्ट्रेशन || राज्यमंत्री श्री कावरे का भ्रमण कार्यक्रम || जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक का आयोजन 8 जुलाई को || कोविड 19 के संक्रमण की रोकथाम व बचाव के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करें-संभागायुक्त श्री चौधरी || जिले में कानून-व्यवस्था सुनिश्चित की जाये-संभागायुक्त श्री चौधरी
अन्य ख़बरें
समय पर बिल का भुगतान करें, बिजली विभाग का सहयोग करें
कार्यपालन अभियंता ने जनता से की अपील
मण्डला | 10-मई-2020
            जिले के कार्यपालन अभियंता शरद बिसेन ने जिले की जनता से लॉकडाऊन के दौर में समय पर बिजली के बिलों का भुगतान करने की अपील की है। उन्होंने जिलेवासियों से कहा है कि जिले के विद्युत उपभोक्ताओं covid&19  की महामारी के इस दौर में लॉकडाउन के समय आपके द्वारा दिखाए गए संयम के चलते आज मंडला जिला ग्रीन जोन में है। इस लॉक डाउन की परिस्थिति में विद्युत विभाग ने पूर्ण प्रयास किया है कि आपको सतत् विद्युत आपूर्ति होती रहे। आंधी तूफान के अतिरिक्त समय सभी जगहों पर विद्युत आपूर्ति बनाए रखी गई जाती है। मंडला जिले में विद्युत के कुल 221000 उपभोक्ता हैं जिनकी कुल मासिक विद्युत की खपत लगभग 350 लाख यूनिट होती है। इस प्रकार मंडला जिले के लिए लगभग 12 करोड़ की बिजली प्रतिमाह विद्युत विभाग खरीदता है। इसमें से लगभग 6 करोड़ की वसूली विद्युत उपभोक्ताओं से की जाती है और लगभग इतनी ही राशि अलग-अलग वर्गों के उपभोक्ताओं को सब्सिडी के तौर पर मध्यप्रदेश शासन द्वारा दी जाती है।
            पिछले दो माह से कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन होने के कारण विद्युत के बिलों की वसूली केवल 10 प्रतिशत हो पाई है। इस समय शासन की आर्थिक प्राथमिकता स्वास्थ्य सेवाओं एवं गरीब मजदूरों की आवश्यक खाद्य सुविधाओं जैसी व्यवस्थाओं पर है। ऐसे में शासन विद्युत विभाग की वित्तीय सहायता करने में असमर्थ होगा। विद्युत विभाग जितने भी बिजली, ताप विद्युत गृहों, जल विद्युत गृहों अथवा अन्य विद्युत उत्पादक संयंत्रों से लेता है उसकी राशि प्रतिमाह देनी होती है, इन सभी संयंत्रों को चलाए रखने के लिए कच्चा माल जैसे कोयला,तेल इत्यादि एवं कार्य करने वाले अधिकारी कर्मचारियों का वेतन बहुत जरूरी होता है। कच्चे माल इत्यादि के अभाव में विद्युत का उत्पादन संभव नहीं हो पाएगा। इस महामारी के पहले मंडला जिले में प्रतिमाह औसतन 5 से 5.5 करोड़ अर्थात नगद राजस्व मांग का 90% आप लोगों के सहयोग से प्राप्त कर लेते थे। विद्युत विभाग में राजस्व वसूली के मामले में मंडला जिले के विद्युत उपभोक्ताओं को ईमानदार एवं स्वत: बिल भुगतान करने वालों के तौर पर जाना जाता है। यहां पर वसूली का 60 से 70% राशि उपभोक्ता द्वारा स्वयं ही जमा की जाती है जो कि एक स्वस्थ परंपरा रही है। वर्तमान में जिस प्रकार की परिस्थितियां हैं उससे यह लगता है कि यह महामारी का दौर अभी लंबा चलेगा और जैसा कि हम जानते हैं कि आज के दौर में बिना विद्युत के जीवन यापन संभव नहीं है,वह भी लॉक डाउन के इस दौर में जबकि हम अपना ज्यादातर समय घर पर बता रहे हैं। हमारे घर के सभी उपकरण जैसे टीवी,कूलर,पंखा,एसी, मोबाइल के रिचार्ज इत्यादि विद्युत से ही चलते हैं,इन सब के बिना घर पर रह पाना अधिक कठिन होगा।
            लॉक डाउन की परिस्थिति में विगत 2 माह से आपका प्रिंटेड बिल आपके घर अथवा प्रतिष्ठान तक पहुंचाना संभव नहीं हो पाया है, परंतु यदि आपका मोबाइल नंबर विद्युत विभाग में रजिस्टर्ड है तो एसएमएस के माध्यम से आपके बिल की जानकारी आप तक भेजी गई है।आप अपना बिल विद्युत विभाग की वेबसाइट www.mpez.co.in पर देख सकते हैं। इसके लिए आपके पुराने बिल में सबसे ऊपर बाएं हाथ तरफ एक आईवीआरएस क्रमांक होता है, की आवश्यकता होगी। आप अपने विद्युत के बिल का भुगतान विद्युत विभाग की वेबसाइट,पेटीएम,पे यू, गूगल पे, अमेजन पे इत्यादि ऑनलाइन माध्यमों से कर सकते हैं, इसके लिए आपको घर से बाहर जाने की आवश्यकता भी नहीं होगी।यदि आपके घर के आसपास एमपी ऑनलाइन किओस्क है तो वहां से भी बिजली बिल का भुगतान कर सकते हैं।
            आगामी मानसून को देखते हुए हमारे सभी अधिकारी कर्मचारी मेंटेनेंस के कार्य में संलग्न है जिससे कि मानसून एवं आंधी तूफान में विद्युत आपूर्ति कम से कम बाधित हो, ऐसे में कर्मचारियों को राजस्व वसूली में लगाना थोड़ा कठिन है। गरीब एवं मध्यम वर्ग के विद्युत उपभोक्ताओं को शासन पहले से ही उचित सब्सिडी प्रदान कर रही है ऐसे में आप सभी सक्षम विद्युत उपभोक्ता जैसे कि व्यवसायिक प्रतिष्ठान, उद्योग जगत के सम्मानीय उपभोक्ता एवं समस्त शासकीय कर्मचारी अधिकारी एवं किसान भाई जिन्हें अपने फसल की उपार्जन की राशि प्राप्त हो चुकी है, से आग्रह है कि किसी भी ऑनलाइन माध्यम से अपने बिजली के बिलों का भुगतान कर इस कठिन समय में विद्युत विभाग एवं मध्यप्रदेश शासन की ताकत को बढ़ाएं जिससे कि भविष्य में भी हमें सतत् विद्युत आपूर्ति मिलती रहे।
(57 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer