समाचार
|| कलेक्टर ने विराम को सफल बनाने में सहयोग के लिये नागरिकों का आभार माना || कोरोना से स्वस्थ होने पर छह व्यक्तियों की अस्पताल से छुट्टी || गुरु पूर्णिमा पर रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा रक्तदान शिविर आयोजित || प्रदेश में 2 करोड़ से अधिक लोगों का स्वास्थ्य सर्वे हुआ || लोक अदालत में सम्पत्ति कर के अधिभार पर मिलेगी 100 प्रतिशत की छूट || प्रदेश में फिल्म्स व सीरियल्स की शूटिंग के लिए एमपी टूरिज़्म ने जारी की एडवाइजरी || नर्मदा जल का पूरा उपयोग किया जायेगा || रोजगार सेतु पोर्टल से अब 16 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिकों को मिला रोजगार || विधानसभा उप निर्वाचन की तैयारी के लिए विडियो कांफ्रेंस 07 जुलाई को || यात्री बसों के संचालन के संबंध में निर्देश
अन्य ख़बरें
मनरेगा योजना में फल पौध रोपण के लिए किसानो का चयन
-
श्योपुर | 11-मई-2020
    कलेक्टर श्री राकेश कुमार श्रीवास्तव द्वारा एपीसी के बैठक की तैयारियों की समीक्षा के दौरान दिये गये निर्देशो के क्रम में  जिले में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत संचालित मनरेगा योजना में किसानों की निजी एवं पट्टे की भूमि पर फलोद्यान रोपण करने हेतु पात्र किसानों के चयन की प्रक्रिया उद्यान विभाग श्योपुर द्वारा की जा रही है।
   सहायक संचालक श्री पंकज शर्मा ने बताया कि नीबू, अमरूद, मुनगा, आम, जामून, कटहल, ऑवला, सीताफल,बेर एवं चीकू के बगीचा रोपण की तीन वर्षिय योजना में लाभ लेने के लिए अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति,घुमन्तू जनजाति, अधिसूचना में से निकाली गई अनुसूचित जनजाति,अन्य बी.पी.एल. परिवार, ऐसे परिवार जिनकी मुखिया महिला है, ऐसे परिवार जिनके मुखिया विकलांग हों, भूमि सुधार में लाभार्थी परिवार इन्द्राआवास योजना के लाभान्वित हितग्राही,अनुसूचित जनजाति एवं अन्य पारम्परिक वनवासी(वन अधिकार मान्यता) अधिनियम 2006 (2 of 2007) अंतर्गत लाभान्वित हक प्रमाण-पत्र धारक एवं ग्राम पंचायत अंतर्गत उपरोक्त श्रेणी के पात्र हितग्राहियों को लाभान्वित किये जाने के उपरांत लघु व सीमान्त कृषक (कृषि ऋण माफी एवं राहत योजना 2008 में यथा परिभाषित) को लाभान्वित किया जावेगा।
   इसी प्रकार प्रति एकड़ 3x3 मीटर के अंतराल पर 400 पोधे, 4ग4 मीटर के अंतराल पर 250 पौधे तथा 6ग6 मीटर के अंतराल पर 100 पौधे रोपित  किये जावेगें। योजना का लाभ उन्ही पात्र किसानों को दिया जावेगा। जिनके पास वर्तमान में तथा भविष्य के लिए सिंचाई का सुनिष्चित साधन की समुचित व्यवस्था होगी। फेंसिंग हेतु लगने वाली सामग्री की अंष राषि कृषक द्वारा स्वयं वहन की जावेगी। फलोद्यान परियोजना की क्रियान्वयन एजेंसी उद्यानिकी विभाग ग्राम पंचायत होगी।
   परियोजना में 400 पौधे प्रति एकड़ रोपण की लागत 2.12 लाख,250 पौधो एकड़ रोपण की लागत 1.89 लाख तथा 100 पौधे प्रति एकड़ रोपण करने के लिए 1.60 लाख रूपये का तीन वर्षो में भुगतान का प्रावधान है। परियोजना में भुगतान के लिए प्रथम वर्ष के अंतिम वर्षा ऋतु के आगमन पर 80 प्रतिषत पौधे जीवित होना चाहिऐं तथा द्वितीय वर्ष के अंत में वर्षा ऋतु के आगमन तक 90 प्रतिषत पौधे जीवित हितग्राही को रखने होगें। परियोजना में लाभ लेने के लिए कृषक संबंधित वरिष्ठ उद्यान विकास अधिकारी विकास खण्ड श्योपुर श्री रामेश मीणा मो.न. 8720005753, वरिष्ठ उद्यान विकास अधिकारी विकास खण्ड विजयपुर श्री महेश सिहं तोमर मो.न. 9826267205 एवं वरिष्ठ उद्यान विकास अधिकारी विकास खण्ड कराहल श्री पूरण सिहं सिकरवार मो.न. 9893583608 से संपर्क किया जा सकता है।
 
(56 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer