समाचार
|| मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की वीडियो कांफ्रेंस से कलेक्टर्स-कमिश्नर्स से चर्चा || प्रदेश के विकास को मिलेगी गति || कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ, 2 गज की दूरी रखकर संक्रमण से करें सुरक्षा || उपार्जित गेहूँ का सुरक्षित भंडारण किया जा रहा, किसानों को राशि का भुगतान होगा || वर्ष 2020 के खेल पुरस्कारों के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित || प्रदेश में 15 लाख 65 हजार तेन्दूपत्ता संग्रहित || सरकार ने गेहूँ को सुरक्षित रखने के सभी इंतजाम किये-मंत्री श्री पटेल || श्रमिकों को लेकर अब तक 137 ट्रेन आईं मध्यप्रदेश || ग्रामीण क्षेत्रों में 5 लाख 36 हजार से ज्यादा हैण्डपम्प चालू || हायर सेकेण्डरी की शेष परीक्षाओं के नवीन प्रवेश-पत्र जारी
अन्य ख़बरें
जिले में 9553 मजदूरों की दूर हुई रोजी-रोटी की चिंता
जरूरतमंद हाथों को दिया जा रहा है काम
दतिया | 15-मई-2020
      कोरोना संकट के दौर में श्रमिकों के समक्ष पैदा हुए रोजी-रोटी के संकट को मनरेगा कार्यों के संचालन से दूर किया जा रहा है। मनरेगा में सड़क निर्माण, खेत, तालाब, वृक्षारोपण, पंचायत भवन, आंगनवाड़ी भवन, प्रधानमंत्री आवास, खेल मैदान, गौशाला, श्मशान, सुदूर संपर्क सड़क निर्माण, जल संरक्षण, कूप निर्माण, तालाब निर्माण के कार्य आज मजदूर वर्ग के लिए वरदान साबित हो रहे हैं।
    जिले में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा हर जरूरतमंद हाथ को काम देने के लिए 20 अप्रैल 2020 से ग्राम पंचायतों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय गारंटी स्कीम (मनरेगा) की रोजगार मूलक गतिविधियां प्रारंभ की र्गइं, जिनमें अब तक 279 ग्राम पंचायतों में 4562 कार्य शुरू हो गए हैं। इनमें 9553 श्रमिकों को प्रतिदिन रोजगार मिलने लगा है। कार्यांे की संख्या और मजदूरों की संख्या बढ़ने का क्रम लगातार जारी है।
    जिले में जरूरतमंद हाथों को उनके घर के नजदीक ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए काम देने के प्रयास किए जा रहे हैं। ये श्रमिक मास्क अथवा गमछा उपयोग में लाने और साबुन से हाथ धोने जैसी सावधानियां अपनाकर कार्य कर रहे हैं। मनरेगा में इस समय जिले की दतिया जनपद में 4134 श्रमिक, सेवढ़ा जनपद में 3374 श्रमिक और भाण्डेर जनपद में 2045 श्रमिक काम कर रहे हैं। जिले की 279 ग्राम पंचायतों में करीब 4562 कार्य चल रहे हैं।
    इस तरह अब तक दतिया जनपद में 21038 मानव दिवसों, सेवढ़ा जनपद में 20104 मानव दिवसों एवं भाण्डेर जनपद में 12010 मानव दिवसों तथा जिले में कुल 53152 मानव दिवसों का रोजगार सृजित हुआ है।
    दतिया जनपदीय अंचल के ग्राम रेगांव में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्माणाधीन सड़क में कार्यरत नीरज अहिरवार ने बताया कि लॉकडाउन के चलते रोजी-रोटी की परेशानी थी। कार्य शुरू होने पर मजदूरी मिल गई। खाने-पीने का अच्छा इंतजाम चल रहा है। इसी गांव के धर्मेन्द्र अहिरवार ने बताया कि काम मिलने से उसकी रोजी-रोटी की चिंता दूर हुई है। उसको पांच माह का राशन भी मिल गया है। पठारी पंचायत की प्रभारी सचिव कुमकुम परमार ने बताया कि जहां श्रमिकों को काम की जरूरत है, उन्हें वहीं काम दिलवाया जा रहा है। गांव के सरपंच श्री रामस्वरूप अहिरवार ने बताया कि कार्य स्थल पर मजदूरों को मास्क, साबुन, हैंडवाश, सेनेटाइजर निःशुल्क दे रहे हैं। पीने के पानी के लिए पानी के टैंकर भी रखवा रहे हैं।
मास्क निर्माण से मिला काम
    ग्रामीण क्षेत्रों में होममेड मास्क निर्माण की प्रक्रिया से स्वसहायता समूहों की महिलाओं को घर बैठे रोजगार प्राप्त हो रहा है। मध्य प्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन की जिला परियोजना प्रबंधक श्रीमती संतमती खलको ने बताया कि स्वहायता समूहों की महिलाओं को होम-मेड मास्क, सेनेटाइजर विनिर्माण जैसी गतिविधियों से जोड़कर काम दिलवाया जा रहा है। जिले में करीब 45 समूहों की 204 महिलाओं ने 65230 मास्क निर्माण औऱ  दो समूहों की पंद्रह महिलाओं ने 825 लीटर  सेनेटाइजर का उत्पादन कर लाभ कमाया है। 
 
(21 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2020जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer