समाचार
|| परीक्षा-केन्द्र पर विद्यार्थी एक घंटे पूर्व उपस्थित होंगे || किसानों और मजदूरों को दी गई राशि से मिलेगा अर्थव्यवस्था को बल || प्रदेश में संचालित हो जागरूकता अभियान || संक्रमित व्यक्तियों को कोरंटीन करने के लिए नरसिंहपुर की 4 होटल अधिग्रहीत || लॉक डाउन का उल्लंघन करने वालों पर हो रही निरंतर कार्रवाई || कंट्रोल रूम में आई 17048 शिकायतों का हुआ निराकरण || गेहूं खरीदी पर अब तक 27703 किसानों को हुआ 286.73 करोड़ रूपये का भुगतान || जिले में पंजीकृत किसानों से हुआ 202975 मेट्रिक टन गेहूं का हुआ उपार्जन || जिले की 6 सीमाओं में 9 चैक प्वाइंट से जिले में आये 13725 व्यक्ति || सी.एम. हेल्पलाइन से बड़ी संख्या में लोगों को मिल रही सहायता
अन्य ख़बरें
सुखद खबरों का सिलसिला जारी जांच ही इलाज का पहला कदम है
आज फिर चिरायु से 28 व्यक्ति पूर्णतः स्वस्थ होकर डिस्चार्ज
भोपाल | 18-मई-2020
    बुजुर्ग व्यक्ति ना घबराएं - कोरोना को हराए - आगे आकर जांच कराए।  कोरोना से बढ़ती उम्र के खतरे के मिथक को हरा आज फिर 28 व्यक्ति इस युद्ध में जीतकर सकुशल अपने घर रवाना हुए। शासन- प्रशासन और उच्च स्तरीय स्वास्थ्य व्यवस्था और अच्छे इलाज के चलते बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित व्यक्ति पूर्णतः स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो रहे है।
आज डिस्चार्ज हुए 65 वर्षीय अफजल हसन ने शासन प्रशासन और चिरायु अस्पताल का हार्दिक धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि वे इस बीमारी से लड़ पाएंगे। लेकिन अच्छे इलाज और बेहतर सुविधाओं के कारण ही आज वे स्वस्थ हो पाए है।
   52 वर्षीय प्रदीप सक्सेना को आज नया जीवन मिला है। कोरोना संक्रमण को हराने में जिला प्रशासन के योगदान और इलाज के प्रयासों के लिए उन्होने हार्दिक धन्यवाद दिया।
   जहांगीराबाद निवासी  5 वर्ष की नन्ही नेहा झा आज अपने पिता 55 वर्षीय मनीष झा के साथ मुस्कुराती हुई अपने घर की ओर रवाना हुई। उनके पिता ने बताया की वह अपनी बच्ची के स्वास्थ्य को लेकर बहुत घबराए हुए थे लेकिन डॉक्टर्स और नर्सो के सौम्य व्यवहार और अच्छे इलाज से यह डर निकल गया। वे जिंदगीभर इस इलाज के ऋणी रहेंगे।
   इसी तरह अन्य सभी व्यक्तियों ने शासन- प्रशासन को अच्छी स्वास्थ्य व्यवस्थाओं और सुविधाओं के लिए धन्यवाद दिया। सभी ने भोपालवासियों से अपील की कि वे कोरोना से डरे नहीं बल्कि इसका डटकर मुकाबला करे। स्वयं आगे आए और अपनी जांच कराए। जितनी जल्दी इस संक्रमण का पता चलेगा इतनी जल्दी इसका इलाज संभव हो पाएगा।
   आज डिस्चार्ज हुए 28 व्यक्तियों में मोहम्मद मुबीन, अफजल हसन, दिलीप कुमार सिन्हा, रफीक मियां, प्रदीप सक्सेना, घनश्याम चौरसिया, मोहम्मद रफीक दशरथ सिंह यादव, मोहम्मद आदिल, सरफान अहमद,शांति शर्मा, आशीष पंद्रम,सौरव यादव, दीपक कुमार, माखनलाल सेन ब्रजकिशोर झा, बेबी नेहा झा, मनीष झा, ठाकुर प्रसाद , रोहित खेरवार, सावित्री पंथी ,सपना ओझा,ऋषिका ओझा, ऋषि ओझा ,समर खान , मोहम्मद जलील, धर्मेंद्र धाकड़ और आदिल हुसैन शामिल है।
   चिरायु अस्पताल के डायरेक्टर डॉ अजय गोयनका ने आज डिस्चार्ज हुए सभी व्यक्तियों को 7 दिवस होम क्वारंताइन की समझाइश दी। अर्ली ऑक्सीजन थैरेपी से घातक बीमारियों से ग्रसित होने के बाद भी सभी व्यक्तियों का संक्रमण का इलाज संभव है। जितनी जल्दी इस संक्रमण का पता चलेगा उतनी जल्दी इसके इलाज की संभावना प्रबल होगी। इसलिए सर्दी खासी जैसे लक्षण होने पर तुरंत फीवर क्लीनिक या शासकीय अस्पतालों में जाए और अपनी जांच कराएं। आपकी जांच ही आपके इलाज का पहला कदम है।
 
(15 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2020जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer