समाचार
|| प्रदेश में 2 लाख 57 हजार दावेदारों को उनकी काबिज भूमि के वन अधिकार पत्र वितरित || प्रदेश में "एकल नागरिक डाटाबेस" बनाया जाएगा || एक ही फोरम पर उपलब्ध होंगी रोजगार लेने और देने वालों की जानकारी || दुग्ध उत्पादकों, किसानों को के.सी.सी. देने का अभियान प्रारंभ || मानसून सीजन में खतरनाक हो सकते हैं बिजली के झटके || महिला जनधन खाता संख्या के अंतिम अंक 4 और 5 वाले खातों में 8 जून को 500 रुपए डाले जायेंगे || हायर सेकेण्डरी की शेष परीक्षाओं के नवीन प्रवेश-पत्र जारी || सभी स्कूलों में 30 जून तक रहेगा अवकाश || सभी 83 रिपोर्ट नेगेटिव, 10 मरीज़ स्वस्थ, अभी केवल 8 एक्टिव केस || उपकेन्द्र पतेरी में आज विद्युत प्रवाह अवरूद्ध रहेगा
अन्य ख़बरें
टिड्डी दल के आने की संभावना के प्रति सावधान रहें-कलेक्टर
टिड्डी दल के बचाव की दिशा में बैठक आयोजित
श्योपुर | 19-मई-2020
    कलेक्टर श्री राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा है कि भारत सरकार की वीसी में गत दिवस दिये है। निर्देशो के क्रम में जिले में टिड्डी दल का आक्रमण होने की संभावना को ध्यान में रखते हुए विभागीय अधिकारी समन्वय के साथ सभी प्रकार की तैयारियां पूरी रखें। साथ ही टिड्डी दल के आने के संभावना के प्रति सावधान रहें। वे आज कलेक्टर कार्यालय श्योपुर के सभागार में टिड्डी दल के वचाब की दिशा में आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे।
   बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री सम्पत उपाध्याय, जिला पंचायत के सीईओ श्री हर्ष सिंह, उपसंचालक कृषि श्री पी गुजरे, सहायक संचालक उद्यानिकी श्री पंकज शर्मा, बडौदा कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि वैज्ञानिक डॉ. अमित सिंह एवं अन्य विभागीय अधिकारी तथा दवाईयों से संबंधित प्रायवेट फर्मो के संचालक उपस्थित थे।
   कलेक्टर श्री राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि टिड्डी दल की संभावना को ध्यान में रखते हुए जिला मुख्यालय के अलावा ब्लॉक स्तर पर भी दवाईयो की व्यवस्था सुनिश्चित की जावे। साथ ही सभी अधिकारी टिड्डी दल आने पर दवाईयों को स्प्रे करें। जिससे टिड्डी दल को समाप्त करने में सहायता मिलेगी। उन्होने कहा कि टिड्डी दल वन क्षेत्र में अधिकांश तय हरे पेडो पर बैठता है। साथ ही वह पत्तों को नष्ट करने में सहायक होता है। इसलिए टिड्डी दल के जिले में आने पर सभी संबधित विभागीय अधिकारी आवश्यक व्यवस्थाओ के साथ मुस्तैद रहें। उन्होने कहा कि इस कार्य में पंचायत सचिव, जीआरएस एवं पटवारी का भी सहयोग लिया जावे।
   कलेक्टर ने कहा कि टिड्डी दल की सूचना से जिला स्तरीय कन्ट्रोलरूम, उपसंचालक कृषि एवं संबंधित क्षेत्र के एसडीएम को भी अवगत कराया जावे। उन्होने कहा कि दवाई का स्प्रे करने के लिए भी स्पे्र वाले ट्रेक्टरो का उपयोग किया जा सकता है। उन्होने कहा कि फायर ब्रिगेड की व्यवस्था की जावे। जिसके लिए एसडीएम एवं सीएमओ नगर परिषद से चर्चा कर व्यवस्था सुनिश्चित की जा सकती है। उन्होने कहा कि गत दिवस टिड्डी दल को नीमच जिले में देखा गया है। टिड्डी दल आने वाले क्षेत्र में भारत सरकार की टीम उनकी पीछा कर रही है। साथ ही स्प्रे कर टिड्डीयो को खत्म करने की कार्यवाही की जा रही है। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री सम्पत उपाध्याय ने कहा कि टिड्डी दल के आने की संभावना को ध्यान में रखते हुए विभागीय अधिकारी सभी तैयारियो के मुस्तैद रहें। उन्होने कहा कि टिड्डी दल आने पर वन, कृषि विभाग के अधिकारी दवाईयो की उपलब्धता रखे। साथ ही टिड्डी दल आने पर उसका स्प्रे कराये।
   उपसंचालक कृषि श्री पी गुजरे ने बैठक में बताया कि भारत सरकार की वीसी में निर्देश दिये गये है कि टिड्डी दल नीमच, मदंसौर जिले में पहुंच गया है। यह दल श्योपुर जिले की तरफ आने पर कृषि, वन विभाग के अधिकारियों द्वारा दवाईयों आदि की व्यवस्था कर ली गई है। साथ ही जिला स्तर पर कन्ट्रोलरूम बनाया गया है। इसी प्रकार ब्लॉक स्तर पर भी नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिये गये है। टिड्डी दल आने की संभावना में मद्देनजर वन, कृषि के मैदानी अमला तथा पटवारी, ग्राम पंचायत सचिव, रोजगार सहायक का भी सहयोग लिया जावेगा। उन्होने टिड्डी किट निंयत्रण हेतु अधिसूचित किटनाशी रसायनों का स्प्रे करने की भी जानकारी विस्तार से दी।
   बडौदा कृषि विज्ञान केन्द्र के कृषि वैज्ञानिक डॉ. अमित सिंह ने बैठक में बताया कि टिड्डी दल राजस्थान के प्रतापगढ एवं मप्र के नीमच जिले में देखा गया है। साथ ही मल्हारगढ में भी टिड्डी दल के आने की सूचना मिली है। इसके अलावा रतलाम जिले में भी टिड्डी दल को देखा गया है। उन्होने कहा कि टिड्डी दल की संभावना को ध्यान में रखते हुए टिड्डीयो को स्प्रे करके मारा जा सकता है।
 
(19 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2020जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer