समाचार
|| कोरोना से स्वस्थ होने पर आज दस लोगों को दी गई छुट्टी || कलेक्टर ने विराम को सफल बनाने में सहयोग के लिये नागरिकों का आभार माना || किल कोरोना अभियान : बारहवें दिन 11 हजार घरों के 59 हजार व्यक्तियों के स्वास्थ्य का हुआ सर्वे || आज 5 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई || आज की नॉवल कोरोना वायरस हेल्थ बुलेटिन || कैबिनेट मंत्री श्री डंग 13 जुलाई को सुवासरा से भोपाल प्रस्थान करेंगे || जिले के लोग कोरोना से बचाव के लिए सावधानी बरतें, लापरवाही खतरनाक हो सकती है - कलेक्टर श्री लवानिया || स्व-सहायता समूह की महिलाएँ संचालित कर रहीं नर्सरी || छोटे व्यवसायियों को आत्मनिर्भर बनाने में मध्यप्रदेश अव्वल || जिले में रोको-टोको कार्यक्रम हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त
अन्य ख़बरें
शासकीय एवं निजी अस्पतालों में बनेंगे फीवर क्लीनिक
-
जबलपुर | 21-मई-2020
     प्रशासन द्वारा प्राइवेट हॉस्पिटल एसोसिएशन और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पदाधिकारियों की आज बुलाई गई बैठक में शासन के निर्देशानुसार जिले के सभी शासकीय एवं निजी अस्पतालों में जल्दी ही फीवर क्लीनिक खोलने का निर्णय लिया गया है।
     कलेक्टर भरत यादव ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्राइवेट हॉस्पिटल एसोसिएशन और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पदाधिकारियों को शहर के सभी निजी अस्पतालों में फीवर क्लीनिक खोलने का प्लान जल्दी ही प्रशासन को सौंपने का आग्रह किया है।  उन्होंने बताया कि निजी अस्पतालों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित शासकीय प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में भी फीवर क्लीनिक खोले जायें।  कलेक्टर ने बताया कि फीवर क्लीनिकों में सामान्य बीमारियों के साथ-साथ सर्दी-खांसी-जुखाम एवं बुखार से पीड़ित लोगों का चिकित्सकों द्वारा उपचार किया जायेगा और जरूरी परामर्श दिया जायेगा।  आवश्यकता पड़ने पर चिकित्सकों की सलाह पर कोविड टेस्ट के लिए सैम्पल भी लिये जायेंगे। श्री यादव ने कहा कि फीवर क्लीनिकों को कोरोन्टीन सेंटर, कोविड केयर सेंटर और डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल से लिंक किया जायेगा।  निजी अस्पतालों को फीवर क्लीनिक में आने वाले रोगियों की सूचना मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय को देनी होगी।
     कलेक्टर ने बैठक में कहा कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में बनाये जा रहे फीवर क्लीनिकों का व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जायेगा ताकि लोगों को इनके बारे में जानकारी हो।  उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों को फीवर क्लीनिक खोलने के साथ-साथ संदिग्ध एवं कोरोना के माइल्ड लक्षण वाले मरीजों के उपचार के लिए अपने यहां उपलब्ध संख्या के अनुसार बिस्तर आरक्षित करने होंगे।
     कलेक्टर ने बताया कि निजी एवं शासकीय अस्पतालों में अब सभी सामान्य बीमारियों का उपचार भी होगा तथा सर्जरी भी होगी।  उन्होंने कहा कि शासन के निर्देशानुसार आकस्मिक स्थिति में निजी अस्पतालों को सर्जरी के लिए कोविड सैम्पल लेने या रिपोर्ट का इंतजार करने की बाध्यता भी नहीं होगी। उन्होंने बैठक के अंत में निजी अस्पतालों के संचालकों से कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने में प्रशासन के साथ मिलकर काम करने का आग्रह किया।
     बैठक में प्राइवेट हॉस्पिटल एसोसिएशन और आईएमए की ओर से जिला प्रशासन को कोरोना संक्रमण के खिलाफ चल रही जंग में हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया गया और जल्दी ही फीवर क्लीनिक खोलने की विस्तृत प्लान सौंपेने की बात कही गई।  बैठक में अपर कलेक्टर हर्ष दीक्षित, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनीष मिश्रा, डॉ. जीतेन्द्र जामदार, डॉ. राजेश धीरावाणी, डॉ. पी.के. पांसे आदि मौजूद थे।
(52 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer