समाचार
|| मे. म.प्र. राज्यबीज एवं फार्म विकास निगम नरसरहा का सोयाबीन का बीज अमानक पाए जाने पर क्रय-विक्रय पर प्रतिबंध || प्रायवेट वाहन चालक की बेटी माधवी ने हाई स्कूल परीक्षा में प्रावीण्य सूची में बनाया स्थान (कहानी सच्ची है) || विद्युत प्रवाह अवरुद्ध || सर्पदंश एवं आकाशीय बिजली गिरने से मृत्यु होने पर आर्थिक सहायता मंजूर || घर-घर जाकर किया जा रहा है पाठ्यपुस्तकों का वितरण || ‘‘हाई स्कूल परीक्षा परिणाम (एमपी बोर्ड) घोषित’’ बेटियों ने मारी बाजी || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 10वीं एमपी बोर्ड की परीक्षा में उत्तीर्ण विद्यार्थियों को दी बधाई || अब तक जिले में 202.2 मिमी औसत वर्षा दर्ज || किल कोरोना अभियान में शुक्रवार को हुआ 10 हजार 43 घरों का सर्वे || मेड़ बंधान से बंजर जमीन में लहराई धान की फसल (कहानी सच्ची है)
अन्य ख़बरें
कलेक्टर इंदौर के एक ट्वीट को मिले सवा लाख से अधिक इम्प्रेशन
-
इन्दौर | 22-मई-2020
   
   
            क़रीब एक सप्ताह पहले इंदौर और आगरा-बाम्बे रोड में मज़दूरों के कष्ट भरे सफ़र के अनेक समाचार मिल रहे थे। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर सक्रिय जिला प्रशासन इंदौर ने इन मज़दूरों के लिए बेहतर से बेहतर सुविधाएँ सुनिश्चित की। इंदौर के नागरिक भी मज़दूरों के भोजन, पानी, दवा के लिए सहृदय भावों से आगे आए। कलेक्टर इंदौर श्री मनीष सिंह द्वारा 17 मई को इंदौर से गुज़र रहे दो प्रवासी मज़दूरों के अनुभव पर आधारित एक ट्वीट किया गया था। यह ट्वीट अत्यंत सराहा एवं देखा गया है। आज दिनांक तक इस ट्वीट को 1,29,811 इम्प्रेशन प्राप्त हो चुके हैं। इस ट्वीट को अभी तक 39,771 मीडिया व्यूज मिल चुके हैं। साथ ही कुल 11,165 व्यक्तियों का इंगेजमेंट रहा है।

             इस ट्वीट में इंदौर बायपास में दो प्रवासियों द्वारा सहज भाव से यह बताया जा रहा  है कि किस तरह मध्यप्रदेश आने पर उनका ध्यान रखा गया है। महाराष्ट्र-मध्यप्रदेश सीमा के पहले न उन्हें खाना मिला और ना पानी। मध्यप्रदेश पहुँचने के पहले अगर उन्होंने कहीं पानी भरने की कोशिश भी की तो उन्हें मना कर दिया जाता था, किन्तु इंदौर आते ही यहाँ उन्हें भोजन, पानी सभी कुछ बड़े प्रेम के साथ मिला। इन दोनों प्रवासी मज़दूरों द्वारा अपनी बात जिस सहजता से रखी गई, उसे बेहद पसंद किया गया है।

      उल्लेखनीय है कि कलेक्टर इंदौर का ट्विटर एकाउंट भी अत्यंत लोकप्रिय हैं। श्री मनीष सिंह के इंदौर कलेक्टर बनने के बाद इस ट्विटर हैंडल में फॉलोवर तेज़ी से बढ़े हैं। उनकी ज्वाइनिंग के पूर्व केवल साढ़े 4 हज़ार फ़ॉलोवर थे जो अब बढ़कर 21 हजार 800 हो चुके हैं। मध्यप्रदेश के सभी ज़िलों के कलेक्टर के ट्विटर  हैंडल्स की तुलना में फॉलोवर्स की यह संख्या सर्वाधिक है।
(43 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer