समाचार
|| कंटेनमेंट एरिया घोषित || नव-निर्मित मीडिएशन सेंटरों का ई-लोकार्पण || आवेदन आमंत्रित || ऑनलाइन शिक्षा से घर ही बने विद्यालय "सफलता की कहानी" || कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने लॉकडाउन का अनलॉक अवधि के समस्त क्रियाकलाप/गतिविधियों के लिए दिशा निर्देश जारी किये || 04 जुलाई तक जिले में हुई वर्षा की जानकारी || जिले में 06 जुलाई की सुबह 7:00 बजे तक रहेगा टोटल लॉकडाउन || जिले में आगामी 4 दिनों का मौसम पूर्वानुमान || पिछले 24 घण्टे में सर्वाधिक वर्षा पेटलावद में दर्ज || कृषि विभाग द्वारा जिले के किसानों को सामयिक सलाह
अन्य ख़बरें
मुरैना जिले में रविवार को 902 प्रवासी मजदूर आये
-
मुरैना | 24-मई-2020
    कोरोना वायरस की महामारी से अन्य प्रांतों में फंसे प्रवासी मजदूरों में से रविवार को मुरैना जिले की स्थापित चार चैक पोस्टों पर 902 मजदूर अपरान्ह 3 बजे तक आये।                               
    संयुक्त कलेक्टर श्री एलके पाण्डे के अनुसार सर्वाधिक 703 प्रवासी मजदूर अल्लावेली चैक पोस्ट पर आये। निरावली चैक पोस्ट पर 100, अटारघाट पर 49 तथा बुधारा चैक पोस्ट पर 23 मजदूर आये। इन 902 प्रवासी मजदूरों में से 629 मजदूरों को 13 बसों में बिठाकर मध्यप्रदेश के अन्य जिलों के लिये भेजा गया। शेष 273 प्रवासी मजदूर मुरैना के ही पाये गये, जिनका थर्मल स्क्रीनिंग कर नाम, पता, मोबाइल सूची में अंकित कर उनके घरों पर अन्य साधनों से भेजा गया। यह सूची 273 मजदूरों की संबंधित विकासखण्डों को भेजी जा रही है। जिससे उनका स्वास्थ्य परीक्षण समय-समय पर हो सके और कोविड-19 के नियम के तहत 14 दिन होम क्वारंटाइन रह सकें।       
    29 अप्रैल से आज तक 70 हजार 376 मजदूर आये, जिनमें से 50 हजार 524 मजदूरों को प्रदेश के अन्य जिलों एवं राज्यों के जिलों के लिये रवाना किया तथा मुरैना में 19 हजार 852 मजदूर आये।
चंबल संभाग के भिण्ड जिले के 757 प्रवासी श्रमिकों को बसों के माध्यम से पहुँचाया गया उनके गंतव्य स्थान तक
    नोबल कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण के दौरान जिले  के प्रवासी मजदूरों को प्रदेश के विभिन्न जिलों से एवं देश के अन्य राज्यों से वापस लाया जा रहा जिसके अंतर्गत 24 मई 2020 को 757 श्रमिक देश के अन्य राज्यों तथा प्रदेश के अन्य जिलों से भिण्ड जिले में मालनपुर बॉर्डर एवं बरही बॉर्डर पर स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्क्रीनिग की सुविधा के अलावा सभी मजदूरों को शौचालय, ठहरने, पीने का पानी और भोजन की व्यवस्था के बाद उनके घर वापसी कराई गई।  
    कलेक्टर श्री छोटे सिंह ने बताया कि देश के अन्य राज्यों से एवं प्रदेश के अन्य जिलों से आए जिले के  प्रवासी मजदूरों को बस के माध्यम से उनके घर भेजने की व्यवस्था की गई है।आज प्रदेश के अन्य जिलों से 534 जिले के प्रवासी श्रमिक एवं देश के अन्य राज्यों से जिले के 223 प्रवासी श्रमिक भिण्ड पहुँचे यहाँ बॉर्डर पर स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्क्रीनिंग की सुविधा के अलावा सभी मजदूरों को शौचालय, ठहरने, पीने का पानी और भोजन की व्यवस्था के बाद उनके घर वापसी कराई गई।
राजस्थान से श्योपुर, शिवपुरी एवं गुना के 47 मजदूर पहुंचे सामरसा बॉर्डर
    मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिहं चौहान की पहल पर नोबल कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण के दौरान फसल काटने राजस्थान गये श्योपुर, शिवपुरी एवं गुना के 47 मजदूर आज मप्र-राजस्थान की सीमा बॉर्डर सामरसा पहुंचे। जहां पर जिला प्रशासन द्वारा कस्तूरबा गांधी छात्रावास दांतरदा में ठहरने की व्यवस्था की। साथ ही इस व्यवस्था के अंर्तगत प्रवासी मजदूरों को शौचालय, पेयजल और भोजन की सुविधा उपलब्ध कराई गई। इसके बाद सभी मजदूरो को बस के माध्यम से उनके घर भिजवाने की कार्यवाही सुनिश्चित की गई।
    कलेक्टर श्री राकेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि राजस्थान से श्योपुर जिले के सामरसा बॉर्डर पर श्योपुर के 38, शिवपुरी के 04 एवं गुना के 05 कुल 47 मजदूर आये थे। इन सभी मजदूरो को बस के माध्यम से उनके घर पहुंचाने की सुविधा जिला प्रशासन द्वारा सुनिश्चित की गई।           
 
(41 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer