समाचार
|| कलेक्टर ने विराम को सफल बनाने में सहयोग के लिये नागरिकों का आभार माना || कोरोना से स्वस्थ होने पर छह व्यक्तियों की अस्पताल से छुट्टी || गुरु पूर्णिमा पर रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा रक्तदान शिविर आयोजित || प्रदेश में 2 करोड़ से अधिक लोगों का स्वास्थ्य सर्वे हुआ || लोक अदालत में सम्पत्ति कर के अधिभार पर मिलेगी 100 प्रतिशत की छूट || प्रदेश में फिल्म्स व सीरियल्स की शूटिंग के लिए एमपी टूरिज़्म ने जारी की एडवाइजरी || नर्मदा जल का पूरा उपयोग किया जायेगा || रोजगार सेतु पोर्टल से अब 16 हजार से अधिक प्रवासी श्रमिकों को मिला रोजगार || विधानसभा उप निर्वाचन की तैयारी के लिए विडियो कांफ्रेंस 07 जुलाई को || यात्री बसों के संचालन के संबंध में निर्देश
अन्य ख़बरें
एक करोड़ मीट्रिक टन से अधिक गेहूँ का ऐतिहासिक उपार्जन-मंत्री श्री राजपूत
12 लाख किसानों को 12 हजार करोड़ का भुगतान
श्योपुर | 25-मई-2020
 
    खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता संरक्षण एवं सहकारिता मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने बताया कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के चलते गेहूँ की बम्पर पैदावार के बाद 12 लाख किसानों से गेहूँ का ऐतिहासिक उपार्जन किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक एक करोड़ दस लाख मीट्रिक टन गेहूँ किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदा गया। इससे पहले प्रदेश में सर्वाधिक उपार्जन 84.90 लाख मीट्रिक टन किया गया था। मध्यप्रदेश के 12 लाख किसानों के खातों में 12 हजार करोड़ रुपये ऑनलाइन जमा कराये जा चुके है।
एक दिन में गेहूँ का रिकार्ड उपार्जन
    श्री राजपूत ने बताया कि लॉकडाउन के कारण श्रमिकों की कमी एवं गेहूँ की कटाई में देरी के बाद भी प्रदेश के 19 लाख 52 हजार किसानों से उनकी उपज समर्थन मूल्य पर खरीदी गई है। उन्होंने बताया कि एक दिन में गेहूँ का 4 लाख 98 हजार 578 रिकार्ड उपार्जन दर्ज किया गया, जो अपने आप में एक रिकार्ड है। कुल उपार्जित गेहूँ का 85 प्रतिशत का परिवहन किया जाकर गोदामों में सुरक्षित पहुँचाया जा चुका है। उज्जैन, मक्सी, महिदपुर में गोदाम भर जाने के कारण शेष गेहूँ को होशंगाबाद के गोदामों में सुरक्षित रखने के लिये परिवहन किया गया। भण्डारण के लिये पारंपरिक तकनीक के साथ आधुनिक स्टील सायलों एवं सायलों बैग का उपयोग किया गया है।
चना उपार्जन में किसानों को मिलेगा भावांतर का लाभ
    मंत्री श्री राजपूत ने बताया कि एक लाख पच्चीस हजार मीट्रिक टन. चने का उपार्जन समर्थन मूल्य पर 4 हजार 875 रूपये प्रति क्वि. के मान से किया गया। प्रदेश के कुल 83 हजार किसान इससे लाभांवित हुए। उन्होंने बताया कि तिवडा मिश्रित चना खरीदी पर भावांतर योजना के अंतर्गत किसानों को 500 रूपये प्रति क्विंटल भावांतर का लाभ दिया जायेगा।
कोविड-19 योद्धा योजना में शामिल करेंगे
    मंत्री श्री राजपूत ने विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को इस ऐतिहासिक उपलब्धि के लिये बधाई दी। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में गेहूँ उपार्जन में लगे खाद्य एवं सहकारिता विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के योगदान को देखते हुए उन्हें कोविड-19 योद्धा योजना का लाभ भी दिये जाने का प्रस्ताव शासन को प्रेषित किया गया है।

(41 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer