समाचार
|| आज से राजस्व न्यायालय का कार्य पुनः प्रारंभ करने के कलेक्टर ने दिये निर्देश || कोविड-19 मे जारी प्रोटोकाल का पालन नही करने पर अब संबंधित को कोरोना वॉलिंटियर्स के रूप करनी होगी ड्यूटी || कोविड की एसओपी का पालन कराने के लिए अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई || आज एक पॉजिटिव मरीज मिला || किल कोरोना अभियान : छठवें दिन 48 हजार 215 घरों के 2 लाख 47हजार व्यक्तियों के स्वास्थ्य का हुआ सर्वे || कोरोना से स्‍वस्‍थ हुये दो व्‍यक्ति डिस्‍चार्ज || कलेक्‍टर श्री यादव ने दसवीं कक्षा की प्रावीण्‍य सूची में शामिल सभी छात्रों को किया सम्‍मानित || जिले विक्‍टोरिया अस्‍पताल के कूलरों एवं पानी की टंकियों में की गई लार्वा की जांच || आई.टी.आई. में प्रवेश के लिए 19 जुलाई तक रजिस्ट्रेशन || राज्यमंत्री श्री कावरे का भ्रमण कार्यक्रम
अन्य ख़बरें
ऑन लाइन कृषक तौल पर्ची जारी करने के निर्देश
-
विदिशा | 26-मई-2020
      उपार्जन केन्द्रों में उपार्जन के अंतिम दिवस मंगलवार 26 मई को समर्थन मूल्य पर गेंहू उपार्जन हेतु जारी नीति की कंडिकाओ के अनुसार उपार्जन केन्द्र पर कृषक की उपज तौल करने हेतु कृषको को ऑन लाइन कृषक तौल पर्ची जारी करने के निर्देश खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण के संचालक श्री अविनाश लवानिया द्वारा जारी किये गए है।
    ऑन लाइन कृषक तौल पर्ची की वैधता 48 घंटे निर्धारित की गई है। कृषक तौल पर्ची के क्रम में एफएक्यू गेंहू होने पर तौल करने का प्रावधान किया गया है। खाद्य संचालक के द्वारा अंतिम दिवस 26 मई को जो कार्यवाही सुनिश्चित की जानी है के संबंध में स्पष्ट दिशा निर्देश जारी किए गए है। तदानुसार ई उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत किसान उपार्जन केन्द्र पर गेंहू को विक्रय करने हेतु आने पर (उपज को केन्द्र पर लाने पर) ऑन लाइन ही कृषक तौल पर्ची जारी की जाए जिसमें उपज की अनुमानित मात्रा भी प्रविष्ट की जाए। प्रत्येक तौल पर्ची पर उपार्जन केन्द्र पर नियुक्त नोडल अधिकारी के हस्ताक्षर कराए जाए। किसानो को हस्तलिखित टोकन कदापि जारी नही किए जाए।
    कृषक तौल पर्ची जारी होने के उपरांत गुणवत्ता परीक्षण में गेंहू एफएक्यू की पाए जाने एवं पाई गई स्थिति को गुणवत्ता परीक्षण मोबाइल एप में दर्ज करने पर उपज की तौल कराई जाये। स्कंध नॉन-एफएक्यू पाए जाने पर रिजेक्ट के उपरांत पुनः इस स्कंध की तौल नहीं कराई जाये।
    कृषक की एफएक्यू उपज की तौल होने के उपरांत कम्प्यूटराईज प्रिन्टेड रसीद केन्द्र प्रभारी द्वारा ऑन लाइन जारी कर हस्ताक्षर किए जाए, जिसकी एक प्रति संस्था पर रखी जाये तथा दूसरी प्रति कृषक को दी जाए। सुनिश्चित किया जाये कि जिन कृषको की एफएक्यू उपज की तौल की जा चुकी है, उनको अनिवार्यतः कम्प्यूटराईज प्रिन्टेड रसीद प्रदाय हो जाए। हस्तलिखित रसीद मान्य नहीं होगी।
    उपार्जन केन्द्रों पर नोडल अधिकारी की ड्यूटी लगाई जाये एवं उनके द्वारा डे-क्लोजर रिपोर्ट में उपार्जन केन्द्र पर पाई स्थिति दर्ज की जाये। जिसकी एक प्रति नोडल अधिकारी द्वारा हस्ताक्षर कर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को प्रेषित की जाये। अनुविभागीय अधिकारी द्वारा उनके क्षेत्र के सभी उपार्जन केन्द्रों की रिपोर्ट सायं छह बजे तक प्रेषित की जाए तथा कलेक्टर द्वारा जिले की स्थिति से संचालक, खाद्य को अवगत कराया जाए।
    यथासंभव किसानो की तौल दिनांक 26 मई को करा ली जाए, जिन किसानो को दिनांक 26 मई तक वैध ऑन लाइन कृषक तौल पर्ची जारी की गई है और उनकी उपज की तुलाई नही हो पाई हो, तो ऐसे ऑन लाइन कृषक तौल पर्ची प्राप्त किसानो से 27 मई की शाम छह बजे तक तौल कराई जा सकेंगी।
    जिन किसानो से पूर्व में उपज की तौल की गई है, उनकी ऑन लाइन प्रिन्टेड रसीद अनिवार्यतः जारी कर किसानो को उपलब्ध कराई जाये। जिले के जिन उपार्जन केन्द्रो 26 मई तक पंजीकृत किसानो से उपार्जन, कृषक तौल पर्ची जारी किया जाना संभव नही हों सका एवं उनमें आगामी दिवसों में उपार्जन किया जाना है, ऐसे उपार्जन केन्द्रो केन्द्रों के नाम, कोड नम्बर, शेष किसान संख्या तथा उपार्जन की जानकारी प्रेषित करने तथा वास्तविक पंजीकृत कृषकों से ही उनकी पात्रतानुसार उपज की खरीदी की जाए। अन्य सीमावर्ती राज्यों से उपार्जन केन्द्रों पर गेंहू विक्रय हेतु न आए, हेतु विशेष चौकसी बरती जाए।
 
(42 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer