समाचार
|| कोरोना से स्वस्थ होने पर आज दस लोगों को दी गई छुट्टी || कलेक्टर ने विराम को सफल बनाने में सहयोग के लिये नागरिकों का आभार माना || किल कोरोना अभियान : बारहवें दिन 11 हजार घरों के 59 हजार व्यक्तियों के स्वास्थ्य का हुआ सर्वे || आज 5 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई || आज की नॉवल कोरोना वायरस हेल्थ बुलेटिन || कैबिनेट मंत्री श्री डंग 13 जुलाई को सुवासरा से भोपाल प्रस्थान करेंगे || जिले के लोग कोरोना से बचाव के लिए सावधानी बरतें, लापरवाही खतरनाक हो सकती है - कलेक्टर श्री लवानिया || स्व-सहायता समूह की महिलाएँ संचालित कर रहीं नर्सरी || छोटे व्यवसायियों को आत्मनिर्भर बनाने में मध्यप्रदेश अव्वल || जिले में रोको-टोको कार्यक्रम हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त
अन्य ख़बरें
कोरोना संकट के कारण अद्वैतवाद का पुनर्जागरण हो रहा है : राज्यपाल
पंडित एसएन शुक्ल विश्वविद्यालय के तृतीय स्थापना दिवस वेबीनार शुभारंभ
शहडोल | 01-जून-2020
    राज्यपाल श्री लालजी टंडन ने कहा है कि कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न संकट का समय चिंतन और नवाचार का है। सारा देश एकजुट होकर एकात्म भाव से इस संकट का आज समाधान ढूंढ रहा है। एक दूसरे का सहयोग कर रहा है। इस भाव को देख कर लगता है कि देश में अद्वैतवाद का पुनर्जागरण हो रहा है। यह बात राज्यपाल श्री टंडन ने पंडित शंभुनाथ शुक्ल विश्वविद्यालय शहडोल के तृतीय स्थापना दिवस पर आयोजित वेबीनार के शुभारंभ अवसर पर आज कही।
    उन्होंने प्रेरणादायी उद्बोधन में कहा कि कोरोना संकट के दुष्प्रभाव से निपटने के लिए प्रधानमंत्री जी ने अपने उद्बोधन के माध्यम से देशवासियों को सलाह दी। लॉक डाउन के कारण उत्पन्न परिस्थितियों का सामना करने का हौसला बढ़ाया। वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि लॉक डॉउन के दौरान जो प्रतिबंध लगे थे अब वे धीरे-धीरे हट रहे हैं, लेकिन अभी इस वायरस का खतरा टला नहीं है। हमें सावधानियां बरतनी होगी। धीरे-धीरे ही हम इस संकट से निजात पा लेंगे। आवश्यकता हमें आत्मनुशासन बनाए रखने की है। संयम और धैर्य से काम लेना है। उन्होंने कहा कि इस संकटकाल के बाद नई संस्कृति का जन्म होने वाला है। हमारी जिम्मेदारी बनती है कि हम अपनी क्षमता और योग्यता के साथ स्वप्रेरित होकर भारत के विकास को नई दिशा देने के लिये कार्य करें।
    उन्होंने देश की बेटियों, छात्रों और नागरिकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इन लोगों ने जिस तेजी के साथ कोरोना का सामना करने के लिए मास्क और अन्य आवश्यक उत्पादों का निर्माण किया। उसने आत्मनिर्भरता की दिशा में हमारा विश्वास और अधिक बढाया है। उन्होंने कहा कि हमारा इतिहास गवाह है कि विषम परिस्थितियों में भी हम अपने आत्मसम्मान और संस्कृति की रक्षा करते रहे हैं। देशवासियों ने आत्मानुशासन, विशेषज्ञों की राय और प्रधानमंत्री की सलाह का पालन करके विश्व के सामने एक उदाहरण प्रस्तुत किया है, क्योंकि इतनी बड़ी आबादी के बीच संक्रमण को रोकने का एकमात्र तरीका घर में रहकर अपना बचाव करना था। जिसका पालन लोगों ने एकजुट होकर किया।
    स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित वेबीनार में रीवा, चित्रकूट और शिमला विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति श्री ए.डी.एन वाजपेयी ने स्वदेशी आत्मनिर्भरता और राष्ट्रवाद विषय पर अपनी अवधारणा प्रस्तुत करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण उत्पन्न संकट के समय में हमें प्रधानमंत्री जी के देशवासियों से आत्मनिर्भरता की अपील पर अपनी योजनाओं का क्रियान्वयन करना होगा। इसके लिए राष्ट्र की देशज व्यवस्थाओं, संस्कृति, परंपरा और भाषा पर कार्य करते हुए स्वदेशी आचरण अपनाना होगा। इसके साथ ही हमें क्षेत्रगत विशेषताओं को ध्यान में रखकर अपने उत्पादन का निर्माण करना होगा। अपने उत्पाद को देश के साथ-साथ अन्य देशों तक पहुंचाना होगा जिससे देश आर्थिक आत्मनिर्भरता और सम्पन्नता की ओर बढ़े।
     पंडित एस.एन शुक्ल विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मुकेश तिवारी ने स्वागत वक्तव्य दिया। उन्होंने बताया कि पांच दिवसीय इस आयोजन में कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए मेडिटेशन, हाइजीन एवं पब्लिक हेल्थ, शासकीय योजनाएं एवं मीडिया से चर्चा के साथ-साथ कोरोना वारियर्स का सम्मान किया जाएगा।
    आयोजन की संयोजिका डॉ मनीषा तिवारी ने बताया कि इस पांच दिवसीय आयोजन से विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थी जुड़ेंगे तथा इससे लाभान्वित होंगे। कार्यक्रम में आभार विश्वविद्यालय के प्राध्यापक डॉ करुणेश झा ने व्यक्त किया तथा स्वागत वक्तव्य विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर मुकेश तिवारी ने दिया।
 
(42 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer