समाचार
|| किसानों को मौसम के अनुसार कृषि कार्य करने की सलाह || जिले की तहसील तामिया के ग्राम ढुलनिया का निर्धारित क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया घोषित || जिले में अभी तक 280.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज || जिले की तहसील परासिया के ग्राम अंबाड़ा का निर्धारित क्षेत्र कंटेनमेंट एरिया घोषित || पूर्व में घोषित ग्राम घोड़ाबोरगांव, जाखीवाड़ा, नंदेवानी, सावंगी और छिन्देवानी के निर्धारित क्षेत्र का कंटेनमेंट क्षेत्र समाप्त || "पंच-परमेश्वर" से गाँव के विकास को मिली नई दिशा || आदिवासियों के बीच हितैषी के रूप में जाने जाते हैं शिवराज सिंह चौहान || सरकार के प्रयास से सबको बिजली || सबकी चिन्ता-सबका सहयोग || 16 जुलाई से हर घर बनेगा विद्यालय
अन्य ख़बरें
कलेक्टर ने पांच क्षेत्रों को किया कंटेनमेंट एरिया घोषित
-
भिण्ड | 05-जून-2020
 
    कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री वीरेन्द्र सिंह रावत द्वारा वार्ड क्र.11 सीतानगर बी ब्लॉक भिण्ड, रेमजा का पुरा ग्राम कुम्हरौआ जिला भिण्ड, परा का पुरा ग्राम परा तहसील अटेर जिला भिण्ड, वार्ड क्र.13 द्वारिका पुरी मौ जिला भिण्ड एवं परशराम का पुरा ग्राम नुन्हाटा तहसील भिण्ड को कंटेनमेंट एरिया घोषित किया गया है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी की रोकथाम हेतु कंटेनमेंट प्लान जारी किया गया है। म.प्र. शासन लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी अधिसूचना एवं म.प्र. पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949 के सेक्शन 71(2) में प्रावधानित समस्त अधिकार जिला कलेक्टर को प्रदत्त किये जा चुके है।
     कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री वीरेन्द्र सिंह रावत द्वारा म.प्र. पब्लिक हेल्थ एक्ट 1949 की धारा 71(1) एव 71(2) मे निहित शक्तियों का उपयोग कर वार्ड क्र.11 सीतानगर बी ब्लॉक भिण्ड जिसकी चतुर सीमा पूरब में खण्डर जगह, पश्चिम, उत्तर एवं दक्षिण में आबादी सीतानगर, रेमजा का पुरा ग्राम कुम्हरौआ जिला भिण्ड जिसकी चतुर सीमा पूरब, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण में रिक्त भूमि एवं परा का पुरा ग्राम परा तहसील अटेर जिला भिण्ड जिसकी चतुर सीमा पूरब में आबादी, पश्चिम में खुली भूमि, उत्तर में खुली भूमि व आबादी एवं दक्षिण में आबादी, वार्ड क्र.13 द्वारिका पुरी मौ जिला भिण्ड जिसकी चतुर सीमा पूरब, पश्चिम, उत्तर एवं दक्षिण में आबादी तथा परशराम का पुरा ग्राम नुन्हाटा तहसील भिण्ड जिसकी चतुर सीमा पूरब में कृषि भूमि, पश्चिम में आम रास्ता, उत्तर एवं दक्षिण में आबादी को सील कर कंटेनमेंट ऐरिया घोषित की गई है।  
    कंटेनमेंट ऐरिया के अंतर्गत पूर्ण रूप से आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। कंटेनमेंट एरिया के समस्त निवासियों का होम कोरेंटाईन में रहना होगा। कन्टेंमेंट ऐरिया से एक किमी. की परिधि को पेरीमीटर कन्ट्रोल किया जाना होगा जिसके अंतर्गत आवश्यक सुविधाओं के अतिरिक्त किसी भी प्रकार से लोगो का बाहर जाना प्रतिबंधित रहेगा। कन्टेनमेंट ऐरिया हेतु सी.एम.एच.ओ. द्वारा विशेष आर.आर.टी. जिसके अंतर्गत एक फिजिशियन, एक एपीडिमियोलाजिस्ट, पेथालॉजिस्ट, माईकोबायोलाजिस्ट, डाक्यूमेंटेशन स्टॉफ रखा जाना होगा व मेडिकल मोबाइल यूनिट जिसके अंतर्गत एक मेडिकल ऑफिसर, एक पेरामेडिकल स्टॉफ, लेब टेक्निशियन व डाम्यूमेंटेशन स्टॉफ का गठन किया जायेगा। उक्त क्षेत्र के एक्जिट पॉइंट पर स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा सतत् स्कीनिंग की जायेगी।
    फ्रटलाईन स्वास्थ्य कार्यकर्ता-एलएचवी, एएनएम, आशा, आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सुपरवाईजर (एमपीडब्ल्यु.-टीबी एचव्ही) टीम वाईस एपीसेन्टर से जानकारी लेकर आई.डी.एस.पी. नोडल आफिसर को अनिवार्यतः उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। समस्त टीम कोविड-19 सस्पेक्टेड केस की मानिटरिंग प्रति दिन करेंगे एवं कोविड-19 संक्रमण की संभावित लक्षण जैसे बुखार, खांसी, गले में दर्द, एवं श्वास लेने में तकलीफ आदि लक्षण आने पर आर आर टीम को सूचना देना सुनिश्चित करेंगे। समस्त कोविड-19 संक्रमण के पॉजिटिव केस के परिजन, निकट संपर्क को होम कोरेन्टाईन कराया जाना अति आवश्यक है जिससे संकमण को समुदाय में फैलने से रोका जा सकें। जिनको होम कोरेन्टाईन किया गया है उनका प्रतिदिन फॉलोअप लेना होगा (विजिट या दूरभाष के माध्यम से) जब तक की सस्पेक्टेड केस का रिजल्ट नेगेटिव ना आ जाये और यदि रिजल्ट पॉजिटिव आता है तो, संबंधित के ट्ररू कॉन्टेक्ट को-14 दिन तक होम कोरेन्टाईन में रखना होगा एवं फोलोअप 28 दिन तक प्रतिदिन रखना होगा।
    आगे संक्रमण फैलने से रोकने हेतु त्वरित कार्यवाही अंतर्गत संदिग्ध संक्रमित की कॉटेक्ट ट्रेकिंग करते हुये समस्त संबंधितों (सेल्फ डिक्लेरेशन फार्म में उल्लेखित) से अनिवार्यतः संपर्क किया जाकर उन्हें भी होम कोरेंटाईन करवाने की कार्यवाही व उनकी भी प्रतिदिन संपर्क करते हुये संपर्क एवं ट्रेकिंग की रिपोर्ट किया जाना सुनिश्चित करें। नगर पालिका के जोनल अधिकारी द्वारा क्षेत्र का सेनेटाईजेशन किया जाना सुनिश्चित होगा। सस्पेक्टेड केस को मेडिकल ऑफिसर आर आर टी द्वारा परिक्षण किये जाने तक एक अलग चिन्हित कमरे में आईसोलेशन में रखा जाना सुनिश्चित करना है एवं समस्त परिवार को फेस मास्क उपलब्ध कराते हुये हेण्ड हाईजीन और पर्सनल हाईजीन के प्रोटोकोल पालन करवाना सुनिश्चित करें। समस्त कार्यकर्ता पीपीई प्रोटोकॉल का पालन करना सुनिश्चित करेंगे।
(27 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer