समाचार
|| आज दो मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आई || आज की नॉवल कोरोना वायरस हेल्थ बुलेटिन || पथरिया में जिला कार्यक्रम अधिकारी बैठक में शामिल होकर दिये आवश्यक दिशा निर्देश || कैबिनेट मंत्री श्री सखलेचा 11 जुलाई को होगा मन्दसौर आगमन || जिले में विश्व जनसंख्या दिवस पर विभिन्न स्वास्थ्य संस्थाओं में हुवे जागरूकता कार्यक्रम || प्रत्येक रविवार रहेगा टोटल लाकडाउन || कलेक्टर के निर्देश से ऑक्सीजन एवं आईसीयू वार्ड के लिए सड़क निर्माण कार्य प्रारंभ || 32 हजार 98 में से 29 हजार 143 यात्रियों का कोरेन्‍टाईन पूर्ण || देवास जिले के नवागत मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर एमपी शर्मा ने ली समीक्षा बैठक || विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर परिवार विकास मेला का शुभारंभ
अन्य ख़बरें
ई-संजीवनी सेवा का लाभ पाकर खुश हो रहे हैं जिलेवासी (कहानी सच्ची है)
ई-संजीवनी ओपीडी से देवास जिले में 41 मरीजों ने प्रारंभिक स्थिति में उपचार का लाभ लिया
देवास | 28-जून-2020
    कोविड 19 के कारण चल रहे लॉकडाउन से बहुत से लोग सामान्य स्वास्थ्य सेवाओं से वंचित रह रहे है तथा कुछ अस्पतालों में कोविड-19 अस्पताल घोषित होने के कारण वहां की अन्य सेवाएं प्रभावित हुई हैं। इन स्वास्थ्य सेवाओं की कमी को पूरा करने के लिए शासन द्वारा टेली मेडिसिन सेवाओं को लागू किया गया जिससे ताकि लोगों को घर पर ही आवश्यक चिकित्सा/स्वास्थ्य सेवाओं का समय पर लाभ मिल सके।
              मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आर.के. सक्सेना एवं सिविल सर्जन डॉ. अतुल बिडवई ने बताया कि वर्तमान में ई-संजीवनी ओपीडी सेवाएं संपूर्ण देश में लागू की जा चुकी है। कलेक्टर श्री चंद्रमौली शुक्ला के निर्देशन में जिला चिकित्सालय देवास में भी ई-संजीवनी ओपीडी संचालन किया जा रहा है। जिला चिकित्सालय देवास मे पदस्थ डॉ.एच.एस.राणा हड्डी रोग विशेषज्ञ, टेलीमेडिसिन, ई-संजीवनी नोडल अधिकारी नियुक्त किये गये है। डॉ.एच.एस राणा सहित, डॉ.शशांक तिवारी, डॉ.सपना राजा द्वारा निरंतर सेवाये दी जा रही है। घर बैठे इलाज कि सुविधा इस योजना के अंतर्गत निःशुल्क शासन द्वारा प्रदाय कि जा रही है।
                 डॉ. एचएस राणा नोडल अधिकारी ई-संजीवनी ने बताया कि राज्य शासन द्वारा दिनांकवार ई-संजीवनी ओ.पी.डी. के लिए जिलेवार रोस्टर प्रदान किया गया है जिसमें प्रारंभिक तौर पर ओ.पी.डी. अटेंड करने हेतु 05-05 जिलों को रखा गया है। देवास जिले के चिकित्सा विशेषज्ञ द्वारा रोस्टर अनुसार प्रातः 9 से दोपहर 01 बजे तक सेवायें दी जा रही है प्रारंभ से दिनांक 26/06/20  तक डॉ एच.एस.राणा  द्वारा -06, डॉ सपना राजा द्वारा-09 तथा डॉ शशांक तिवारी द्वारा -26 मरीजों को उपचार का लाभ दिया। इस प्रकार देवास जिले के चिकित्सकों से कुल 41 मरीजों ने ऑनलाइन ई-संजीवनी के माध्यम से उपचार का लाभ लिया।अब तक सम्पूर्ण प्रदेश में 369 मरीजों ने तथा  सम्पूर्ण भारत मे 14 हजार 592  मरीजों ने ऑनलाइन ई-संजीवनी के माध्यम से उपचार का लाभ लिया। ई-संजीवनी ओ.पी.डी. के माध्यम से सेवायें निरंतर दी जा रही है, जो प्रतिदिन उपलब्ध रहेगी इसमें मरीज घर बैठे स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ ले सकेंगे।
                   डॉ. एचएस राणा नोडल अधिकारी ई-संजीवनी के बारे में विस्तार से बताया कि यह स्वास्थ्य सेवाएं ऑनलाईन सेवाएं होंगी और इसके लिये मरीज को टेबलेट, लेपटॉप/एन्ड्राइट मोबाईल या डेस्कटॉप जिसमें वेब कैमरा, स्पीकर, माईक एवं इंटरनेट की आवश्यकता होगी, ताकि वह चिकित्सक से सीधा ऑडियो-विजुअल संवाद स्थापित कर सके। ई-संजीवनी का ओपीडी समय प्रात: 9 बजे से दोपहर एक बजे तक रखा गया है। उक्त उपकरणों की सहायता से मरीज को सर्वप्रथम  www.esanjeevaniopd.in पर ‘पेशेंट रजिस्टर’ पर अपने मोबाईल नंबर की सहायता से पंजीकृत कर ओटीपी प्राप्त करना होगा। ओटीपी इण्टर करने के पश्चात ‘पेशेंट रजिस्टेशन एवं टोकन जनरेशन’ में नाम, पता, आयु संबंधी जानकारी दर्ज करना होगी। यदि कोई रिपोर्ट एक्स-रे आदि डाक्टर को बताना चाहते हैं तो उसे भी अपलोड करना होगा। यहॉ ‘ओके’ करने के बाद आपको पंजीकृत मोबाईल नंबर पर टोकन प्राप्त होगा, जो कि मरीज की वेटिंग लिस्ट को दर्शाता है। एस एम एस के आधार पर प्राप्त टोकन नंबर के माध्यम से ‘लाग-इन’ कर कतार में अपनी बारी का इंतजार करेगें।
       सिविल सर्जन डॉ.अतुल बिडवई ने बताया कि ई-संजीवनी ओपीडी सेवा अंतर्गत संबंधित व्यक्ति को पोर्टल www.esanjeevaniopd.in पर जानकारी दर्ज करानी होगी तथा जानकारी दर्ज होने के उपरांत वीडियो कॉल से संबंधित डॉक्टर उनसे चर्चानुसार परामर्श कर उपचार हेतु उन्हें आवश्यक दवाएं एवं जाँच की सलाह देंगे तथा डिजिटल हस्ताक्षर युक्तपर्ची संबंधित व्यक्तित को प्राप्त होगी जिसका प्रिंट आउट लेकर दवा आदि की खरीदी की जा सकती है।  कार्यक्रम की निगरानी सी.एम.एच.ओ. डॉ. आर.के.सक्सेना डॉ. अतुलकुमार बिडवई और आर.एम.ओ. डॉ.एम.एस.गोसर द्वारा की जाकर शासन से प्राप्त दिशा-निर्देश के अनुसार ई-संजीवनी का संचालन जिला चिकित्सालय मे किया जा रहा है। जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग ने आम नागरिकों से अपील की है कि अधिक से अधिक इस योजना का लाभ लेवें।।             
(14 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer