समाचार
|| किर्गिस्तान से आई बालिका की जानकारी छुपाने पर पिता के विरूद्ध एफआईआर दर्ज || कलेक्टर ने आठ कंटेनमेंट एरिया किए घोषित || प्रदेश के लिये 5.75 लाख मीट्रिक टन अतिरिक्त यूरिया की मांग || जिले में दो और मरीज कोरोना पाजेटिव पाये गये || इण्डियन मेडीकल एसोसियेशन के आव्हान पर चिकित्सा || किल कोरोना अभियान में 56.81 लाख घरों का सर्वे पूर्ण || राज्य मंत्री श्री कावरे का दौरा कार्यक्रम निरस्त || आठ कंटेनमेंट क्षेत्र में कार्यपालिक मजिस्ट्रेट/इंसिडेट कमाण्डर /कटेंनमेंट प्रभारी नियुक्त || मध्यप्रदेश के बासमती चावल को जी.आई. टैग दिलाने का अनुरोध || सार्थक लाइट (मोबाइल एप) से मिलेगी स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी
अन्य ख़बरें
रोजगार सेतु से कम हो रही हैं प्रवासी श्रमिकों और नियोक्ताओं के बीच की दूरी "दास्तां खुशियों की"
रोजगार सेतु पोर्टल के नवाचार से नियोक्ताओं और प्रवासी श्रमिकों में आया उत्साह
छिन्दवाड़ा | 28-जून-2020
      कोविड-19 कोरोना वायरसजनित वैश्विक महामारी के संक्रमण को रोकने के लिये पूरे देश में किये गये लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर उन प्रवासी श्रमिकों पर पड़ा है जो अपने राज्य के बाहर अन्य राज्यों में काम कर जीवनयापन कर रहे थे। राज्य शासन ने उनकी तकलीफ को समझकर मध्यप्रदेश में अपने-अपने जिलों में वापिस लौटे श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध कराने और उन्हें आर्थिक संबल प्रदान करने के उद्देश्य से रोजगार सेतु पोर्टल प्रारंभ किया है। इस पोर्टल में प्रदेश में वापस लौटे श्रमिकों का सर्वे उपरांत पंजीयन कर सभी प्रवासी श्रमिकों की जानकारी उनके कौशल और निवास के जिले के अनुसार उपलब्ध कराई गई है। छिन्दवाड़ा जिले में कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन के मार्गनिर्देशन में जिले की 11 जनपद पंचायतों और 17 नगरीय निकायों में 13 हजार 127 प्रवासी श्रमिकों का पंजीयन किया गया। इसमें असंगठित क्षेत्र के 6 हजार 709, भवन एवं अन्य निर्माण कार्य क्षेत्र के 3 हजार 948 और कारखाना/उद्योग क्षेत्र 2 हजार 470 प्रवासी श्रमिक शामिल है। इस पोर्टल में एक हजार 499 नियोक्ताओं ने भी अपना पंजीयन कराया है
    जिसमें सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम, वृहद उद्योग, ठेकेदार, बिल्डर्स, प्लेसमेंट एजेंसीज, अन्य व्यवसायिक प्रतिष्ठान, लेबर कांट्रेक्टर, अन्य नियोजक और ग्राम पंचायतें शामिल हैं । जिले में पंजीकृत 13 हजार 127 में से 12 हजार 568 प्रवासी श्रमिकों की स्किल मेपिंग की जा चुकी है और ग्राम पंचायतों द्वारा जॉबकार्डधारी 7 हजार 402 में से 5 हजार 702 प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा योजना में नियोजित किया जा चुका है । सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के नियोजकों द्वारा 69 और अन्य नियोजकों द्वारा 22 प्रवासी श्रमिकों को रोजगार दिया जा चुका है तथा 999 प्रवासी श्रमिकों को रोजगार/नौकरी उपलब्ध कराये जाने की प्रक्रिया जारी है।    
    रोजगार सेतू पोर्टल में नियोक्ताओं का भी पंजीयन करने से नियोक्ताओं और श्रमिकों के बीच की दूरी कम हो गई है। रोजगार सेतु से जहां एक ओर प्रवासी श्रमिकों को अपने ही जिले में उनके कौशल के अनुसार रोजगार मिलने लगा है, वहीं दूसरी ओर नियोक्ता भी अपने कार्य के लिये आवश्यक कुशलता और अपनी रूचि के अनुरूप स्थानीय स्तर पर श्रमिकों को प्राप्त कर रहे हैं। जिले के पंजीकृत नियोक्ताओं और प्रवासी श्रमिकों द्वारा राज्य शासन के रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से किये जा रहे नवाचार की सराहना की जा रही है।  
      सहायक श्रम पदाधिकारी श्री संदीप मिश्रा ने बताया कि राज्य शासन के निर्देशानुसार दूसरे राज्यों से एक मार्च 2020 के बाद प्रदेश में आये श्रमिकों का सर्वे के बाद पंजीयन किया गया । इसमें जिले में 27 मई से 6 जून के मध्य 13 हजार 127 प्रवासी श्रमिकों का पंजीयन किया गया जिसमें 4 हजार 478 परिवारों के 11 हजार 675 पुरूष प्रवासी श्रमिक और एक हजार 452 महिला प्रवासी श्रमिक शामिल है । रोजगार सेतु में पंजीयन का कार्य निरंतर जारी है । जिले के खजरी इंडस्ट्रीयल एरिया के नियोक्ता श्री सौरभ राय ने बताया कि उनकी राय बेकरी के नाम से एक फर्म है जिसके संचालन में कुशल, अकुशल सभी तरह के श्रमिकों की आवश्यकता होती है । कुशल श्रमिकों की आवश्यकता होने पर रोजगार सेतु पोर्टल पर पंजीयन कराने पर उन्हें जिले के कुशल श्रमिकों की जानकारी आसानी से उपलब्ध हो गई है । उन्होंने शासन की इस पहल की सराहना करते हुये कहा कि अब वे अपनी रूचि और आवश्यकता के अनुसार श्रमिकों का चयन कर सकते हैं । इसी प्रकार अमन इंटरप्राईजेस फर्म के श्री नितिन शुक्ला ने बताया कि उनकी फर्म में फर्नीचर बनाने का काम किया जाता है जिसमें बहुत सारे श्रमिकों की आवश्यकता पड़ती है । इस रोजगार सेतु पोर्टल में पंजीयन कराने पर यह पोर्टल श्रमिकों के नियोजन में मददगार साबित हो रहा है तथा शासन की यह बहुत अच्छी पहल है। जिले में आये प्रवासी श्रमिकों में भी अपनी कुशलता के अनुसार रोजगार मिल जाने से उनमें काफी उत्साह है और उनकी आर्थिक समस्या का निराकरण होने से अब वे निश्चिंत होकर अपने कार्य में जुट गये हैं ।
 
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2020अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer