समाचार
|| सहयोग में सुरक्षा अभियान की शुरूआत || जिले में मनाया स्वतंत्रता दिवस || रात्रि 9 बजे से सोमवार की प्रात: 5 बजे तक अनलॉक-3 के तहत दी गई छूट में रहेगा विराम || स्वतंत्रता दिवस पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले हुये सम्मानित || 569 व्यक्तियों से वसूला गया 57 हजार रूपये का जुर्माना - रोको-टोको अभियान || संक्रमण मुक्त होने पर 75 व्यक्ति डिस्चार्ज || नशा मुक्त भारत अभियान 15 अगस्त से 31 मार्च तक चलेगा || जिले में अब तक 574 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज || 02 मरीजो ने किया कोरोना को परास्त || कंटेंनमेंट क्षेत्र हेतु जारी आदेश का नागरिकगण करें पालन
अन्य ख़बरें
केंद्रीय जेल हथकरघा के आउटलेट का शुभारंभ
-
सागर | 05-जुलाई-2020
 
    संत शिरोमणि जैनाचार्य विद्यासागर  महाराज के  आशीर्वाद से केंद्रीय जेल सागर में  बंदी भाइयो के जीवन की दिशा एवं दशा परिवर्तन हेतु हथकरघा में निर्मित शुद्ध वस्त्रों के रिटेल आउटलेट का शुभारंभ रविवार,गुरुपूर्णिमा को  मुनि श्री 108 कुंथुसागर जी ,पूज्य एलक श्री सिद्धान्त सागर  महाराज के  सानिध्य एवं सागर कमिश्नर  जे.के. जैन  के मुख्य आतिथ्य में सम्पन हुआ।
    सर्वप्रथम मुनिसंघ एवं कमिश्नर सागर को ब्रह्मचारिणी रेखा दीदी एवं डॉ नीलम दीदी ने जिला जेल में स्थित हथकरघा का निरीक्षण करवाया।कमिश्नर एवं जेल अधीक्षक ने मुनीश्री के चरणों मे श्रीफल भेंट किया।मुख्य अतिथि कमिश्नर  जे के जैन का सम्मान आर के जैन,संजीव दिवाकर, अरुण जैन के द्वारा किया गया।
    एलक श्री सिद्धान्त सागर ने में बंदी भाइयों से कहा कि अपनी उर्जा को सकारात्मकता की ओर ले जावेगे तो उनका जीवन बदल सकता है।नफरत अपराध से करो अपराधी से नही।जब हम रास्ता भटक जाते है तभी हमें सजा मिलती है।भूल का प्रायश्चित यही है कि अपने अंदर सकारात्मकता पैदा करे। मुनिश्री कुंथुसागर महाराज ने कहा आज गुरुपूर्णिमा पर्व है।गुरु तो हमेशा ही पूर्ण मां हैं।एक माँ जन्म देती हैं और एक माँ जीवन प्रदान करती है।जेल के अंदर वो आते है जिनके अपराध उजागर हो जाते है।विधायक, मंत्री वगैरह तो जेल में वस्त्र,फल आदि का वितरण करने आते है परंतु आचार्य विद्यासागर जेल में आये तो धर्म का वितरण करके गए।गुरु से सब अपना जीवन धन्य कर लेते है।आप जेल में रहकर हथकरघा के माध्यम से अपना एवं अपने परिवार का अच्छा कर रहे है।स्वतंत्र रहना सभी चाहते है परंतु छोटी सी गलती का परिणाम आपको परतंत्र बना देता है।पूर्व भव में हमने ऐसा कुछ कर्म किया होगा जिसका परिणाम हमे यहां मिल रहा है।एक पंछी को भी यदि पिंजरे में कैद करके रखा गया हो तो उसका फल हमे भी कारागार में रहना पड़ता है।मुनिश्री ने कहा आचार्य श्री ने रेखा दीदी को हथकरघा का बहुत बड़ा दायित्व सौपा है ,जो जेल के अंदर बैठे हुए है उन्हें आपको सुधारना है।बंदीजनो को संदेश देते हुए मुनिश्री ने कहा किसी को भी दोष नही देना,जब जेल से बाहर निकालो सच्चे इंसान बनकर बाहर निकलना।गुरु महाराज का जेल में आना आपका पूण्य है।
    मुख्य अतिथि कमिश्नर  श्री  जैन ने कहा यह हमारे स्वयं के निरीक्षण के पल है, यह जेल निरीक्षण के पल नही है।यहां जो कैदीयो द्वारा जो श्रम किया जा रहा है वह अब वृक्ष के रूप में पल्लवित हो गया है, मै यह देखकर आनंदित हो रहा हूं।बंदियों के मन मे काम करते समय कोई बैर, भाव नही आता।यह गुरुदेव के आशीर्वाद से स्थापित हथकरघा में श्रम के रूप में आप लोग पूजा कर रहे है।आप सभी के चेहरे की चमक बता रही है कि आप लोगो ने प्रायश्चित के द्वारा पूण्य कार्य करके सृजनात्मक कार्य कर रहे है।आप लोग जितना अधिक मन लगाकर कार्य करेंगे उतना अधिक सुफल प्राप्त होगा।मुनीसेवा समिति सदस्य मनोज जैन लालो ने बतायाकी हथकरघा के विक्रय केंद्र का शुभारंभ का आयोजन सक्रिय सम्यकदर्शन सहकार संघ द्वारा किया गया जिसमें हथकरघा में निर्मित पूर्ण शुद्ध वस्त्रो में साड़िया, पुरुष परिधान,सलवार सूट पीस,कोरोना स्पेशल मास्क आदि आइटम जनसामान्य के लिए उपलब्ध रहेंगे।
    सागर जिला जेल हथकरघा का संचालन रेखा दीदी पूर्व डी एस पी ,डॉ नीलम दीदी ,डॉ अमित जैन के द्वारा किया जा रहा है।कार्यक्रम में पूर्ण सोशल डिस्टेंसिङ्ग का पालन करते हुए शहर से बहुत कम मात्रा में लोगो को आमंत्रित किया गया था।विशेष रूप से ब्रह्मचारी संजीव भैया,शैलू भैया,धीरज भैया,विवेक भैया भी उपस्थित थे।
    कार्यक्रम के अंत मे जेल अधीक्षक संतोष सोलंकी ने  मुख्य अतिथि कमिश्नर  का आभार माना।
(41 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2020सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer