समाचार
|| 07 सेम्पल की रिपोर्ट पाजिटिव प्राप्त हुई || उच्च शिक्षा विभाग की वीसी 17 अगस्त को || ड्यूटी लगाने के निर्देश || ड्यूटी लगाने के निर्देश || जिले में हुई 4.5 औसत वर्षा || कंटेनमेंट एरिया घोषित || पिछले 24 घंटे में 545 की नेगेटिव व 29 की आई पॉजिटिव रिपोर्ट || सदियों याद रहेगा 74वां राष्ट्रीय पर्व || राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह ने किया ध्वजारोहण || राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री सिंह ने किया ध्वजारोहण
अन्य ख़बरें
मुरैना जिले में एक दिन में 115 कोरोना पॉजीटिव मिलना चिन्ता का विषय - राज्यमंत्री श्री डण्डोतिया
स्वास्थ्य अधिकारी गंभीर होकर प्रत्येक वार्ड में संभावित मरीजों की टेस्टिंग जरूर करायें
मुरैना | 08-जुलाई-2020
    प्रदेश के साथ-साथ मुरैना जिले में भी कोरोना संक्रमित तेजी से फेल रहा है, इसमें 7 जुलाई की रिपोर्ट में 115 पॉजीटिव मरीज कोरोना के निकलना हम सब के लिये चिन्ता का विषय है। इसमें प्रशासनिक अधिकारी सख्ती बरतें। स्वास्थ्य अधिकारी प्रत्येक वार्ड के संदिग्ध मरीजों के सैम्पल कराना सुनिश्चित करें। कोरोना के मरीज बढ़ना नहीं चाहिये। इसके लिये मैदानी स्वास्थ्यकर्मी पॉजीटिव मरीज के संपर्क में आने वाले व्यक्तिओं को खोजे और उनका सैम्पल करायें। यह निर्देश राज्यमंत्री श्री गिर्राज डण्डोतिया ने मुरैना सर्किट हाउस पर आयोजित बैठक में दिये। इस अवसर पर कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास, पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग सुजानिया, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरसी बांदिल सहित अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे। 
    राज्यमंत्री श्री डण्डोतिया ने कहा कि मुरैना इन्दौर, उज्जैन के बाद तीसरे नम्बर पर कोरोना के मरीजों में पहुंच चुका है। इसे हर हाल में रोकना होगा, इसके लिये जिस विभाग को जो जिम्मेदारी सौंपी है। वे अधिकारी, कर्मचारी अपने कर्तव्यों का कड़ाई से पालन करें। उन्होंने कहा कि फील्ड में कार्य करने वाले स्वास्थ्य चिकित्सक, एएनएम, आशा कार्यकर्ता भी ऐसे मरीजों के पास पहुंचे जो कोरोना पॉजीटिव होने के बाद अन्य लोंगो को संक्रमित करने में लगे हुये है। राज्यमंत्री श्री डण्डोतिया ने कहा कि जो भी व्यक्ति सैम्पल देकर अपने घर वापस आता है तो उसे अपने घर में ही रूकना है और पूरे परिवार को घर से बाहर नहीं निकलने दें। जब तक रिपोर्ट नहीं आती है, तब तक वह परिवार एतिहात बरते। उन्होंने कहा कि मुरैना के लोग स्वास्थ्य अधिकारी, कर्मचारी इस उद्देश्य को समझ लेंगे तो दूसरे लोंगो को संक्रमित नहीं कर पायेंगे तो कोरोना की चैन टूटने में आसानी होगी।
    बैठक में कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने जिले में लगाई गई स्वास्थ्य टीमों की जानकारी दी तथा जिला चिकित्सालय, कस्तूरबा छात्रावास, ज्ञानोदय छात्रावास एवं पॉलीटेक्निक छात्रावास को मिलाकर कोविड मरीजों के लिये 800 पलंगों की उपलब्धता है। फिर भी लोग एतिहात बरतें। पॉजीटिव व्यक्ति के संपर्क में न आयें। खुद सुरक्षा के उपाये बरतंे और पॉजीटिव व्यक्ति के संपर्क में आयें है तो पूरे परिवार को आईसोलेट कर लें।
    बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री अनुराग सुजानिया ने कहा कि सुरक्षा के बतौर शहर में निकलने वालों पर सख्ती आज से कर दी है। बिना महत्वपूर्ण कार्य के कोई भी व्यक्ति दोपहिया वाहन से न निकलें।
 
(38 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2020सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer