समाचार
|| मंदसौर की संपूर्ण राजस्‍व सीमा क्षेत्र में 15 अगस्‍त 20 को रात्रि 9 बजे से 17 अगस्‍त 2020 को || आज 4 कोरोना पाजीटिव मरीज को स्वस्थ होने के बाद जीएनएमटीसी सेंटर से घर के लिए किया विदा || कलेक्‍टर श्री मनोज पुष्‍प ने मोहल्‍ला क्‍लीनिक का किया औचक निरीक्षण || गंदगी मुक्त भारत अभियान का शुभारम्भ || सहयोग से ही सुरक्षा अभियान होगा 15 अगस्त 2020 से प्रारंभ || स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में चलाया जा रहा है गंदगी मुक्त भारत अभियान || 9 हजार नये पात्र परिवारों को जारी होगी खाद्यान्न पर्ची || प्रधानमंत्री पथ विक्रेता आत्मनिर्भर निधि योजना के क्रियान्वयन संबंधी दिशा-निर्देश || होटल पायल में क्वारेंटाइन सुविधा उपलब्ध || लमतरा एवं जुगियाकाप में घोषित किये गये 2 नये कन्टेनमेन्ट जोन
अन्य ख़बरें
रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से 24862 प्रवासी श्रमिकों को मिला स्थायी रोजगार
-
डिंडोरी | 11-जुलाई-2020
    रोजगार सेतु पोर्टल के माध्यम से 9 जुलाई तक 24 हजार 862 प्रवासी श्रमिकों को स्थायी प्रकार का रोजगार मिल चुका है। इसमें 79.5 प्रतिशत पुरुष और 20.5 प्रतिशत महिला हैं। प्रवासी श्रमिकों को ठेकेदार/लेबर कांट्रेक्टर के यहाँ 94.4 प्रतिशत, बड़े उद्योगों में 0.3, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम में 1.2, बिल्डर्स के यहाँ 0.5, प्लेसमेंट एजेंसी में 2.4, और अन्य संस्थानों में 1.2 प्रतिशत रोजगार प्राप्त हुआ है। प्रतिमाह वेतन 9 से 15 हजार रुपये तक प्राप्त हो रहा है। अपर मुख्य सचिव श्रम श्री राजेश राजोरा ने जानकारी दी है कि 3 लाख 55 हजार 864 प्रवासी श्रमिकों के जॉब-कार्ड बनाये गये हैं। इसके साथ ही एक लाख 89 हजार 959 प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा में रोजगार उपलब्ध कराया गया है।
   प्रवासी श्रमिकों में से संबल योजना में पात्रता रखने वाले 3 लाख 40 हजार 715 प्रवासी श्रमिकों का संबल योजना के पोर्टल पर पंजीयन किया गया है। इसी प्रकार 16 हजार 214 प्रवासी श्रमिकों को पात्रतानुसार मध्यप्रदेश भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल के पोर्टल पर पंजीयन किया गया है। इससे इन्हें संबल/मण्डल की योजनाओं का लाभ प्राप्त हो सकेगा। आत्मनिर्भर भारत एवं राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के अंतर्गत 13 लाख 10 हजार 186 प्रवासी श्रमिकों को प्रतिमाह राशन वितरित किया जा रहा है। रोजगार सेतु पोर्टल पर प्रवासी श्रमिकों के साथ आये 6 से 14 वर्ष की उम्र के 2 लाख 6 हजार 425 बच्चों में से 75 हजार 385 को स्कूल में प्रवेश दिया गया है। शेष बच्चों को ष्स्कूल चलें अभियानश्श् के अंतर्गत स्कूल खुलने पर नि:शुल्क प्रवेश के लिये लक्षित किया गया है।
   गौरतलब है कि सर्वे के अनुसार कोविड-19 महामारी के दौरान एक मार्च से 6 जून, 2020 तक 7 लाख 30 हजार 311 प्रवासी श्रमिक और उनके साथ 5 लाख 79 हजार 875 परिवारजन लौटे थे। इस तरह से कुल संख्या 13 लाख 10 हजार 186 है। रोजगार सेतु पोर्टल में 27 हजार 388 नियोक्ताओं द्वारा पंजीयन करवाया गया है। इनमें से 510 वृहद उद्योगों, 4748 सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों, 6526 लेबर कांट्रेक्टर, 283 बिल्डर्स, 547 प्लेसमेंट एजेंसी और 1667 वाणिज्यिक संस्थानों से संबंधित हैं। पोर्टल पर नियोक्ताओं द्वारा 47 हजार 985 रिक्तियाँ प्रदर्शित की गई हैं। इनमें प्रवासी श्रमिकों की योग्यता एवं अनुभव के आधार पर नियुक्ति के लिये चयन प्रक्रिया जारी है।

 
(34 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2020सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer