समाचार
|| गंभीर बीमारियों से पीडि़त और घर के बुजुर्गों का समय पर उपचार कराएं || अतिरिक्त महानिदेशक जेल श्री राय ने किया केन्द्रीय जेल का निरीक्षण || कोरोना के संक्रमण से मुक्त होने पर 51व्यक्ति डिस्चार्ज || "सहयोग से सुरक्षा अभियान" 15 अगस्त से || रोडमेप में शामिल सभी क्षेत्रों में होंगे कार्य, जो बनेंगे आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के साक्षी || परिवहन मंत्री श्री राजपूत के आश्वासन के बाद ट्रक आपरेटर्स की हड़ताल समाप्त || रोको-टोको अभियान : 759 व्यक्तियों से वसूला गया 83 हजार रूपये का जुर्माना || बैंक खाता नंबर, ए.टी.एम. नंबर, क्रेडिट एवं डेबिट कार्ड नंबर, पासवर्ड और ओ.टी.पी. की जानकारी किसी को न दें || परिवहन मंत्री श्री राजपूत के आश्वासन के बाद ट्रक आपरेटर्स की हडताल समाप्त || आज 9 पॉजिटिव मरीज मिले
अन्य ख़बरें
बाल तथा महिला अधिकार संरक्षण अधिनियम का कड़ाई से पालन किया जाए- जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती किरार
बच्चों तथा महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा पर तुरंत कार्यवाही के कलेक्टर ने दिए निर्देश
रायसेन | 13-जुलाई-2020
   जिला बाल संरक्षण समिति तथा वन स्टॉप सेंटर जिला स्तरीय टाक्स फोर्स समिति की बैठक जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती अनिता किरार की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक मे श्रीमती किरार ने जिले में बच्चो तथा महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा में त्वरीत कार्यवाही कर संबंधितों को शीघ्र राहत पहुंचाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में कही भी कोई बच्चों तथा महिलाओं के साथ अपराध होता है तथा उनके द्वारा सहायता के लिए संपर्क किए जाने पर संबंधित अधिकारियों को तुरंत संज्ञान में लेने के लिए कहा।
   बैठक में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव ने निर्देश दिए हैं कि बाल संरक्षण की दिशा में जिले में सक्रियता से काम किया जाए। बाल संरक्षण से संबंधित अधिनियम और योजनाओं का बेहतर ढंग से प्रचार-प्रसार करें। ताकि पीड़ित बच्चे तथा महिलाओं को शीघ्र राहत मिल सकें। कलेक्टर श्री भार्गव ने वर्तमान में लॉकडाउन के कारण प्रदेश में पलायन कर आए मजदूरो एवं अन्य गरीब परिवारों के बच्चों के आगंनबाड़ी तथा स्कूलों में पंजीयन कराने तथा उनके हित में सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुरूप कार्यवाही करने के निर्देश दिए। बैठक में जिले में आर्थिक स्थिति के कारण बच्चों का त्याग करने की जानकारी मिलने पर कलेक्टर श्री भार्गव ने ऐसे बच्चों की शिक्षा एवं पुर्नवास के संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने बाल-श्रम, बाल विवाह कराए जाने तथा ट्रेफिकिंग को रोकने के लिए टिम बनाकर शीघ्र कार्यवाही करने के भी निर्देश दिए।
   बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अमृत मीणा ने बच्चों तथा महिलाओं के प्रति हिंसा को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन द्वारा की गई व्यवस्था की जानकारी देते हुए संबंधित विभागों के अधिकारियों तथा प्रभावितों को शीघ्र पुलिस को सूचना देने को कहा ताकि संबंधित प्रकरण में तुरंत कार्यवाही की जा सके। बैठक में जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री ज्ञानेश खरे ने जिला बाल संरक्षण समिति तथा वन स्टॉप सेंटर जिला स्तरीय टाक्स फोर्स समिति की बैठक के उद्देश्य के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में जिला बाल संरक्षण के अध्यक्ष श्री संदीप दुबे, समिति के सदस्य एचके सेन, श्रीमती ममता दुबे, श्रीमती सुनिता आर्य सहित अनेक सदस्यों ने बाल श्रम रोकने, निराश्रित बच्चों के पुर्नवास, बच्चों तथा महिलाओं के प्रति हो रही हिंसा को रोकने के लिए कई महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

 
(31 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2020सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer