समाचार
|| रेडियो स्कूल में सुनाई जायेंगी स्वाधीनता संग्राम की कहानियाँ || गणेश उत्सव, जन्माष्टमी, मोहर्रम आदि त्यौहार सार्वजनिक रूप से नहीं मनाए जा सकेंगे || राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण ने देश में सर्वप्रथम 40 घंटे का ऑनलाइन मीडिएशन प्रशिक्षण दिया || रोको-टोको अभियान, मास्क नहीं लगाने वालों से 28 हजार 50 रुपये का जुर्माना वसूल || जिले में 522 मि.मी. औसत वर्षा रिकार्ड || जिले में दो और मरीज कोरोना पाजेटिव आए || संयुक्त संचालक डॉ गौतम ने किया एफएमडी टीकाकरण कार्यक्रम का निरीक्षण || जिला पंचायत की प्रशासकीय समिति की बैठक सम्पन्न || जिले में रविवार को सम्पूर्ण बाजार बंद रह्रेगें || स्वीकृत गौशालाओं का कार्य शीघ्र पूर्ण करें-कलेक्टर
अन्य ख़बरें
धार्मिक त्यौहार/पर्व के संबंध में कलेक्टर ने बुरहानुपर जिले में किया प्रतिबंधात्मक आदेश जारी
-
बुरहानपुर | 16-जुलाई-2020
     बुरहानपुर जिले में निकट भविष्य में सामूहिक रूप से मनाये जाने वाले धार्मिक त्यौहार/पर्व (रक्षाबंधना, जन्माष्टमी, मोहर्रम, नागपंचमी, ईदुज्जुहा, गणेश चतुर्थी, पोला, डोल ग्यारस, अनंत चर्तुदशी, सर्व पितृमोक्ष अमावस्या, नवदुर्गा उत्सव, दशहरा) इत्यादि आ रहे है। इन धार्मिक त्यौहार/पर्व के दौरान सामूहिक धार्मिक अनुष्ठान व अन्य गतिविधियां आयोजित किये जाने की परम्परा रही है। 
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रवीण सिंह ने उक्त अवसर पर कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं संक्रमण की रोकथाम हेतु व्यापक लोकहित, जीवन की सुरक्षा एवं लोक स्वास्थ्य को दृष्टिगत रखते हुए जिले में आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 में निहित शक्तियों का प्रयोग करते हुए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है।
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री प्रवीण सिंह ने जारी आदेश कहा है कि बुरहानपुर जिले में-
1. कोई भी धार्मिक कार्य/त्यौहार का आयोजन सार्वजनिक स्थलों पर नहीं किया जायेगा ना ही कोई धार्मिक जूलुस या रैली निकाली जायेगी साथ ही सार्वजनिक स्थानों पर किसी प्रकार की मूर्ति, झांकी आदि स्थापित नहीं की जायेगी।
2. धार्मिक उपासना स्थलों पर कोविड-19 के संक्रमण से बचाव को दृष्टिगत रखते हुए एक समय में 5 से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं होगे साथ ही धार्मिक/उपासना स्थलों पर मास्क/फेसकवर एवं सोशल डिस्टेंसिंग के मानको का कड़ाई से पालन करना अनिवार्य होगा।
3. विवाह समारोह में मेहमानों की संख्या 20 से अधिक नहीं होंगी। इसमें वर-वधु पक्ष के अधिकतम 10-10 व्यक्ति सम्मिलित हो सकेंगे। इसी प्रकार किसी पारिवारिक कार्यक्रम यथा जन्मदिन, सालगिरह आदि समारोह में 10 से अधिक व्यक्ति सम्मिलित नहीं होंगे। उक्त संबंध में संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से पूर्ववत अनुमति लेनी होंगी।
4. अंतिम संस्कार से संबंधित कार्यक्रम में 10 व्यक्ति ही सम्मिलित होंगे। इस संबंध में शहरी क्षेत्र में संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व से पूर्ववत अनुसार अनुमति लेनी होंगी तथा ग्रामीण क्षेत्र में संबंधित ग्राम पंचायत से अनुमति लेना होगी। 
5. किसी भी धार्मिक पर्व पर किसी भी व्यवसायिक संस्था को कार्यक्रम प्रस्तुति हेतु प्रतिबंधित किया जाता है।
6. पर्व विशेष पर सामुहिक भोज/प्रतिभोज प्रतिबंधित किया जाता है।
कलेक्टर ने निर्देश दिये है कि कोई भी व्यक्ति उक्त आदेशों का उल्लघंन करता है तो उसके विरूद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 की धारा 51 से 60 के प्रावधानों के तहत एवं अन्य कानूनी कार्यवाही की जायेगी।

 
(23 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2020सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer