समाचार
|| सहयोग में सुरक्षा अभियान की शुरूआत || जिले में मनाया स्वतंत्रता दिवस || रात्रि 9 बजे से सोमवार की प्रात: 5 बजे तक अनलॉक-3 के तहत दी गई छूट में रहेगा विराम || स्वतंत्रता दिवस पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले हुये सम्मानित || 569 व्यक्तियों से वसूला गया 57 हजार रूपये का जुर्माना - रोको-टोको अभियान || संक्रमण मुक्त होने पर 75 व्यक्ति डिस्चार्ज || नशा मुक्त भारत अभियान 15 अगस्त से 31 मार्च तक चलेगा || जिले में अब तक 574 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज || 02 मरीजो ने किया कोरोना को परास्त || कंटेंनमेंट क्षेत्र हेतु जारी आदेश का नागरिकगण करें पालन
अन्य ख़बरें
स्वच्छता पखवाड़े के लिए दिशा-निर्देश जारी
-
मण्डला | 16-जुलाई-2020
        जिला पंचायत सीईओ तन्वी हुड्डा ने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) अंतर्गत 15 जुलाई से आयोजित स्वच्छता पखवाड़े के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। उन्होंने बताया कि वर्षा ऋतु के आगमन व मौसम के परिवर्तन होने से ग्रामीण क्षेत्रो में मौसमी बीमारियों का फैलाव होता है। बीमारियों की रोकथाम, उपचार व कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम व जागरूकता हेतु समस्त जनपद पंचायतो की ग्राम पंचायतों में 15 जुलाई 2020 से स्वच्छता पखवाडा का आयोजन किया जा रहा है। जिला पंचायत सीईओ ने स्वच्छता पखवाडे में निम्नानुसार जन-जागरूकता गतिविधियो का आयोजन ग्रामीण स्तर पर करने के लिए निर्देश दिए हैं।
        जिला पंचायत सीईओ तन्वी हुड्डा ने कहा है कि कोरोना वायरस के संकमण की रोकथाम व जन-जागरूकता के लिए मॉस्क का नियमित उपयोग करें व उपयोग के पश्चात मॉस्क को धोये या विनष्ट करें। दो व्यक्तियों के मध्य कम से कम 1 मीटर की सामाजिक दूरी बनाए रखना आवश्यक है। हाथ नही मिलाए बल्कि नमस्ते करें। गाम में बाहर से आने वाले व्यक्ति की जानकारी संबंधित ग्राम पंचायत, आंगनबाडी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को अवश्य दें। आवश्यक होने पर ही घर से निकले। खासते या छींकते समय मुंह को कपडे, रूमाल, मॉस्क या कोहनी हो ढकें। हाथ को नियमित साबुन या सेनेटाइजर से धोये। बुखार, सर्दी, खासी होने पर चिकित्सक से तत्काल परामर्श लें। इसी प्रकार मौसमी बीमारियों की रोकशाम व जनजागरूकता के लिए प्रतिदिन घर के शौचालय का उपयोग करें। शौचालय को साफ व स्वच्छ रखें। शौच के बाद और भोजन के पूर्व साबुन अथवा ताजी राख से हाथ धोंयें। पानी ढक्कर चखें एवं उबाल कर पियें। पीने वाले पानी में फिटकरी मिलाकर उपयोग करें व पानी निकालने के लिए लंबे हेण्डल वाले बर्तन का उपयोग करें। भोजन बनाते व पकाते समय स्वच्छता का ध्यान रखें।
        जारी दिशा-निर्देशों के अंतर्गत डेंगू या मलेरिया आदि बीमारियो से सावधानियों के लिए घर के आस-पास पानी जमा ना होने दें। घर में रखे पुराने टायर, घडे, टंकी, नारियल आदि में एकत्रित पानी में डेंगू व मलेरिया के मच्छर पैदा होने लगते हैं। इन रथानो पर मिटटी का तेल, फिलाइन आदि का छिड़काव करें। मच्छर से बचाव के लिये मच्छरदानी का नियमित उपयोग करें। कूलर आदि के पानी का नियमित बदलाव करें। खुले में भोजन को न रखें एवं ना ही बाहर या खुले में रखें खादय पदार्थों का सेवन करें। पानी की टंकियों को ढक्कर बंद रखे। आसपास खुले गड्ढे आदि न रहने दें। पूरे शरीर को ढकने वाले वस्त्रो का उपयोग करें। डेंगू के सामान्य लक्षणों में ठंड लगने के साथ-साथ अचानक बुखार का होना व बुखार बढ़ना। मांसपेशियो तथा जोडो में दर्द का होना। आखों में दर्द व जलन होना। अत्यधिक कमजोरी लगना। शरीर पर लाल चखते के निशान पड़ना आदि है। इसी प्रकार मलेरिया के लक्षणों में अचानक तेज ठड लगन्ना ओर तेज बुखार के साथ दांत बजना। शरीर में जलन, सिर व बदन दर्द एवं बुखार चढ़कर पसीना आना। चक्कर आना आदि है। पीलिया या डायरिया के लक्षण में चक्कर आना। उल्टी होना एवं जी मचलाना, बुखार का होना। शरीर में हल्का पीलापन होना। बार-बार पतले व बदबूदार दस्त होना। पैर व सिर में दर्द होना। डेंगू, मलेरिया, पीलिया या डायरिया होने पर उपचार के लिए तुरन्त चिकित्सक से उपचार लें,  पानी उबाल कर पियें, ताजे भोजन का सेवन करें, हाथों को साफ रखें तथा ओआरएस के घोल का निरन्तर सेवन करें।
 
(30 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2020सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer