समाचार
|| मुख्यमंत्री श्री चौहान 24 सितम्बर को 10 हजार ग्रामीण स्ट्रीट वेण्डर्स को ऋण वितरित करेंगे || राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के प्रयासों से एक वर्ष पूर्व गुम हुआ मानसिक रोगी सकुशल पहुंचा अपने घर "खबर खुशियों की" || चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने वीडियो कॉल के माध्यम से कोरोना मरीजों का जाना हाल || 481 व्यक्तियों से वसूला गया 49 हजार 300 रुपये का जुर्माना. || चिकित्सा‍शिक्षा मंत्री श्री सारंग ने की मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमितो के उपचार व्यवस्थाओं की समीक्षा || महाविद्यालयीन वेबसाईट तैयार और अपडेट करने के दिए निर्देश || निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के उपचार एवं जनप्रतिनिधियों से समन्वमय हेतु 25 कर्मी तैनात || नोडल अधिकारियों को सौंपे गए दायित्वों की समीक्षा बैठक आज || मेडिकल कॉलेज के ब्लड बैंक में अब तक 36 यूनिट प्लाज्मा संग्रहित || आई.टी.आई. में पुनः रजिस्ट्रेशन के लिए 30 सितम्बर तक तिथि बढ़ी
अन्य ख़बरें
पौधों की खरीदी केवल शासकीय नर्सरियों से हो विकसित होगी माडल नर्सरी
उद्यानिकी राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने दिए निर्देश
सागर | 20-जुलाई-2020
 
      उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण  स्वतंत्र प्रभार एवं नर्मदा घाटी राज्य मंत्री श्री भारत सिंह कुशवाह ने निर्देश दिए कि  विभिन्न शासकीय योजनाओं और कार्यक्रमों में किसानों को उपलब्ध करवाए जाने वाले पोधों की खरीदी केवल शासकीय नर्सरियों से की जाए। किसी भी स्थिति में निजी नर्सरी से पौधे क्रय न हो।  राज्य मंत्री श्री कुशवाह आज  मंत्रालय में उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के कार्यक्रमों और योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा बैठक में प्रमुख सचिव श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी  उपस्थित थे।
     राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने कहा कि शासकीय नर्सरियों को उन्नत ढंग से विकसित किया जायगा। नर्सरियों में स्थानीय किसानों की मांग और आवश्यकता को ध्यान में रखा जाय। जहां जिस फल, फूल,  सब्जी आदि उद्यानिकी फसलों की पोध की  जरूरत है वहां किसानों कि मांग अनुसार पोध रोपण किया जाय। उन्होंने यह भी कहा कि नर्सरियों में वही पौध विकसित की जाय जिसकी किसानों द्वारा मांग की जाती है। उन्होंने कहा कि क्रियाशील नर्सरियों को उन्नत और विकसित करने के साथ ही प्रदेश में बंद हो चुकी नर्सरियों को पुनर्जीवित किया जायगा।
    राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने कहा कि उद्यानिकी  लोगों को व्यापक पैमाने पर रोजगार उपलब्ध कराता है।  छोटे-छोटे किसानों और इससे जुड़े बड़े समुदाय को आर्थिक आत्मनिर्भरता देने में इसका महत्वपूर्ण योगदान  है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में उद्यानिकी क्षेत्र के  विकास की व्यापक संभाभनाएँ मौजूद है। उद्यानिकी से जुड़े किसानों के हितों को लेकर भी विभाग काम करेगा। उन्होंने कहा कि जो विकासखंड  सब्जियों के लिए दिए जाने वाले अनुदान की योजना में शामिल नहीं है उनको योजना में शामिल किया जायगा। फल, सब्जी आदि उद्यानिकी फसलों की खेती की सुरक्षा के लिए किसानों को खेत चेन फेंसिंग की योजना पर विचार किया जा रहा है।
    राज्य मंत्री श्री कुशवाह ने कहा कि शिवपुरी जिले में टमाटर की खेती बहुतायत में किसानों द्वारा की जा रही है। इसको ध्यान में रख शिवपुरी में टमाटर प्रोसेसिंग यूनिट लगाई जाएगी। बैठक में विभाग की अन्य योजनाओं और कार्यक्रमों की भी समीक्षा की गई।
(65 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2020अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
31123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
2829301234
567891011

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer