समाचार
|| निविदा निरस्‍ती सूचना || प्रशासकीय स्वीकृति || ’प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरूस्कारों के आवेदन की तिथि 30 अक्टूबर’ || कोविड-19 वैक्सीन आने के पूर्व की तैयारी जारी || मच्छदानी का उपयोग करने और घरों के आसपास नीम का धुआं करने की सलाह || ऑनलाइन काउंसलिंग का द्वितीय अतिरिक्त चरण प्रारंभ || बंदियों के परिजन एक नवंबर से जेलों में मुलाकात कर सकेंगे || किसान चना की खेती के लिये उपयुक्त किस्मों का करें चयन || मध्यप्रदेश टूरिज्म बोई, भोपाल द्वारा होमस्टे योजनाओं हेतु कार्यशाला 28 अक्टूबर को || सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्म-तिथि 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाएगा
अन्य ख़बरें
कोरोना वायरस से घबराये नहीं, बस सावधानी अपनायें
-
हरदा | 30-सितम्बर-2020
 
    कलेक्टर श्री संजय गुप्ता द्वारा शाम को जिला अस्पताल में जिला कोविड कमांड केयर सेंटर का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देश दिये गये।  कलेक्टर श्री गुप्ता ने डॉ मनीष शर्मा को कोविड केयर सेंटर का प्रभारी नियुक्त किया।
   कलेक्टर श्री गुप्ता ने निर्देशित किया कि अब किसी भी प्रकार का कोई भी कंटेनमेंट एरिया नही बनाया जाएगा। अब आमजन को खुद जागरूक होना पडेगा। वर्तमान में वायरस की शक्ति बढ रही है यह विगत चार-पांच महिनों में हुये संक्रमण के अध्यन से मालूम पडा है की आगे आने वाले समय में रोगियों की संख्या और अधिक बढेगी। नए रोगियों में ज्यादा गंभीर लक्षण देखने को मिलेगे वायरस की शक्ति बढने के कारण यह सीधे फेफडों को प्रभावित करेगा। इन दिनों में शहर एवं जिले के ग्रामीण क्षेत्रो में भी कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी से बढोत्तरी हो रही है।
   कलेक्टर श्री गुप्ता ने निर्देशित किया कि जिले के ऐसे नागरिक जो 60 वर्ष से उपर की आयु के पडाव में है ओर जो मधुमेह, ब्लड प्रेशर, हृदय रोग, किडनी रोग, टीव्ही, कैंसर, अस्थमा, जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रस्त है तथा गर्भस्थ महिलाए एवं बच्चें ये सभी कोरोना रोग से जल्दी प्रभावित हो सकते है। ऐसे सभी नागरिको से अनुरोध है कि कोरोना से अपना बचाव स्वयं करे सभी दिये गये निर्देशो का पालन करे कोई भी लक्षण होने पर तत्काल अपने नजदीकी फीवर क्लीनिक पर जाकर कोरोना की जांच कराये।
      कलेक्टर श्री गुप्ता ने बताया कि कोरोना वायरस(कोविड-19) के अंतर्गत कोरोना के फैलाव को रोकने के लिये बुखार,सर्दी, जुखाम, खांसी, गले में खरास और सांस लेने में तकलीफ के उपचार एवं जांच हेतु जिले में 06 फीवर क्लीनिक संचालित किये जा रहे है। जिनका निर्धारित समय प्रात: 08:00 बजे से रात्रि 08:00 बजे तक है।  उक्त लक्षण वाले रोगियो की नि:शुल्क जांच एवं उपचार और दवा के लिये समस्त फीवर क्लीनिक जिला अस्पताल हरदा, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र टिमरनी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खिरकिया, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हंडिया, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सिराली, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रहंटगाव में संचालित किये जा रहे है। यदि कोई व्यक्ति पाजीटिव आता है तो उसकी प्रथम जिम्मेवारी सबसे पहले संपर्क में आये हुये लोगो की सूची तत्काल स्वास्थ्य विभाग की रैपिड रिस्पांस टीम को उपलब्ध कराने की होनी चाहिए। पाजीटिव लोग अपने संपर्क में आये सभी परीचितों से फोन पर संपर्क कर नजदीकी फीवर क्लीनिक में जांच कराने के लिये समझाइस दें। फीवर क्लीनिक पर उपरोक्त सुविधायें नि:शुल्क उपलब्ध कराई जाती है।
       उन्होने बताया कि वर्तमान में आम लोगो के लिये यह समझना मुश्किल हो गया है कि वह संक्रमित है या नही ऐसे में अब आम लोगो को अपनी कांटेक्ट ट्रेसिंग खुद ही करना बेहद जरूरी हो गया है। सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में दिक्कत, सहित कोरोना के अन्य लक्षण दिखाई देने पर तुरंत अपने नजदीकी फीवर क्लीनक पहुचें और जांच कराये एवं चिकित्सक के परामर्ष से ही इलाज कराये। साथ ही पूरी सर्तकता एवं सावधानी रखें। अपनी सामाजिक जबावदेही सुनिश्चित करतें हुये खुद व अन्य लोगो की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिये मास्क शोसल डिस्टेसिंग का पालन व सेनेटाइजर का उपयोग करना अब बेहद जरूरी है।
   इसे लेकर जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग जिले के सभी आमजन से यह अपील है कि सार्वजनिक स्थानों पर या भीड-भाड वाले स्थानों पर जाने से बचें शासकीय अथवा निजी क्षेत्र के समस्त संस्थान जहां लोगों का आवागमन अधिक हो जैसे अस्पताल, बैंक, सब्जी मण्डी, पार्क आदि वहां पर भी नियमित रूप से रोकथाम के उपाय एवं व्यक्तियों के बीच 01 मीटर की सामाजिक दूरी बनाये रखने का प्रयास किया जावे। कोरोना से अपना बचाव स्वयं करे सभी दिये गये निर्देशो का पालन करे कोई भी लक्षण होने पर तत्काल अपने नजदीकी फीवर क्लीनिक पर जाकर कोरोना की जांच कराये।
   उन्होने बताया कि जो लोग लक्षण विहीन है ओर होम आइशोलेशन में रहना चाहते है वह अपने ही घर में होम आइसोलेशन में रह सकते है। शासन के दिशा निर्देशानुसार उनके घरों में पृथक से श्यनकक्ष के साथ शौचालय की व्यवस्था होनी चाहिए। होम आइसोलेशन में रहने वाले पाजीटिव मरीजों की निगरानी के लिये जिला स्तर पर कोविड-19 नियंत्रण कक्ष बनाया गया है जिसमें सभी कोविड पाजीटिव मरीजो की वीडियो कालिंग के माध्यम से निगरानी की जावेगी। यदि स्वास्थ्य में सुधार नही हो रहा है और तकलीफ बढती जा रही है तो एंबुलेंस से मरीज को लाकर कोविड केयर सेंटर पर भर्ती किया जावेगा। जिला कोविड कमांड केयर सेंटर के दूरभाष नं. 07577-1075 एवं 18002331725 पर होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीज वीडियो कॉल या कॉल करके उचित परामर्ष एवं जानकारी प्राप्त कर सकते है।
(27 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2020नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2829301234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930311
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer