समाचार
|| केयर बाय कलेक्टर || 68 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने किये देवी मन्दिरों के ऑनलाइन दर्शन || अस्थाई पटाखा लायसेंस हेतु आवेदन 21 से 29 अक्टूबर तक किये जा सकेगें || 2 लाख रूपये की सहायता पाकर शालिनी की गृहस्थी की गाड़ी चल निकली "खुशियों की दास्तां" || छात्रवृत्ति के लिये ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर तक || जिला पंचायत के सीईओ ने पंचायतों का किया औचक निरीक्षण || जिले के 13 स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त || स्वास्थ्य विभाग की नई पहल - टीका एक्सप्रेस का हुआ शुभारंभ || कोरोना संक्रमित मिलने पर जिले के 30 स्थानों में बनाये गये कंटेनमेंट क्षेत्र || अंतरजातीय विवाह योजना के अन्तर्गत 2 लाख रूपये की सहायता स्वीकृत
अन्य ख़बरें
इंदौर जिले का सांवेर निर्वाचन व्यय संवेदनशील क्षेत्र घोषित (विधानसभा उप निर्वाचन-2020)
निर्वाचन के दौरान होने वाले खर्चो पर रखी जायेगी कड़ी निगरानी, वीडियो और सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से होगी हर गतिविधियों की रेकॉर्डिंग, निगरानी के लिये बनाये गये लगभग सौ दल-प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ संपन्न
इन्दौर | 03-अक्तूबर-2020
            इंदौर जिले का सांवेर विधानसभा क्षेत्र निर्वाचन व्यय संवेदनशील क्षेत्र घोषित किया गया है। इस क्षेत्र में निर्वाचन के दौरान होने वाले खर्चो पर कड़ी निगरानी रखी जायेगी। वीडियों कैमरे और सीसीटीवी कैमरों के माध्यम हर गतिविधियों की रेकॉर्डिंग कराई जायेगी। निगरानी के लिये लगभग सौ दल बनाये गये हैं, इन दलों में वीवीटी, वीएसटी, एसएसटी, एफएसटी, एमसीएमसी सहित अन्य दल शामिल है। इन दलों का प्रशिक्षण कार्यक्रम आज यहां रवीन्द्र नाट्य गृह में कलेक्टर श्री मनीष सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुआ। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में इन दलों को उनके अधिकार, कर्तव्य, कार्यप्रणाली, निर्वाचन संबंधी नियम आदि के बारे में विस्तार से प्रशिक्षण दिया गया।
            प्रशिक्षण कार्यक्रम डीआईजी श्री हरिनारायणचारी मिश्र, नगर निगम आयुक्त सुश्री प्रतिभा पाल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हिमांशु चंद्र, पुलिस अधीक्षक व्दय श्री महेश चंद्र जैन और श्री विजय खत्री सहित प्रशासन और पुलिस के अधिकारीगण मौजूद थे। प्रशिक्षण कार्यक्रम में कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने अधिकारियों से कहा कि वे हर हाल में निर्वाचन की शुचिता बनाये रखें। हर अवैध गतिविधियों पर सख्त कार्यवाही करें। सभी कार्यवाही पूर्ण रूप से निष्पक्ष होकर की जाये। आर्दश आचरण संहिता का कड़ाई से पालन कराया जाये। क्षेत्र में अवैध रूप से नगदी, शराब आदि का परिवहन और वितरण नहीं होने दे। निर्वाचन खर्चो पर चौकस निगरानी रखी जाये। उन्होंने बताया कि सांवेर निर्वाचन व्यय संवेदनशील क्षेत्र घोषित है। इसको देखते हुये खर्चो पर निगरानी के लिये पुख्ता व्यवस्था की गई है। तदानुसार 25 वीवीटी, 25 वीएसटी, 25 एसएसटी, 25 एफएसटी, एमसीएमसी सहित अन्य दल बनाये गये हैं। उड़नदस्तों का गठन भी किया गया है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे सजग होकर अपने-अपने क्षेत्रों का सघन भ्रमण करें। हर कार्यक्रम पर नजर रखें। कार्यक्रम में हुये खर्चो की वीडियों रेकॉर्डिंग करा कर उसकी रिपोर्ट प्रतिदिन प्रस्तुत करें। शिकायत मिलने पर त्वरित कार्यवाही करें।
            डीआईजी श्री हरिनारायणचारी मिश्र ने अधिकारियों से कहा कि वे जिले की सीमाओं पर चौकस नजर रखें। संवेदनशील एवं वल्वेरनेबल क्षेत्रों में विशेष निगरानी की जाये। शराब के अवैध परिवहन पर तुरंत कार्यवाही करे। आर्दश आचरण संहिता के उल्लंघन के मामलों में भी त्वरित कार्यवाही की जाये।
            प्रशिक्षण कार्यक्रम में एसपी श्री महेशचंद्र जैन, एडीएम श्री अजय देव शर्मा, अपर कलेक्टर श्री पवन जैन, सूचना अधिकारी एनआईसी सुश्री सुनिता जैन आदि ने निर्वाचन व्यय लेखा, कंट्रोल रूम की कार्य प्रणाली, सी-विजिल, उड़नदस्तों की कार्यप्रणाली आदि के बारे में विस्तार से प्रशिक्षण दिया।
(17 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2020नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2829301234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930311
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer