समाचार
|| केयर बाय कलेक्टर || 68 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने किये देवी मन्दिरों के ऑनलाइन दर्शन || अस्थाई पटाखा लायसेंस हेतु आवेदन 21 से 29 अक्टूबर तक किये जा सकेगें || 2 लाख रूपये की सहायता पाकर शालिनी की गृहस्थी की गाड़ी चल निकली "खुशियों की दास्तां" || छात्रवृत्ति के लिये ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर तक || जिला पंचायत के सीईओ ने पंचायतों का किया औचक निरीक्षण || जिले के 13 स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त || स्वास्थ्य विभाग की नई पहल - टीका एक्सप्रेस का हुआ शुभारंभ || कोरोना संक्रमित मिलने पर जिले के 30 स्थानों में बनाये गये कंटेनमेंट क्षेत्र || अंतरजातीय विवाह योजना के अन्तर्गत 2 लाख रूपये की सहायता स्वीकृत
अन्य ख़बरें
दीक्षा एप में निष्ठा ऑनलाईन शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम आज से प्रारंभ
-
छिन्दवाड़ा | 06-अक्तूबर-2020
     कलेक्टर श्री सौरभ कुमार सुमन के मार्गनिर्देशन में जिले के कक्षा एक से 8 तक के सभी शिक्षकों और सभी अकादमिक अधिकारियों के लिये दीक्षा एप में निष्ठा ऑनलाईन शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम आज से प्रारंभ हो गया है तथा यह कार्यक्रम आगामी जनवरी माह तक पूर्ण होगा। प्रशिक्षण में एन.सी.ई.आर.टी. द्वारा तैयार किये गये 18 गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण माड्यूल है जो शैक्षिक और सह-शैक्षिक तथ्यों पर आधारित है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से शिक्षकों और स्कूल प्रमुखों का सतत् व्यवसायिक विकास करने के साथ ही विभिन्न गुणवत्ता वाले शिक्षण व शिक्षण संसाधनों तक पहुंच प्रदान की जायेगी जो शिक्षकों को विद्यार्थियों की विविध आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करेगा। प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत विद्यार्थियों के संदर्भों के लिये संसाधनों को बनाने और साझा करने के लिये प्रमुख संसाधन व्यक्तियों, स्कूल प्रमुखों और शिक्षकों को सशक्त बनाने के उद्देश्य से निरंतर फॉलो-अप, सहयोग और समर्थन प्रदान किया जायेगा।
      जिला शिक्षा केंद्र के जिला परियोजना समन्वयक श्री जी.एल.साहू ने बताया कि निष्ठा ऑनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत जेनेरिक विषय और शैक्षणिक रणनीतियों के 3-3 एवं विषय विशिष्ट शिक्षा शास्त्र और स्कूल नेतृत्व के 6-6 मॉड्यूल में प्रशिक्षण दिया जायेगा। जेनेरिक विषय के अंतर्गत 6 अक्टूबर से प्रारंभ प्रशिक्षण में पाठ्यक्रम और समावेशी शिक्षा, सामाजिक-व्यक्तिगत योग्यता का विकास करना और सुरक्षित और स्वस्थ स्कूल वातावरण बनाना एवं स्कूलों में स्वास्थ्य और कल्याण, शैक्षणिक रणनीतियों के अंतर्गत 22 अक्टूबर से प्रारंभ शिक्षण सीखने की प्रक्रिया में जेंडर को एकीकृत करना, टीचिंग-लर्निंग और असेसमेंट कोर्स में आई.सी.टी. का एकीकरण एवं आर्ट इंटीग्रेटेड लर्निंग, विषय विशिष्ट शिक्षा शास्त्र के अंतर्गत स्कूल आधारित मूल्यांकन, पर्यावरणीय अध्ययन (प्राथमिक चरण) का शैक्षणिक पाठ्यक्रम एवं गणित का शिक्षा शास्त्र व 22 नवंबर से सामाजिक विज्ञान का शिक्षा शास्त्र (उच्च प्राथमिक चरण), भाषाओं का शिक्षा शास्त्र और विज्ञान का शिक्षा शास्त्र (उच्च प्राथमिक चरण) तथा स्कूल नेतृत्व के अंतर्गत 6 दिसंबर से स्कूल नेतृत्व: अवधारणा और अनुप्रयोग, स्कूली शिक्षा में पहल और प्री-स्कूल शिक्षा व 22 दिसंबर से पूर्व-व्यावसायिक शिक्षा, कोविद-19 परिदृश्य: स्कूली शिक्षा में चुनौतियों का समाधान एवं अधिकार, बाल यौन शोषण (सी.एस.ए.) और यौन अपराधों से संरक्षण (पाक्सो) अधिनियम, 2012 का प्रशिक्षण दिया जायेगा।
      जिला शिक्षा केंद्र के जिला परियोजना समन्वयक श्री साहू ने बताया कि निष्ठा ऑनलाईन प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत जिन शिक्षकों ने सी.एम.राईज के प्रशिक्षण की पंजीकरण प्रक्रिया के अंतर्गत अपना विभागीय यूनिक आई.डी. और पासवर्ड का उपयोग कर पंजीयन कराया है, उन्हे पृथक से कोई नया पंजीयन नहीं करना है तथा दीक्षा एप पर विभागीय यूनिक आई.डी. और पासवर्ड का उपयोग करते हुये ही निष्ठा ऑनलाईन प्रशिक्षण पूर्ण करना है। उन्होंने निर्देश दिये हैं कि प्रशिक्षण की लिंक राज्य से जिले, जिले से बी.आर.सी. और सी.ए.सी. के द्वारा शिक्षकों तक पहुंचेगी, इसलिये अन्य किसी माध्यम को नहीं चुनें। किसी भी परिस्थिति में नया लॉगिन नहीं करें, केवल दीक्षा स्टेट लॉगिन से ही जुड़ना हैं। किसी भी प्रकार का संशय होने पर डाईट, डी.पी.सी. और बी.आर.सी.सी. की अकादमिक टीम से सम्पर्क करें। प्रशिक्षण के दौरान हर 15 दिवस में नया मॉड्यूल जारी हो जाएगा, इसलिए शिक्षक समयावधि में प्रशिक्षण पूर्ण करें। प्रशिक्षण को सी.एम.राईज के स्टेट लॉगिन द्वारा ही पूर्ण करें, अन्य तरीकों से नहीं जुड़ें। यह प्रशिक्षण 3 से 4 घण्टे के होंगे, अतः पर्याप्त समय दें। प्रशिक्षण में आडियो, वीडियो, पॉडकास्ट, पी.डी.एफ. के अलग-अलग कंटेंट रहेंगे। समय सारिणी शिक्षकों के साथ साझा कर दी गयी हैं एवं समय सारिणी के अनुसार ही कोर्स करें।  सभी कोर्स को करते हुए मुख्य बिंदु नोट भी करें।  जनवरी के दूसरे हफ़्ते में मूल्यांकन होगा जिसके आधार पर प्रमाण पत्र जारी होगा। इसमें 60 प्रतिशत से कम अंक आने पर प्रशिक्षण फिर से करना होगा। कोर्स का प्रमाण पत्र ग्रेड पर आधारित होगा। ऑनलाइन कम्पेटेंसी टेस्ट के आधार पर एन.सी.ई.आर.टी. दिल्ली द्वारा प्रमाण पत्र देय होगा। सम्पूर्ण कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा के लिए शिक्षक लिंक https://youtu.be/XvWMygF1nhk से जुड़ें।

 
(14 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2020नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2829301234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930311
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer