समाचार
|| निर्धारित दर से अधिक कीमत पर शराब बेचने के मामलों में नौ दुकानों से एक दिन के लिए शराब के क्रय-विक्रय पर प्रतिबंध || माफिया के विरुद्ध प्रशासन की कार्यवाही जारी || आज दिनांक तक 45331 व्यक्तियों का अभी तक लिया गया सैंपल || कोरोना के संक्रमण से मुक्त होने पर 89 व्यक्ति डिस्चार्ज || 639 व्यक्तियों से वसूला गया 63 हजार रुपये का जुर्माना - रोको-टोको अभियान || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी गुरु नानक जयंती की बधाई || लोक निर्माण विभाग ने भरवाए छावनी की सडक के गहरे गड्ढे || देवास जिले में रविवार को ग्रामीण क्षेत्रो में 8 हजार 533 चालान मास्क नही पहनने पर बनाये गये तथा 97 हजार 169 रुपये की वसूली की गईं || शाजापुर जिले में आज 09 कोरोना पाजीटिव मरीज मिले || 8 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई
अन्य ख़बरें
प्रधानमंत्री श्री मोदी 11 अक्टूबर को करेंगे ग्रामीण आबादी सर्वे (स्वामित्व योजना) के अंतर्गत अधिकार अभिलेख वितरण कार्यकम का शुभारंभ
जिले की सभी ग्राम पंचायतों में इस वर्चुअल कार्यक्रम के सीधे प्रसारण को नागरिकगण देख व सुन सकेंगे
छिन्दवाड़ा | 08-अक्तूबर-2020
      प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी आगामी 11 अक्टूबर को राज्य शासन की ग्रामीण आबादी सर्वे (स्वामित्व योजना) के अंतर्गत जिला डिंडोरी, हरदा और सीहोर के आबादी सर्वे की कार्यवाही पूर्ण हो चुके ग्रामों में हितग्राहियों को इलेक्ट्रानिक रूप से अधिकार अभिलेख वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे । इस कार्यक्रम का जिले की सभी ग्राम पंचायतों में दूरदर्शन के डी.डी. नेशनल चैनल पर सीधा प्रसारण किया जायेगा जिसे टी.व्ही. के माध्यम से देखने की व्यवस्था क्षेत्रीय ग्राम पंचायत कार्यालय में की गई है। पटवारियों, पंचायत पदाधिकारियों, स्थानीय कर्मचारियों और ग्रामीण जन इस कार्यक्रम को देखने के लिये https://prmevents.ncog.gov.in पर प्री-रजिस्ट्रेशन  करा सकते हैं।

          अधीक्षक भू-अभिलेख श्रीमती स्मृति खंडेलवाल ने बताया कि भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में आबादी का सर्वेक्षण कर अधिकार अभिलेख के निर्माण की योजना कियान्वित की जा रही है जिसका नाम स्वामित्व योजना है। इस योजना के क्रियान्वयन के लिये राजस्व विभाग को नोडल विभाग बनाया गया है। योजना के क्रियान्वयन के लिये प्रारंभिक चरण के कार्य भारतीय सर्वेक्षण विभाग द्वारा राजस्व और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सहयोग से संपादित किये जायेंगे। भारतीय सर्वेक्षण विभाग के साथ राजस्व विभाग द्वारा संपादित अनुबंध के अनुसार सर्वे ऑफ इण्डिया द्वारा राजस्व विभाग के पास उपलब्ध वर्तमान नक्शों को प्राप्त कर ड्रोन सर्वे के लिये प्रारंभिक तैयारी की जायेगी। सर्वे ऑफ इण्डिया द्वारा ड्रोन उडाकर इमेजरी तैयार की जायेगी और इमेजरी के आधार पर प्रारूप नक्शा तैयार किया जाकर राजस्व विभाग को उपलब्ध कराया जायेगा। ड्रोन द्वारा आबादी सर्वे कर केवल उन संपत्ति धारकों का अधिकार अभिलेख तैयार किया जाएगा, जो मध्यप्रदेश भू-राजस्व संहिता, 1959 (यथा संशोधित 2018) के लागू होने की तारीख 25 सितंबर 2018 को आबादी भूमि पर अधिभोगी थे अथवा जिन्हें इस तारीख के बाद विधिपूर्वक आबादी भूमि में भू-खण्ड का आवंटन किया गया है । पटवारी, ग्राम पंचायत सचिव और कोटवार द्वारा अधिकार अभिलेख के निर्धारित प्रारूप में प्रत्येक प्लाट की प्रविष्टियां संधारित की जायेगी। प्रारूप नक्शे में दर्शित प्लाट के अधिभोगी परिवार के मुखिया का नाम अधिकार अभिलेख में लिखा जायेगा। अधिकार अभिलेख संधारित करने के लिये समग्र आई.डी. का प्राथमिकता से उपयोग किया जायेगा। इसके अलावा मोबाईल नम्बर, ई-मेल और आधार नम्बर की जानकारी भी संकलित की जायेगी।
 
(53 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2020दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2627282930311
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer