समाचार
|| संयुक्त टीम द्वारा उपार्जन केन्द्र खुलरी का निरीक्षण || वीवीपैट मशीनों की मोबाइल एप से स्कैनिंग का कार्य 5 दिसम्बर से शुरू होगा || तेंदूखेड़ा में फेस मास्क नहीं लगाने वाले 21 लोगों पर लगा 2200 रूपये से अधिक का जुर्माना || विश्व विकलांग दिवस पर कलेक्टर ने दिव्यांगों को व्हील चेयर, वैसाखी व छड़ी प्रदान की || कलेक्टर द्वारा योजनाओं की प्रगति की समीक्षा || केंद्रीय मंत्री श्री पटेल आज ग्वालियर जायेंगे || असुरक्षित पनीर का विक्रय करने पर नानकिंग रेस्टोरेंट सील || मुख्यमंत्री श्री चौहान 5 दिसंबर को नगरीय निकायों को स्वच्छता सेवा सम्मान- 2020 से करेंगे सम्मानित || मंडियों और समर्थन मूल्य व्यवस्था को बंद करने वाली बातें भ्रामक और असत्य 50 वर्षों से भूमि पर काबिज किसानों को पट्टे दिये जाएंगे || रोको-टोको अभियान : 613 व्यक्तियों से वसूला गया 1 लाख 15 हजार रुपये का जुर्माना
अन्य ख़बरें
शिक्षा के साथ स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर भी ध्यान आवश्यक - हर्षिका सिंह
जिला योजना भवन में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस
मण्डला | 11-अक्तूबर-2020
    अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर बालिकाओं से चर्चा करते हुए कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि बालिकाओं को शिक्षा के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर भी ध्यान आवश्यक है। समग्र विकास के लिए प्रत्येक पहलुओं पर ध्यान देना चाहिए। जिला योजना भवन में संपन्न हुए इस कार्यक्रम में सीईओ जिला पंचायत तन्वी हुड्डा, अपर कलेक्टर मीना मसराम, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्वेता तड़वे सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी तथा चिन्हित छात्राएं उपस्थित रहीं।
    कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि महिलाएं सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ रही हैं। यदि आप जीवन में सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो अभी से ही अपनी मंजिल तय करना आवश्यक है। लक्ष्य निर्धारित किए बिना कोई भी कार्य संभव नहीं है। लक्ष्य प्राप्ति के लिए योजनाबद्ध प्रयास जरूरी है। उन्होंने कहा कि छात्राओं की पढ़ाई सिर्फ स्कूल कॉलेज तक सीमित नहीं रहना चाहिए, बेहतर शिक्षा प्राप्त कर स्वयं को आत्मनिर्भर बनाएं। कलेक्टर ने कहा कि इंटरनेट शिक्षा का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। तकनीकि के उपयोग से हमें अपना ज्ञान बढ़ाने के लिए करना चाहिए। उन्होंने छात्राओं से सोशल मीडिया के उपयोग में सतर्कता बरतने का आव्हान किया। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को समय-समय पर बालिकाओं के लिए जागरूकता तथा कैरियर काउंसलिंग संबंधी कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए।
    इस अवसर पर सीईओ जिला पंचायत तन्वी हुड्डा ने कहा कि छात्राएं बेहतर शिक्षा प्राप्त करके अपना भविष्य बेहतर बनाएं तथा आत्मनिर्भर बनते हुए परिवार की आर्थिक गतिविधियों में सहभागिता करें। उन्होंने बालिकाओं से खानपान पर विशेष ध्यान देने की बात कही। कार्यक्रम में वरिष्ठ अधिवक्ता शोभा मिश्रा द्वारा बालिकाओं के हित संरक्षण के लिए बनाए गए कानूनों के संबंध में जानकारी दी। सब इंस्पेक्टर पुलिस आरती धुर्वे ने अपने संबोधन में साईबर अपराध से बचने संबंधी जानकारी दी तथा सहायक संचालक मंजू शुक्ला ने लैंगिंक असमानता, कन्या भ्रूण हत्या तथा लिंग आधारित भेदभाव के संबंध में अपनी बात रखी। कार्यक्रम के अंत में छात्राओं की जिज्ञासाओं का समाधान किया गया।
माता पिता की मेहनत सार्थक करें
    कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि बालिकाओं की शिक्षा दीक्षा में पालक अपनी क्षमता से अधिक प्रयास करते हैं। अपनी खुशियां त्यागकर बच्चों के भविष्य संवारने की कोशिश करते हैं। ऐसे में बच्चों की भी जिम्मेदारी बनती है कि वे माता पिता की मेहनत सार्थक करने अपना ध्यान शैक्षणिक कार्यों में केन्द्रित करें तथा प्रतिस्पर्धा में खरे उतरते हुए स्वयं की मंजिल प्राप्त कर माता पिता के सपने को पूरा करें।
बालिकाओं के लिए एनीमिया एक चुनौती
    बालिकाओं से चर्चा करते हुए कलेक्टर हर्षिका सिंह ने कहा कि मंडला जिले की महिलाओं के समक्ष एनीमिया एक बड़ी समस्या है जिस पर नियंत्रण पाने के लिए बाल्यकाल से ही खानपान पर ध्यान दिया जाना आवश्यक है। मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना भी आवश्यक है। उन्होंने बालिकाओं से आव्हान किया कि वे स्वयं के स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें और पौष्टिक तथा संतुलित भोजन करें।
(54 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2020जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer