समाचार
|| मध्यप्रदेश प्रोफोशनल एक्जाम बोर्ड सुरक्षित ऑनलाइन || उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान के निर्माण कार्य शीघ्रता से पूरा करें -उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.यादव || संबल योजना के हितग्राही शालेय बच्चों से नहीं ली जाएगी परीक्षा फीस || म.प्र.राज्य घुड़सवारी अकादमी के 14 घुड़सवारों का जूनियर राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए चयन || मिन्‍टो हॉल, बोट क्‍लब, विन्‍ड एण्‍ड वेव्‍ज़ सहित निगम की 21 इकाईयों को मिला आई.एस.ओ. सर्टिफिकेट || मण्डियों को स्मार्ट बनाने पेट्रोल पम्प भी लगायेंगे -मंत्री श्री पटेल || 27वे नेशनल एडवेंचर फेस्टिवल का आयोजन फरवरी में किया जायेगा || म.प्र. डे-राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत एसएचजी को ऋण वितरित || प्रतीकात्मक कलश यात्रा एवं स्थापना सम्पन्न || अ.जा., ज.जा.अत्याचार निवारण अधिनियम अन्तर्गत जिला स्तरीय मॉनीटरिंग समिति की बैठक 26 नवम्बर को
अन्य ख़बरें
महिला किसान दिवस के अवसर पर पवारखेड़ा कृषक प्रशिक्षण केंद्र मैं महिला किसानों का किया गया सम्मान
कृषि वैज्ञानिको द्वारा किसानों को तकनीकी जानकारी से अवगत कराया गया
होशंगाबाद | 15-अक्तूबर-2020
     महिला किसान दिवस के अवसर पर शासन के निर्देशानुसार दिनांक 15 अक्टूबर 2020 को कृषक प्रशिक्षण केंद्र पवारखेड़ा में कार्यक्रम आयोजित कर जिले में कृषि के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला कृषको को प्रशस्ति पत्र देकर कृषि विभाग के अधिकारियों एवं कृषि वैज्ञानिकों द्वारा सम्मानित किया गया। साथ ही कृषक वैज्ञानिक परिचर्चा का आयोजन किया गया जिसमें कृषि वैज्ञानिक, कृषि विभाग के मैदानी अधिकारी कर्मचारी गण एवं किसानों ने कृषि वैज्ञानिकों से   तकनीकी जानकारी प्राप्त की एवं किसानों द्वारा वैज्ञानिकों से खेती की समस्याओं के निदान हेतु सीधे परिचर्चा की गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित जिला पंचायत अध्यक्ष एवं किसान श्री कुशल पटेल ने किसानों से कृषि वैज्ञानिकों द्वारा बताई गई तकनीकी सलाह अनुसार खेती करने की सलाह दी साथ ही उन्होंने कहा कि प्रत्येक किसान अपने एवं परिवार के उपयोग के लिए जैविक खेती अपनाएं एवं कोरोना काल में अपनी इम्यूनिटी बढ़ाएं।
     जोनल कृषि अनुसंधान केंद्र पवारखेड़ा के वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डॉक्टर के के मिश्रा, डॉक्टर कटहल एवं कृषि विज्ञान केंद्र गोविंद नगर बनखेड़ी के कृषि वैज्ञानिकों डॉक्टर संजीव गर्ग एवं डॉक्टर आकांक्षा द्वारा किसानों को सलाह दी गई कि किसान गेहूं और चने की बोनी बीज उपचार करके ही बोनी करें, चने के बीच उपचार हेतु  ट्राईकोडरमा विरडी, कार्बन डायजिम से अवश्‍य करें, साथ ही जैविक कल्चर का राइजोबियम एवं पीएसबी का उपयोग अवश्य रूप से करने की सलाह दी गई।
    उप संचालक कृषि होशंगाबाद द्वारा खाद बीज उपलब्धता के संबंध में विस्तृत जानकारी किसानों को दी गई। उन्‍होने बताया कि उन्नतशील प्रजातियों के चना एवं गेहूं बीज पर्याप्त मात्रा में बीज निगम कृषि अनुसंधान केंद्र पवारखेड़ा एवं कृषि विभाग के विकास खंड कार्यालय में उपलब्ध है जहां से किसान नियम अनुसार प्राप्त कर सकते हैं।
    कार्यक्रम में जिला की कृषि कर्मण अवार्ड प्राप्त महिला कृषक श्रीमती कंचन वर्मा एवं श्रीमती हेमलता महतो के साथ ही कृषि के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिला कृषक श्रीमती उर्मिला विश्वकर्मा श्रीमती पुष्पा कटारे, श्रीमती कांतिबाई, श्रीमती कृष्णा चौरे सहित अनेक महिला किसानों का सम्मान किया गया। जिले के प्रगतिशील जैविक कृषक श्री हेमंत दुबे, शरद वर्मा, साहब लाल महतो द्वारा भी किसानों से अपने अनुभव साझा किए गए। कार्यक्रम में बीज प्रमाणीकरण अधिकारी श्री पी एस पवार, सहायक कृषि यंत्री दीपक वासवानी, सहायक संचालक उपेंद्र शुक्ला, अशोक जयसवाल, गोविंद मीणा, जेएल मवासे,  जेएल कास्‍दे, राजीव यादव, अर्चना परते, प्रियंका जैन, जी एस बेले सहायक मिट्टी परीक्षण अधिकारी, अनुविभागीय कृषि अधिकारी पिपरिया श्री बी पी रघुवंशी, समस्त विकास खंडों के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी समस्त बीटीएम / एटीएम ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी सहित किसान उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन श्री राजेश चौरे द्वारा किया गया आभार प्रदर्शन श्री गोविंद मीणा सहायक संचालक ने किया।
(40 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2020दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2627282930311
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer