समाचार
|| रेरा में लोक अदालत के पूर्व आवेदक-अनावेदक से होगी सीधी चर्चा || अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय सम्पूर्ण देश के लिए गौरव है -उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव || नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह ने म.प्र. गृह निर्माण मण्डल के अध्यक्ष का पदभार ग्रहण किया || जनजातीय बाहुल्य विकासखण्डों में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिये एटीएम की स्थापना || लोक निर्माण विभाग के नवीन एसओआर से कार्यों की गुणवत्ता होगी नियंत्रित -लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव || समाधान ऑनलाइन अब 8 दिसम्बर को होगा || पल्स पोलियो अभियान 17 से 19 जनवरी 2021 तक || जनवरी 2021 के लिए प्रिसिजन इंजीनियरिंग में प्रवेश प्रारंभ || 27वे नेशनल एडवेंचर फेस्टिवल का आयोजन फरवरी में किया जायेगा || मास्क नहीं पहनने वालों के विरूद्ध चालान एवं अस्थाई जेल भेजने की कार्यवाही जारी
अन्य ख़बरें
देश के सर्वाधिक पिछड़े 10 विकासखण्डो में शुमार पाटी पहुंचकर कलेक्टर ने की स्वास्थ्य सेवाओं की समीक्षा
देश के सर्वाधिक पिछड़े विकासखण्ड में शुमार विकासखण्ड पाटी के विकासखण्ड एवं मैदानी अमले को मिला शोकाज नोटिस
बड़वानी | 17-अक्तूबर-2020
 
     कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा ने देश के सर्वाधिक 10 पिछड़े विकासखण्डों में सम्मिलित जनपद पंचायत पाटी पहुंचकर स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी अमले के कार्यो की विस्तृत समीक्षा की। दोनों विभागों के मैदानी अमले की जानकारी में एकरूपता और निर्धारित लक्ष्यों अनुसार प्रगति प्रदर्शित नही होने पर दोनों विभागों के खण्ड स्तरीय अधिकारियो, सुपरवाईजर, एएनएम, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को शोकाज नोटिस जारी कर चेतावनी दी है कि अगले महिने होने वाली समीक्षा के दौरान यदि कार्य में एकरूपता एवं प्रगति प्रदर्शित नही होगी तो उस अधिकारी, मैदानी अमले को पद से पृथ्क करने की कार्यवाही प्रारंभ की जायेगी। और जो अच्छा कार्य करेगा उसे प्रशंसा पत्र प्रदान किये जायेंगे।
    उल्लेखनीय है कि जिले स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास की योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिए कलेक्टर श्री वर्मा ने प्रत्येक माह के तृतीय शनिवार को होने वाली इन विकासखण्ड स्तरीय समीक्षा बैठक में राजस्व अधिकारियों की उपस्थिति को अनिवार्य बनाते हुए नामजद ड्यूटी लगाई है। इसके तहत कलेक्टर ने अपने पास देश के सर्वाधिक पिछड़े विकासखण्ड में शुमार विकासखण्ड पाटी का प्रभार रखा है।
बैठक के दौरान इन कार्यो की हुई समीक्षा
    बैठक के दौरान राजस्व अधिकारियों ने प्रत्येक गर्भवती महिला का पंजीयन, उसकी होने वाली चार जांच, संस्थागत प्रसव होना, बच्चों का समय पर टीकाकरण होना, बच्चों का समय-समय पर वजन लेना, कुपोषित पाये जाने पर उसे एनआरसी में भर्ती करवाना, हाई रिस्क वाली महिलाओं की सतत् काउंसलिंग एएनएम एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा किया जाना, आदि की समीक्षा की।
    इस दौरान हाथ उठवाकर लोगों को शपथ भी दिलवाई गई कि वे अपने पदीन दायित्वों के निर्वहन के साथ-साथ अपना सामाजिक दायित्व भी निभाते हुए, ऐसा कार्य करेंगे जिससे उनके क्षेत्र में किसी भी गर्भवती महिला एवं उसके बच्चे की मृत्यु न होने पाये।
यह थे उपस्थित
    पाटी में आयोजित इस बैठक में कलेक्टर श्री शिवराजसिंह वर्मा के साथ-साथ जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अनिता सिंगारे, महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री सुनिल सोलंकी, खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. देवेन्द्र वास्कले, महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी श्री प्रकाश रंगशाही, पिरामल के श्री असलम खांन, श्रम पदाधिकारी श्री केएस मुजाल्दा उपस्थित थे।
(47 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2020जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer