समाचार
|| संयुक्त टीम द्वारा उपार्जन केन्द्र खुलरी का निरीक्षण || वीवीपैट मशीनों की मोबाइल एप से स्कैनिंग का कार्य 5 दिसम्बर से शुरू होगा || तेंदूखेड़ा में फेस मास्क नहीं लगाने वाले 21 लोगों पर लगा 2200 रूपये से अधिक का जुर्माना || विश्व विकलांग दिवस पर कलेक्टर ने दिव्यांगों को व्हील चेयर, वैसाखी व छड़ी प्रदान की || कलेक्टर द्वारा योजनाओं की प्रगति की समीक्षा || केंद्रीय मंत्री श्री पटेल आज ग्वालियर जायेंगे || असुरक्षित पनीर का विक्रय करने पर नानकिंग रेस्टोरेंट सील || मुख्यमंत्री श्री चौहान 5 दिसंबर को नगरीय निकायों को स्वच्छता सेवा सम्मान- 2020 से करेंगे सम्मानित || मंडियों और समर्थन मूल्य व्यवस्था को बंद करने वाली बातें भ्रामक और असत्य 50 वर्षों से भूमि पर काबिज किसानों को पट्टे दिये जाएंगे || रोको-टोको अभियान : 613 व्यक्तियों से वसूला गया 1 लाख 15 हजार रुपये का जुर्माना
अन्य ख़बरें
धान खरीदी के लिये उपार्जन केन्द्रों में उचित प्रबंध करें – कलेक्टर
किसानों को अधिकतम सुविधा देते हुए पारदर्शिता से धान का उपार्जन करें – कलेक्टर
रीवा | 17-अक्तूबर-2020
   कलेक्ट्रेट के मोहन सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने 16 नवम्बर से होने वाली समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की तैयारियों की समीक्षा की। कलेक्टर ने अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि धान खरीदी में किसी तरह की लापरवाही सहन नहीं की जायेगी। जिन सहकारी समितियों ने गत वर्ष धान तथा गेंहू उपार्जन में अनियमिततायें की हैं उनके विरूद्ध सहकारी बैंक तथा जिला पंजीयक कड़ी कार्यवाही करें। किसानों को धान खरीदी केन्द्रों में अधिकतम सुविधा देते हुए पूरी पारदर्शिता के साथ धान का उपार्जन करायें। जिले में धान खरीदी के लिये 84 खरीदी केन्द्र बनाये गये हैं। सभी खरीदी केन्द्रों में धान उपार्जन के लिये पर्याप्त बारदाने, तौलकांटे, किसानों के लिये छाया, पानी तथा स्वच्छ शौचालय की अनिवार्य रूप से व्यवस्था करायें।
   बैठक में कलेक्टर ने कहा कि गत वर्ष धान खरीदी के लिये 47 हजार 631 किसानों ने पंजीयन कराया था जबकि इस वर्ष 80 हजार से अधिक किसानों ने पंजीयन कराया है। गत वर्ष 180 लाख मीट्रिक टन धान का उपार्जन हुआ था। इस वर्ष 320 लाख मीट्रिक टन धान उपार्जन की संभावना है। इसे ध्यान में रखते हुए खरीदी केन्द्रों में धान खरीदी तथा उपार्जित धान के भण्डारण की व्यवस्था करायें। पंजीयन कराने वाले सभी किसानों द्वारा बोये गये रकबे का सत्यापन करायें। जिन किसानों ने पांच एकड़ से अधिक भूमि में धान उपार्जन के लिये पंजीयन कराया है उनका सभी एसडीएम शत-प्रतिशत सत्यापन करायें। केवल पात्र किसानों से ही शासन द्वारा निर्धारित अच्छी गुणवत्ता का धान खरीदा जायेगा। धान खरीदी के लिये आवश्यकता होने पर खरीदी केन्द्रों में वृद्धि की जायेगी। सभी खरीदी केन्द्रों में नोडल अधिकारी तैनात करें। जिले के सीमावर्ती क्षेत्र के खरीदी केन्द्रों में बाहर से धान की आवक रोकने के लिये कड़े सुरक्षात्मक उपाय किये जायेंगे।
   कलेक्टर ने कहा कि जिला पंजीयक सहकारी समितियां अनियमितता बरतने वाली समितियों पर कठोर कार्यवाही करें। जिन खरीदी केन्द्रों के संबंध में गत वर्षों में लगातार शिकायतें मिली हैं उन पर कड़ी निगरानी रखें। जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम सभी खरीदी केन्द्रों में पर्याप्त संख्या में बारदाने उपलब्ध करायें। खरीदी केन्द्रों में उपार्जित धान के तत्काल उठाव के लिये परिवहन व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त रखें। खरीदी केन्द्रों में कोरोना से बचाव, खरीदी संबंधित सभी जानकारियों के प्रकाशन तथा उपार्जित धान के भण्डारण की व्यवस्था करायें। बैठक में धान खरीदी के संबंध में चेकलिस्ट बनाने तथा किसानों को एसएमएस भेजने के संबंध में भी चर्चा की गयी। बैठक में जिला आपूर्ति नियंत्रक एमएनएच खान ने धान खरीदी के लिये किये गये प्रबंधों की जानकारी दी। बैठक में एडीएम श्रीमती इला तिवारी, जिला पंजीयकर सहकारिता व्हीके पाण्डेय, महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक आरएस भदौरिया, उप संचालक कृषि यूपी बागरी तथा धान उपार्जन से संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

 
(48 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2020जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer