समाचार
|| संयुक्त टीम द्वारा उपार्जन केन्द्र खुलरी का निरीक्षण || वीवीपैट मशीनों की मोबाइल एप से स्कैनिंग का कार्य 5 दिसम्बर से शुरू होगा || तेंदूखेड़ा में फेस मास्क नहीं लगाने वाले 21 लोगों पर लगा 2200 रूपये से अधिक का जुर्माना || विश्व विकलांग दिवस पर कलेक्टर ने दिव्यांगों को व्हील चेयर, वैसाखी व छड़ी प्रदान की || कलेक्टर द्वारा योजनाओं की प्रगति की समीक्षा || केंद्रीय मंत्री श्री पटेल आज ग्वालियर जायेंगे || असुरक्षित पनीर का विक्रय करने पर नानकिंग रेस्टोरेंट सील || मुख्यमंत्री श्री चौहान 5 दिसंबर को नगरीय निकायों को स्वच्छता सेवा सम्मान- 2020 से करेंगे सम्मानित || मंडियों और समर्थन मूल्य व्यवस्था को बंद करने वाली बातें भ्रामक और असत्य 50 वर्षों से भूमि पर काबिज किसानों को पट्टे दिये जाएंगे || रोको-टोको अभियान : 613 व्यक्तियों से वसूला गया 1 लाख 15 हजार रुपये का जुर्माना
अन्य ख़बरें
प्रायवेट चिकित्सा संस्थान में भर्ती डेंगू के रोगियों की जांच करवाना होगी, जिला चिकित्सालय में ऐलिजा माध्यम से-कलेक्टर श्री वर्मा
-
बड़वानी | 19-अक्तूबर-2020
 
    प्रायवेट चिकित्सा संस्थानों में भर्ती 36 डेंगू रोगियों में से 34 रोगियों को ऐलिजा जांच में डेंगू पाजिटिव नही आने पर, कलेक्टर ने समस्त प्रायवेट चिकित्सा संस्थानों को निर्देशित किया है कि वे अपने संस्थानों में रेपिड कार्ड जांच के दौरान संभावित डेंगू पाये गये रोगियों के सैम्पल की जांच, जिला चिकित्सालय में स्थापित ऐलिजा के माध्यम से भी करवाना सुनिश्चित करायेंगे। जिससे संभावित डेंगू रोगियों को डेंगू है या नही यह सुनिश्चित हो सके।
    स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अनिता सिंगारे तथा जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. वसीम शेख द्वारा यह बताने पर कि प्रायवेट चिकित्सा संस्थानों भर्ती संभावित डेंगू रोगियों के पुनः सैम्पल जांच के दौरान पाया गया था कि 36 संभावित रोगियों में से मात्र दो लोगों की जांच ही ऐलिजा जांच के दौरान पाजिटिव पाई गई। जबकि शेष 34 रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है। यह स्थिति इसलिए उत्पन्न होती है क्योकि डेंगू की शतप्रतिशत सही जांच ऐलिजा टेस्ट के माध्यम से ही होती है। और यह जांच जिला चिकित्सालय में ही होती हैं। इस जांच के माध्यम से 7-8 घंटों में ही रिपोर्ट प्राप्त हो जाती है। जिन दो लोगों की रिपोर्ट पाजिटिव प्राप्त हुई है उसमें एक ठीकरी का एवं दूसरा रोगी कुक्षी क्षेत्र के एक गांव का था।
नगरीय क्षेत्रों में चलाया जायेगा लार्वा सर्वे अभियान
    बैठक के दौरान कलेक्टर ने स्वास्थ्य विभाग एवं डूडा के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे नगरीय क्षेत्रों में टीम बनाकर लार्वा सर्वे अभियान चलायेंगे। इस दौरान लोगों के घरों की पानी की टंकियों, कूलरों या घर के आस-पास भरे हुए पानी के खण्डों में लार्वा सर्वे कर लोगों को जागरूक करेंगे। वही फागिंग मशीन के माध्यम से नियमित धुआं करवायेंगे। जिससे लोगों को मच्छर जनति रोगों से बचाते हुए इस पर प्रभावी कार्यवाही की जा सके। साथ ही कलेक्टर ने बताया कि जिनके पानी की टंकियों, कूलरों में डेंगू के लार्वा मिले, उन पर जुर्माना भी लगाकर वसूलने की कार्यवाही की जाये। जिससे लोग नियमित रूप से अपने घरों में पानी भरे बर्तनों, टंकियों, नालियों की साफ-सफाई करे।
 
(46 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2020जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer