समाचार
|| निर्धारित दर से अधिक कीमत पर शराब बेचने के मामलों में नौ दुकानों से एक दिन के लिए शराब के क्रय-विक्रय पर प्रतिबंध || माफिया के विरुद्ध प्रशासन की कार्यवाही जारी || आज दिनांक तक 45331 व्यक्तियों का अभी तक लिया गया सैंपल || कोरोना के संक्रमण से मुक्त होने पर 89 व्यक्ति डिस्चार्ज || 639 व्यक्तियों से वसूला गया 63 हजार रुपये का जुर्माना - रोको-टोको अभियान || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी गुरु नानक जयंती की बधाई || लोक निर्माण विभाग ने भरवाए छावनी की सडक के गहरे गड्ढे || देवास जिले में रविवार को ग्रामीण क्षेत्रो में 8 हजार 533 चालान मास्क नही पहनने पर बनाये गये तथा 97 हजार 169 रुपये की वसूली की गईं || शाजापुर जिले में आज 09 कोरोना पाजीटिव मरीज मिले || 8 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई
अन्य ख़बरें
जन हितकारी योजनाओं एवं संदर्भ सेवाओं का लाभ सभी पात्र हितग्राहियों को मिले- कलेक्टर
स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग की संयुक्त समीक्षा बैठक सम्पन्न
शहडोल | 22-अक्तूबर-2020
    कलेक्टर डॉ. सतेंद्र सिंह की उपस्थिति में आज कलेक्टर कार्यालय के सभागार में स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के संचालित राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों एवं संदर्भ सेवाओं तथा योजनाओं की समीक्षा सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि सभी स्वास्थ्य संस्थाओं में साफ-सफाई एवं स्वच्छता बनाएं। उन्होंने कहा कि उप स्वास्थ्य केन्द्र पूर्ण रूप से साफ सुथरा बनाएं यह सुनिष्चित करें। इसी प्रकार सभी ऑगनबाडी केन्द्र भवन साफ-सफाई एवं पुताई करा लें जिससे ऑगनबाडी में बच्चे साफ-सुथरे एवं स्वच्छ वातावरण में आकर ऑगनबाडी संदर्भ सेवाओं का लाभ ले सके। ऑगनबाडी केन्द्रों में बनने वाली पोषण वाटिका को अधिक व्यवस्थित एवं विस्तृत बनायी जायें।
   बैठक में कलेक्टर ने कहा कि शिशु मृत्यु एवं मातृ मृत्यु की ऑडिट घर-घर जाकर स्वास्थ्य कार्यकर्ता, ऑगनबाडी कार्यकर्ता करें और सुपरवाइजर तथा सीडीपीओ, बीएमओ, सेक्टर मेडिकल ऑफिसर उसकी सतत मॉनिटरिंग करें, जिससे यह जाना जा सके कि शिशु की मृत्यु या असमय हुई गर्भवती माता की मृत्यु का मूल कारण क्या था और हम उसे समय रहते दूर किया जा सकें। कलेक्टर ने कहा कि  ऑगनबाडी सुपरवाइजर, सीडीपीओ, सेक्टर मेडिकल ऑफिसर एवं खण्ड चिकित्सा अधिकारी अपने अधिनस्थ क्षेत्रों में भ्रमण कर यह सुनिश्चित करें कि उनके कार्यकर्ताओं द्वारा हर ग्राम के गर्भवती माताओं का पंजीयन उनकी प्रसव की अनुमानित तिथि तथा मोबाइल नम्बर दर्ज हो और ऑगनबाडी कार्यकर्ता एवं सुपरवाईजर उनसे समय-समय पर गृह भेंट करें तथा उनकी पोषण एवं स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहें।
   बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले के सभी एनआरसीओ में कुपोषित बच्चो को भर्ती कराया जायें, यह सुनिश्चित कराया जायें कि एनआरसी में कोई भी बेड़ रिक्त न रहें। बैठक में कलेक्टर ने कहा कहा कि स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी संयुक्त रूप से सेक्टर एवं खण्ड स्तर पर कार्यक्रमों एवं संदर्भ सेवाओं की समीक्षा कर उनमें प्रगति लाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि संजीवनी क्लीनिक का जिले में संचालन स्लम क्षेत्र किया जायें जहॉ गरीब एवं पिछडे वर्गो को समय पर समुचित चिकित्सा प्रदान हो सके। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना महामारी का संक्रमण बहुत तेजी से कम हुआ है लेकिन हमे और अधिक सर्तक तथा सॉवधान रहना है, सोशल डिस्टेंसिंग, घर से बाहर निकलते समय मास्क का उपयोग एवं बार-बार साबुन से हाथ धोना जरूरी है। कलेक्टर ने कहा कि हर व्यक्ति को यह सोचना चाहिए कि अपने पद का उपयोग किस प्रकार मानव कल्याण एवं समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति तक सेवाएं एवं योजनाऍ पहॅुचा सकें तथा उसका लाभ दिलाकर गरीब परिवार में सुख, समृद्धता लाकर उसे विकास की मुख्य धारा में जोड़ सके।
       बैठक में अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा ने कहा कि प्रसूति सहायता योजना एवं जननी सुरक्षा योजना का लाभ हर पात्र हितग्राही को मिले समय पर उन्हें शासन से मिलने वाली आर्थिक लाभ का भुगतान किया जायें। उन्होंने कहा कि लेवल-1,2 एवं 3 श्रेणी की सभी स्वास्थ्य संस्थाओं को और अधिक प्रभावी बनाया जायें। साथ ही हेल्थवेलनेश सेंटर को भी सशक्त किया जायें। अपर कलेक्टर ने बैठक में कहा कि बच्चो का टीकाकरण एवं महिला एवं बाल विकास की संदर्भ सेवाओं की समीक्षा मै स्वयं करूँगा इसके लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश पाण्डेय एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल को निर्देशित किया कि अपने विभागीय व्हाट्एप्प में जोड़े। उन्होंने कहा कि सभी सीडीपीओ यह सुनिश्चित करें कि एनआरसी में एक भी बेड़ खाली न रहें।
   बैठक में अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राजेश पाण्डेय, महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री मनोज लरोकर, सिविल सर्जन डॉ. व्ही.एस. वारिया, डीपीएम श्री मनोज द्विवेदी, जिला महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ. अंशुमन सोनारे, जिले के स्वास्थ्य कार्यक्रमो के नोड़ल अधिकारी, सभी खण्ड चिकित्सा अधिकारी, सीडीपीओ सहित अन्य संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।
 
(39 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अक्तूबरनवम्बर 2020दिसम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2627282930311
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer