समाचार
|| कोरोना संबंधित लक्षण महसूस होने पर तत्काल फीवर क्लीनिक पर जांच कराएं || अब जिले में लागू रहेगा 17 मई की प्रातः 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू || केंद्रीय एजेंसियों से समन्वय एवं विदेशी आयातित सामग्री के लिए राज्य नोडल अधिकारी नियुक्त || 15 मई तक सब कुछ बंद कर दें, संक्रमण की चेन तोड़ दें || ’कोरोना योद्धाओं की समर्पित सेवा एवं आत्मविश्वास से अप्रैल माह में 2619 मरीजों ने कोरोना पर पायी विजय’ || संजय गांधी अस्पताल में रेडक्रास द्वारा दो कोविड सहायता केन्द्र संचालित || संतोष साकेत ने जीती कोरोना से जंग "सफलता की कहानी" || राहत की बड़ी ख़बर - सात मई से प्रारंभ हो जाएगा कैंसर चिकित्सालय भवन में कोविड हास्पिटल || मुख्यमंत्री श्री चौहान 75 लाख किसानों के खाते में अंतरित करेंगे 1500 करोड़ रूपये || होम आइसोलेशन रोगियों की उपचार व्यवस्थाओं का सांसद ने लिया जायजा
अन्य ख़बरें
मच्छरदानी का उपयोग करने और घरों के आसपास नीम का धुआं करने की सलाह
-
उमरिया | 27-अक्तूबर-2020
   वर्तमान मौसम परिवर्तन की स्थितियों में सामान्य रूप से मच्छर जनित बीमारियों से प्रभावित होने की आशंका आमजन के लिए बढ़ जाती है। वर्षा के बाद पानी जगह जगह भरा है जिसमें मलेरिया और डेंगू के मच्छर पनपते है ऐसे पानी भराव वाली स्थानों पर दवाई का छिड़काव व बड़ी जगहों पर गम्बूसिया मछली डाली जा रही है। घरों में ट्यूब-टायर, बर्तनों में पानी भरा नहीं रहने दें। प्रत्येक 2-3 दिन में कूलर का पानी बदलते रहें। घरों में मच्छरदानी का प्रयोग करें। बच्चों को पूरे अस्तीन के कपड़े पहनाये और शाम को घरों के आसपास नीम का धुआं करे।
    बुखार के लक्षण दिखाई देने पर तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर जाकर उचित जांच एवं उपचार कराना चाहिए। मलेरिया की जांच कराए रक्त पट्टिका बनाकर खून की जांच कराये। डॉक्टर की सलाह पर ही दवाई गोली ले और इसके साथ ही टाइफाइड से बचने के लिए पेयजल छानकर एवं उबालकर उपयोग करें। फल या सब्जी को पानी से धोकर ही उपयोग करें। खाना खाने से पहले अपने हाथ साबुन से अच्छी तरह धोएं। व्यक्तिगत स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें। खाना खाने से पहले अपने हाथ साबुन से अच्छी तरह धोएं। व्यक्तिगत स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें। घर के आसपास साफ-सफाई का ध्यान रखें। किचन में भोज्य पदार्थ ढांक कर रखें। पानी पीने के लिए हेंडल वाले मग का उपयोग करें। बासी भोजन का प्रयोग ना करे, ताजा भोजन करें। दरवाजों के हैंडल, टेलीफोन व नल पर होने वाली गंदगी से बचें। नियमित तथा तेज बुखार के साथ उल्टी की शिकायत होने पर नजदीकी शासकीय स्वास्थ्य केन्द्र पर चिकित्सक से संपर्क करें। सभी सरकारी अस्पतालों में मलेरिया और डेंगू की जांच उपचार की सुविधा निशुल्क उपलब्ध है।
 
(191 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2021जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
262728293012
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer