समाचार
|| सांस्‍कृतिक/सामाजिक, धार्मिक व्‍यवसायिक कार्यक्रमों में अधिकतम 200 लोग किये जा सकेंगे आमंत्रित || मंडी प्रांगण हरदा में सोमवार को कृषि उपजों का नहीं होगा विक्रय || लॉकडाउन में कपिलधारा के कुए से सब्जी उगाकर चलाई आजीविका ‘‘कहानी सच्ची है’’ || विभिन्न पेंशन योजनाओं में 49 हजार हितग्राहियों को तीन करोड़ का भुगतान || उपचार हेतु पन्द्रह हजार रुपए के आहरण की स्वीकृति || जिले में एस.एस.पी. उर्वरक के क्रय-विक्रय पर लगा प्रतिबंध यथावत रहेगा || प्रचार रथ का ग्रामीणजन उठा रहे हैं लाभ || अधिकारियों की संयुक्त टीम ने किया धान खरीदी केन्द्र का निरीक्षण || मुख्यमंत्री श्री चौहान 5 दिसंबर को नगरीय निकायों को स्वच्छता सेवा सम्मान- 2020 से करेंगे सम्मानित || मंत्री श्री सखलेचा आज जावद आएंगे
अन्य ख़बरें
होम आईशोलेन के लिए नई गाईड लाइन जारी
-
भोपाल | 09-नवम्बर-2020
देश-प्रदेश के साथ-साथ जिले में लगातार बढ़ रहें संक्रमितों के आंकड़ो के बाद और मरीजों को संस्थागत क्वारेंटाइन में आने वाली समस्या को ध्यान में रखते हुए सरकार ने होम आइसोलेशन की गाइडलाइन में बदलाव किया है। लक्षण रहित कोरोना पॉजिटिव मरीज जिनकी संख्या काफी अधिक रहती है, अपनी रिपोर्ट आने के बाद से ही घर पर रहकर ही अपना इलाज करा सकेंगे। साथ ही उनकों घर पर चिकित्सीय सहायता भी मिलेंगी।
     लक्षण रहित या अति मंद लक्षण वाले कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति जिनकी उम्र 60 वर्ष से कम है एवं जिन्हें पूर्व से हाइपरटेंशन, डायबिटीज, हृदय रोग, लंग्स, लीवर, किडनी, एचआईवी, ट्रांसप्लांट केस, कैंसर जैसी कोई अन्य बीमारी न हो, उन्हें घर पर सेल्फ आइसोलेशन की समुचित व्यवस्था, जैसे मरीज के लिए पृथक कक्ष एवं शौचालय की उपलब्धता होने पर, एमबीबीएस चिकित्सक के आंकलन एवं अनुशंसा पर होम आइसोलेशन का विकल्प दिया जा सकता है। ऐसे संक्रमित व्यक्तियों के घर में सेल्फ आइसोलेशन एवं परिजनों के क्वारेंटाइन की पूर्ण सुविधा उपलब्ध होना अनिवार्य होगा।
होम आइसोलेशन में है अनिवार्य रूप से यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कोविङ-19 के संक्रमित व्यक्ति या रोगी के देखभाल के लिये एक व्यक्ति उपलब्ध रहें तथा वह एमएमयू मेडीकल ऑफिसर, कोविड अस्पताल जिनका फोन नंबर उनके पास उपलब्ध रहेगा, के साथ सम्पूर्ण होम आइसोलेशन की अवधि में सम्पर्क में रहेंगे। इस देखभालकर्ता को आरोग्य सेतु एप एवं सार्थक एप डाउनलोड करना अनिवार्य होगा। कोविड संक्रमित व्यक्ति के देखभालकर्ता एवं निकट सम्पर्क व्यक्तियों को उपचार करने वाले चिकित्सक द्वारा हाइड्रोक्सिक्लोरोक्यून टेबलेट का प्रोफाइलेक्टिक डोज पूर्ण सतर्कता बरतते हुए दिया जाना सुनिश्चित किया जाएगा।
होम क्वारेंटाइन में रह रहे व्यक्ति एवं उसके देखभालकर्ता का यह प्रथम दायित्व होगा की मरीज को सांस लेने में कठिनाई, निरंतर दर्द, छाती में दबाव, भारीपन, मानसिक भ्रम या सचेत होने में कठिनाई, होंठ, चेहरे का नीला पड़ना आदि लक्षण होने पर होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति तत्काल मोबाईल मेडिकल यूनिट के डॉक्टर अथवा 104 पर चिकित्सीय सहायता के लिये सम्पर्क कर सकेंगे।
कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति द्वारा सदैव ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाए एवं मॉस्क के भीगने, गंदा होने पर मॉस्क बदला जाए। मॉस्क को एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट से विषाणमुक्त करके ही निपटान किया जाए। कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति, घर के अन्य वृद्धजन, उच्च रक्तचाप, दिल, गुर्दे के रोग से ग्रस्त सदस्यों से दूर, अपने कक्ष में ही रहे। होम आईसोलेशन के दौरान संक्रमित व्यक्ति द्वारा समुचित आराम किया जाए एवं पर्याप्त पेय पदार्थों और संतुलित आहार का सेवन किया जाए। खाँसते-छींकते समय मुँह को टिशूरुमाल, तौलिया, दुपट्टा, गमछा आदि से ढांका जाए तथा हाथों को साबुन पानी से बार-बार धोया जाये। किसी भी परिस्थिति में व्यक्तिगत वस्तुओं को अन्य सदस्यों के उपयोग के लिये साझा न किया जाए। औषधियों के सेवन के लिये चिकित्सीय परामर्श का अनुपालन किया जाए। सम्पर्क में आने वाले सतहों (टेबल, दरवाजे के हैण्डल,लाइट बटन,मोबाइल आदि) की विषाणु मुक्ति एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट से नियमित रूप से साफ किया जाए।
कोविड-19 केस के देखभालकर्ता द्वारा सदैव संक्रमित व्यक्ति के कक्ष में उपस्थिति के दौरान ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाये। मॉस्क, मुँह व चेहरे को छूने से बचा जाये तथा मॉस्क के भीगने या गंदा हो जाने पर तत्काल बदला जाये। संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने अथवा उपयोग की हुई सतहों के सम्पर्क में आने पर साबुन पानी से हाथ धोया जाये। भोजन पकाते समय, खाने के पूर्व व शौचालय के उपयोग के बाद साबुन पानी से न्यूनतम 40 सेकेण्ड तक हाथ धोया जाये अथवा उनको अल्कोहल युक्त सेनेटाइजर से साफ किया जाये। संक्रमित व्यक्ति से सम्पर्क दौरान दस्ताने का उपयोग किया जाये। संक्रमित वस्तुओं जैसे बर्तन, तौलिया, चादर आदि को सीधे छूने से बचा जाए एवं इस दौरान ग्लब्स एवं ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाए। ग्लब्स उतारने के बाद हाथ अच्छे से धोकर साफ टिशू तौलिये से पोंछा जाये।
   कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति को भोजन उसके कक्ष में ही परोसा जाए व उपयोग किये गये बर्तनों को ग्लब्स पहनकर साबुन पानी से अच्छे से साफ किया जाए। संक्रमित व्यक्ति को समस्त निर्देशित औषधियाँ सेवन कराने का दायित्व देखभालकर्ता का होगा। देखभालकर्ता एवं अन्य सभी निकट सम्पर्क द्वारा अपना दैनिक तापमान तथा अन्य कोविड लक्षण जैसे बुखार, खाँसी, सांस लेने में कठिनाई की निगरानी की जाना अनिवार्य है एवं दैनिक रूप से इसका अपडेट सार्थक एप पर किया जाये। कोई भी लक्षण उत्पन्न होने पर नियत सर्वेलेंस चिकित्सा अधिकारी को सूचित किया जाये।
होम आइसोलेशन में निगरानीबद्ध व्यक्ति को लक्षण उत्पति दिनांक, सेम्पल दिनांक से विगत 10 दिनों से लक्षण रहित होने तथा 3 दिनों से बुखार रहित होने पर डिस्चार्ज किया जाएगा। तत्पश्चात आगामी 7 दिवस तक उक्त व्यक्ति द्वारा घर पर अपने स्वास्थ्य की स्व-निगरानी सुनिश्चित की जाएगी। होम आइसोलेशन की अवधि की समाप्ति पर कोविड जाँच की आवश्यकता नहीं है। कोविड संक्रमित व्यक्ति की जाँच में संक्रमण से मुक्ति पुष्ट होने पर एक लक्षण रहित स्थिति को आंकलित कर, सर्वेलेंस चिकित्सा अधिकारी द्वारा होम आइसोलेशन समाप्ति का लिखित प्रमाण-पत्र दिया जाएगा।
(25 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
नवम्बरदिसम्बर 2020जनवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
30123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer