समाचार
|| एक करोड़ से अधिक के भवन के निर्माण कार्य पीडब्ल्यूडी से कराने के निर्देश || सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिये प्रयास जरूरी – डॉ. कंवर || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पीपल का पौधा लगाया || मेट्रो रेल परियोजना के कार्यों में आ रही बाधाओं को जल्द से जल्द दूर करें – मुख्यमंत्री श्री चौहान || प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री को फोन कर प्रदेश में बाढ़ की स्थिति की जानकारी ली || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रात्रि में स्टेट सिचुएशन रूम पहुंचकर की बाढ़ प्रभावित जिलों में राहत कार्यों की समीक्षा || पात्र व्यक्तियों को योजनाओं का लाभ लेने के लिए युवा प्रेरित करे || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रात्रि में स्टेट सिचुएशन रूम पहुंचकर की बाढ़ प्रभावित जिलों में राहत कार्यों की समीक्षा || कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने नगर के विभिन्न चौराहों, तिराहों एवं सड़कों का किया निरीक्षण || "सेफ टूरिज्म" के लिए मध्यप्रदेश पूरी तरह तैयार : श्री शुक्ला
अन्य ख़बरें
सूदखोरों पर कार्यवाही के लिये बनाया अजजा ऋण विमुक्ति अधिनियम : मुख्यमंत्री श्री चौहान
आदिवासी गौरव दिवस के रूप में मनेगा क्रांतिकारी बिरसा मुण्डा का जन्म-दिन, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्योपुर जिले के ग्राम बरगवां में सहरिया जन-चौपाल में किया संवाद
जबलपुर | 15-नवम्बर-2020
मुख्यमंत्री श्री शिवराज चौहान ने कहा है कि सूदखोरों पर कार्यवाही करने के लिये अनुसूचित-जनजाति ऋण विमुक्ति अधिनियम-2020 बनाया गया है। अधिनियम के अंतर्गत 15 अगस्त, 2020 तक के नियम विरुद्ध तरीके से दिये गये कर्जों को माफ करने की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि क्रांतिकारी बिरसा मुण्डा का जन्म-दिन आदिवासी गौरव दिवस के रूप में मनाया जायेगा। श्री चौहान श्योपुर जिले के आदिवासी विकासखण्ड कराहल के गाँव बरगवां में सहरिया जन-चौपाल में संवाद कर रहे थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सहरिया समुदाय के व्यक्तियों ने जो सूदखोरों के यहाँ गिरवी रखा है, उसे वापस करना होगा। वापस नहीं करने पर 3 साल की सजा होगी। उन्होंने कहा कि कलेक्टरों की जवाबदारी है कि सभी पात्र लोगों को इस कानून का लाभ दिलायें। श्री चौहान ने कहा कि गलत काम करने वाले बख्शे नहीं जायेंगे।
आदिवासी गौरव दिवस
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि क्रांतिकारी बिरसा मुण्डा का जन्म-दिन दीपावली पर आदिवासी गौरव दिवस के रूप में मनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि बिरसा मुण्डा ने अंग्रेजों को भारत से बाहर करने और अन्याय एवं अत्याचार के खिलाफ जबरदस्त लड़ाई लड़ी थी।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसान सम्मान-निधि योजना में मुख्यमंत्री कल्याण-निधि योजना जोड़ी गई है। इससे किसानों को 10 हजार रुपये मिलेंगे। उन्होंने कहा कि पौन एकड़ जमीन पर भी योजना का लाभ दिया जायेगा, छूटे हुए नाम जोड़े जायेंगे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि श्योपुर जिले में 7 हजार खाद्यान्न पात्रता पर्ची जारी की गई हैं। इन पर्चियों में से जो वंचित रह गये हैं, उनके नाम सर्वे करा कर जोड़े जायेंगे। उन्होंने कहा कि गरीबी रेखा की सूची में अमीर लोगों के नाम हों, तो उन्हें हटाएं। श्री चौहान ने कहा कि अगर राशन दुकान दूर हो, तो इनका युक्ति-युक्तकरण किया जाये।
छात्र-छात्राओं को स्व-सहायता समूहों के माध्यम से गणवेश
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-चौपाल में सीधा संवाद करते हुए कहा कि स्कूली विद्यार्थियों को किताबें उपलब्ध करा दी गई हैं। आगामी सत्र से इन्हें स्व-सहायता समूहों के माध्यम से गणवेश बनवा कर दिये जायेंगे। मातृ वंदना योजना में 6096 रुपये की राशि दी जा रही है। योजना में 3556 हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा चुका है। सहरिया परिवार की मुखिया को पोषण-आहार के रूप में एक हजार रुपये की राशि दी जा रही है। सर्वे करा कर सभी पात्र महिलाओं को इसका लाभ दिलाना सुनिश्चित किया जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अटल प्रोग्रेस-वे के माध्यम से श्योपुर जिले में विकास का मार्ग प्रशस्त होगा।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भील जनजाति के लोगों के प्रमाण-पत्र बनाने की दिशा में कार्यवाही की जा रही है। संबल योजना के परिवारों के बच्चों की फीस सरकार भरेगी। सहरिया परिवारों के लिये 100 रुपये बिजली बिल देने की सुविधा दी गई है। उन्होंने विधायक श्री सीताराम आदिवासी की माँग पर डैम, तालाब और सड़क निर्माण का आश्वासन दिया।
सीधा संवाद
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सहरिया जन-चौपाल पर ग्राम बरगवां की सरपंच श्रीमती रामवती आदिवासी, कराहल के सरपंच श्री नंदू आदिवासी, गौरस जय दुर्गे समूह की श्रीमती सुनीता आदिवासी, राधास्वामी समूह मालीपुरा की श्रीमती विमला बाई, कराहल समूह की श्रीमती कलीयाबाई, गढ़ला समूह की श्रीमती निकुड़ी आदिवासी, डूडीखेड़ा की श्रीमती सुनीता भिलवाड़ और जिला पंचायत की पूर्व अध्यक्ष श्रीमती गुड्डीबाई से सीधे बातचीत की। क्षेत्रीय विधायक श्री सीताराम आदिवासी ने भी विचार व्यक्त किये।
चाक घुमाकर बनाये मिट्टी के बर्तन
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्राम बरगवां में श्री कल्याण प्रजापति के घर पहुँचकर पहले मिट्टी के बर्तन बनाने की विधि जानी फिर चाक घुमाकर मिट्टी की बोतल बनाई। उन्होंने मिट्टी से बनने वाले बर्तनों से होने वाली आमदनी की भी जानकारी ली।
सरपंच श्रीमती रामवती के घर किया भोजन
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्राम बरगवां में सहरिया जन-चौपाल के बाद सरपंच श्रीमती रामवती आदिवासी के घर पत्तल पर भोजन किया। सरपंच श्रीमती रामवती ने मुख्यमंत्री की इस सहजता के प्रति उनका धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि यह पूरे समाज के लिये प्रसन्नता का विषय है कि मुख्यमंत्री ने उनके घर में भोजन किया। इस दौरान क्षेत्रीय जन-प्रतिनिधि एवं ग्रामीण उपस्थित थे।
(262 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2021सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2627282930311
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer