समाचार
|| कृषि विज्ञान केन्द्र में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित || अन्तराष्ट्रीय महिला दिवस पर जनसम्पर्क सागर की सहायक संचालक सौम्या समैया हुई सम्मानित || मातृशक्ति स्वस्थ रहेंगी तो संपूर्ण समाज स्वास्थ रहेगा -कमिश्नर श्री शुक्ला || सहारा के बकायादार शीघ्र जमा करें अपने आवेदन -कलेक्टर श्री सिंह || मुख्यमंत्री स्वेच्छानुदान प्रकरणों का तत्काल करें निराकृत -कलेक्टर श्री सिंह || आयुष्मान कार्ड की खराब प्रगति वाले अधिकारियों को जारी होंगे नोटिस -कलेक्टर श्री सिंह || राशन दुकानों का राजस्व अधिकारी करें सघन मॉनीटरिंग कर भौतिक सत्यापन के साथ राशन पर्चियों का करें वितरण -कलेक्टर श्री सिंह || भू-अर्जन के समस्त प्रकरण समय-सीमा में करें निराकृत-कलेक्टर श्री सिंह || लोकसेवा केन्द्रों के व्हाटसएप नंबरों अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करें, फोन पर संपर्क कर घर बैठे सेवाओं का लाभ उठायें || 22 हजार से अधिक प्रकरणों का किया गया व्हाट्सएप के माध्यम से निराकरण
अन्य ख़बरें
कम लगत में मुनाफा अधिक फूलों की खेती रोज आमदनी का जरिया बनी "हितग्राही की जुबानी सफलता की कहानी"
-
विदिशा | 21-नवम्बर-2020
    व्यक्ति में अगर आगे बढ़ने की दृढ़ इच्छा और लगन हो तो न सिर्फ रूकावटें दूर होती हैं बल्कि तरक्की के रास्ते खुद-ब-खुद बनते जाते है। थोड़े से प्रयास और जागरूकता के चलते कृषक गणेश राम कुशवाहाके जीवन स्तर में बदलाव आया है। परम्परागत खेती के बजाय अब वह फूलों की खेती को अपनाकर बेहतर मुनाफा कमाने लगे हैं।
     विदिशा जनपद के ग्राम भाटखेड़ी के किसान गणेश राम कुशवाह ने कर दिखाया हैं। उद्यानिकी विभाग ने उसके सपने को साकार करने में मदद की है।
     परंपरागत खेती में एक बार आमदनी हो रही थी वही उद्यानिकी फूलों की खेती  से अब उसे हर रोज आमदनी होने लगी है।
     खेती और मजदूरी के बीच में उद्यानिकी के नवाचार से लाभान्वित होने पर कृषक की आमदनी में चौतरफा वृद्धि हुई है
    गणेशराम जी ने 3.5 बीघा रकबा में ड्रिप लगा कर कोलकत्ता बाले गेंदा का उत्पादन ले रहे है।
    जिससे उन्हें अच्छा उत्पादन प्राप्त हुआ है वर्तमान में गेंदे से 8 बार तुड़ाई कर ली है जिसमे बाजार मूल्य 30-100 रुपए तक मिल गया था जिससे 3,20,000 रु. प्राप्त कर लिए है और माह दिसम्बर तक 3 तुड़ाई ओर हो जाएगी लगभग 50,000 रु. ओर मिलने की संभावना है इस प्रकार गेंदा की कोलकाता बाली किस्म लगा कर कृषक ने 3.5 बीघा में 3,70,000 रु. प्राप्त किया जिससे कृषि फसल के मुकाबले दो गुना लाभ प्राप्त हुआ।
    गणेशराम जी उद्यानिकी फसले लगते हैं और सिंचाई की उन्नत एवं सर्बोतम विधि ड्रिप का उपयोग करते हैं। इनके पास कम भूमि होने पर भी एक सम्पन परिवार की श्रेणीमें आते हैं।
     उन्होंने अब गेंदा निकलने के बाद मिर्च एवं बेगन लगायेगे जिसकी पौध की तैयारी कर ली है। गणेशराम जी समय-समय पर उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों से तकनीकी जानकारी लेते रहते है।
 
(107 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer