समाचार
|| जिले के 4 ग्रामों में ऑनलाईन विधिक साक्षरता जागरूकता शिविर संपन्न || राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक का आयोजन आज || सहायक संचालक कृषि को 3 दिनों के भीतर जिला कार्यालय में उपस्थिति देने के निर्देश || सोल्जर जी.डी., टेक्निकल और ट्रेडमैन के पदों पर 22 से 27 मार्च तक होगी भर्ती || जिला व बूथ स्तर पर 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाये जाने के निर्देश || ई-अटेंडेन्स प्रणाली “प्रयास“ से हो रहे कार्मिक के सेवा संबंधी काम || ''''स्वामित्व योजना'''' के क्रियान्वयन के लिए भूमि से जुड़े विवादों को दूर करना जरूरी || अंतर्जातीय विवाह प्रोत्साहन योजना में 1338 दम्पत्तियों को दी गई प्रोत्साहन राशि || कोविड-19 के उपचार दर रिशेप्शन काउन्टर पर प्रदर्शित करें || मुख्यमंत्री श्री चौहान 24 जनवरी को करेंगे "पंख अभियान" का शुभारंभ
अन्य ख़बरें
रामनई में विधिक साक्षरता शिविर संपन्न
-
रीवा | 26-नवम्बर-2020
      मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राष्ट्रीय महिला आयोग के संयुक्त तत्वावधान में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जिला एवं सत्र न्यायाधीश एंव अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री अरूण कुमार सिंह के मुख्य आतिथ्य में ग्राम रामनई के शासकीय हाई स्कूल में विधिक साक्षरता शिविर आयोजित किया गया।
        जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री अरूण कुमार सिंह ने कहा कि महिलाओं का चहुमुखी विकास एक लोक कल्याणकारी देश का सदैव उददेश्य रहता है। इसी उददेश्य की पूर्ति हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा महिलाओं हेतु विशेष कानूनी जागरूकता शिविरोे का आयोजन किया जाता है। महिलाओं की स्थिति में सुधार की दिशा में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एक मुख्य भूमिका में है। महिलाओं को उनके अधिकार एवं अन्य कानूनी सुरक्षात्मक प्रावधानों की जानकारी प्रदान करता है, जिससे महिला अपने अधिकारों के बारें में जागरूक व सजग रहें। आज महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है।
       कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री विपिन कुमार लवानिया ने दहेज प्रतिषेध अधिनियम, पीएनडीटी एक्ट ,कार्यस्थल पर महिलाओं का संरक्षण ,अम्ल पीड़ित प्रतिकर योजना एवं पीड़ित प्रतिकर योजना के बारें में विस्तार से जानकारी प्रदान की। अपर जिला न्यायाधीश श्री सुधीर सिंह राठौड़ ने महिलाओं के संबंध में संविधान में वर्णित प्रावधानों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि समाज में स्त्री पुरूष में भेदभाव की गुंजाईश नहीं है। भेदभाव से परे जाकर ही हम उन्नत समाज का निर्माण कर सकते है। अपर जिला एंव सत्र न्यायाधीश श्री उपेन्द्र देशवाल ने पॉक्सो अधिनियम, महिलाओं के संबंध में यौन अपराध संबंधी विधियां व महिलाओं के सम्पत्ति अधिकार विषय पर विस्तार से जानकारी दी।
    जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री अभय कुमार मिश्रा ने नि:शुल्क विधिक सहायता एवं नालसा-सालसा की योजनाओं के बारें में जानकारी दी। महिला अधिवक्ता सुश्री शकुंतला पाण्डेय एवं श्रीमति नीलम सिंह ने घरेलु हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम, भरण-पोषण कानून एवं दहेज प्रतिषेध अधिनियम के संबंध में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। डॉ विवेक द्विवेदी ने कार्यक्रम का संचालन किया। उन्होंने कहा कि कल की तुलना में आज महिलाएं बहुत ऊचाई  पर बैठी हुई है। यह हम सब के लिए प्रेरणात्मक है। शिविर में अनुविभागीय अधिकारी श्री एके सिंह , श्री राहुल नायक, मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री प्रदीप दुबे, रामनई विद्यालय के प्राचार्य श्री बरूनेन्द्र प्रताप सिंह, शिक्षिका बृहाषी पाण्डेय, समाजसेवी  श्री वयाग्रदेव सिंह ,सरपंच श्री राजकुमार यादव, पैरालीगल वालेंटियर्स श्रीमती मीना सिंह , श्री शत्रुघ्न शुक्ला एवं  ग्राम रामनई की महिलाएं उपस्थित थी।
 
(57 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer