समाचार
|| जिले में 1 कोरोना केस मिला || 1 कोरोना मरीज स्वस्थ हुआ || कलेक्टर श्री रत्नाकर झा ने कलेक्टर कार्यालय मे किया ध्वजारोहण || पुलिस परेड ग्राउंड डिंडौरी में हर्षोल्लास और गरिमापूर्वक मनाया गया गणतंत्र दिवस समारोह || सांसद ने किया आधार केंद्र का शुभारंभ || महिला जागरूकता अभियान सम्मान अंतर्गत चयनित प्रतिभागियों को किया गया पुरस्कृत || जिले में हर्षोल्लास और उत्साह के साथ मनाया 72 वाँ गणतंत्र दिवस || गणतंत्र दिवस 26 जनवरी 2021 के अवसर पर कृषि विभाग दमोह झांकी प्रदर्शन || पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पुलिस अधीक्षक हेमंत चौहान ने किया ध्वजारोहण || उत्कृष्ट कार्य के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कर्मचारी सम्मानित
अन्य ख़बरें
सभी निर्माण विभाग उत्तम गुणवत्तायुक्त संरचनाओं का निर्माण करें- राज्यमंत्री श्री परमार
राज्यमंत्री श्री परमार ने निर्माण विभागों द्वारा किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की
शाजापुर | 27-नवम्बर-2020
 
     सभी निर्माण विभाग सुनिश्चित करें कि उनके द्वारा निर्मित की जा रही संरचनाओं जैसे कि भवन, सड़क, तालाब, बैराज, जलाशय आदि उत्तम गुणवत्तायुक्त हो। उक्त निर्देश प्रदेश के स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री श्री इंदरसिंह परमार ने आज जिला मुख्यालय पर सभी निर्माण विभागों के अधिकारियों को दिये। इस अवसर पर कलेक्टर श्री दिनेश जैन, अपर कलेक्टर श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व शाजापुर श्री एस.एल. सोलंकी, जिला शिक्षा अधिकारी श्री यू.यू. भिड़े, पूर्व मंडी अध्यक्ष शुजालपुर श्री कैलाश सोनी सहित विभिन्न निर्माण विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
      राज्यमंत्री श्री परमार ने कहा कि भवन निर्माण के पश्चात आमतोर पर छत टपकने की सबसे ज्यादा शिकायत मिलती है। उन्होंने निर्देश दिये कि सभी अधिकारी सुनिश्चित करें कि भवन निर्माण के दौरान ही छत की गुणवत्ता का ध्यान रखें। लोक निर्माण विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए राज्यमंत्री श्री परमार ने कहा कि शुजालपुर के चिकित्सालय की मरम्मत के लिए प्रस्ताव बनाए। कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण श्री रविन्द्र कुमार वर्मा ने बताया कि जिले में 129 करोड़ 87 लाख 58 हजार के 24 कार्य स्वीकृत हैं, इससे 143.90 किलोमीटर सड़कों का निर्माण होगा। इनमें 19 कार्य प्रगतिरत है तथा 5 कार्य निविदा स्तर पर लंबित है। विभागीय मद से मजबूतीकरण के 9 कार्य स्वीकृत हैं जो प्रगतिरत है, जिसकी अनुमानित लागत 11 करोड़ 52 लाख 14 हजार रूपये है। पीआईयू संभागीय परियोजना यंत्री श्री राजेश रायकवार ने बताया कि जिले में उच्च शिक्षा, आयुष, महिला एवं बाल विकास, लोक शिक्षण, राजस्व एवं सामाजिक न्याय विभाग से संबंधी कुल 28 कार्य प्रगतिरत हैं, जिनकी प्रशासकीय लागत 66 करोड़ 4 लाख रूपये है। पीआईयू के कार्यों की समीक्षा करते हुए मंत्री श्री परमार ने लोक शिक्षण विभाग के कार्यों को प्राथमिकता के साथ मार्च 2021 के पूर्व पूर्ण करने के लिए कहा, ताकि नए सत्र में बच्चे नए विद्यालय में अध्ययन कर सकें। तहसील भवन के लिए प्रस्ताव तैयार करते समय एक सभा कक्ष के निर्माण को भी रखें, जिसमें कम से कम 100 लोगों की एक साथ बैठक ली जा सके। सामान्य प्रशासन विभाग मद से निर्मित होने वाले आवासीय भवनों को भी उपयोगितानुसार डिजाइन कर प्रस्ताव बनाए। जलसंसाधन कार्य पालन यंत्री श्री पी.सी. सांकला ने बताया कि जिले में 2 मध्यम परियोजनाएं एवं 88 लघु सिंचाई योजनाएं इस प्रकार कुल 90 योजनाएं संचालित है, इससे 31975 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई का कार्य हो रहा है। राज्यमंत्री श्री परमार ने ग्राम भेंसरोद, नरोला, खोकरा, सुवागांव, सिमरोल एवं अकोदिया के पुराने तालाबों को पुनर्जिवित करने के लिए योजना बनाने के निर्देश दिये। कार्यपालन यंत्री ने बताया कि जिले में सालिया, ढाबलाधीर एवं मुरादपुरा लोंदिया बेराज की योजनाओं की साध्यता दर्ज की गई है, जिसकी अनुमानित लागत 27 करोड़ 96 लाख 50 हजार रूपये है, इससे 1655 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई प्रस्तावित है। मध्यप्रदेश गृह निर्माण एवं अधोसंरचना विकास मंडल के कार्यपालन यंत्री ने बताया कि अनुसूचित जाति विभाग के 50 शैया वाले 3 छात्रावासो का निर्माण किया जाना है। इसी तरह विश्व बैंक परियोजना के अंतर्गत उच्च शिक्षा विभाग के तहत 3 कार्य तथा लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग का एक कार्य धार्मिक न्यास एवं धर्मस विभाग के कुल 13 कार्य क्रियान्वित किये जा रहे हैं। राज्यमंत्री श्री परमार ने सभी कार्यों में गुणवत्ता बनाए रखने के निर्देश दिये। ग्रामीण यांत्रिकी सेवा कार्यपालन यंत्री श्री प्रवेश सोनी ने बताया कि जिला पंचायत मद से 02, विधायक निधि के 11, आदिम जाति विकास मद के 04, आयुष विभाग का 01 कार्य संचालित है। सड़क विकास निगम के कार्यों की समीक्षा के दौरान प्रबंधक ने बताया कि जिले में वर्तमान में कोई भी कार्य निर्माणाधीन या प्रगतिरत नहीं है। जिले में 07 कार्य पूर्ण हो चुके हैं, जो अच्छी स्थिति में है। सुंदरसी-पोलायकलां मार्ग के लिए डीपीआर तैयार की जा रही है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री विजयसिंह चौहान ने बताया कि जिले में जल जीवन मिशन से प्रस्तावित एवं जिला जल एवं स्वच्छता मिशन द्वारा अनुमोदित रेट्रोफिटिंग की 25 योजनाएं तैयार की गई है। इस योजना से 22 हजार 232 कनेक्शन दिया जाना प्रस्तावित है। राज्यमंत्री श्री परमार ने कहा कि ग्रीष्म ऋतु में पेयजल संकट से निपटने के लिए अभी से तैयारी रखें। कार्यपालन यंत्री अपने अधिनस्थों के साथ बैठक कर कार्ययोजना बनाए। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की जानकारी कार्यपालन यंत्री ने भी जिले में निर्माणाधीन एवं प्रस्तावित सड़को की जानकारी दी।
(60 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer