समाचार
|| जिले में हर्षोल्लास और उमंग के साथ मनाया जाएगा गणतंत्र दिवस || पर्यटन मंत्री सुश्री ठाकुर ने किये केरल के साथ टूरिज्म एमओयू पर हस्ताक्षर || उद्यानिकी विभाग ने बनाया किसानों की आय दो गुनी करने का रोड मैप - राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह || सरदार वल्लभ भाई पटेल का ''''विजन'''' और भारतीय रेल का ''''मिशन'''' यहां साकार हो रहे हैं "एक भारत श्रेष्ठ भारत" की सुंदर तस्वीर प्रस्तुत कर रहा है आज केवड़िया || रोजगार मेले का आयोजन 20 जनवरी को होगा || गणतंत्र दिवस आयोजन के लिये जिम्मेदारियां सौंपी || सीएम हेल्पलाइन में 24 घंटे के अन्दर शिकायतकर्ता को फोन नहीं करने वाले एल-1 अधिकारी का एक माह का वेतन कटेगा || 26 जनवरी से चरक भवन में आईओटी प्रारम्भ होगा || उद्यानिकी विभाग ने बनाया किसानों की आय दो गुनी करने का || स्वच्छता अभियान के अच्छे परिणाम प्राप्त हुए हैं : श्री सखलेचा
अन्य ख़बरें
बद्री चेनसिंह बने जमीन के मालिक, अब रहेंगे चौन से, कोई नहीं कर पाएगा परेशान (खुशियों की दास्तां)
-
बड़वानी | 05-दिसम्बर-2020
   विकासखंड सेंधवा के ग्राम टीघाली के निवासी श्री बद्रीलाल चौनसिंह के हाथों में जैसे ही कलेक्टर ने वन अधिकार पत्र सौंपा, वैसे ही श्री बद्रीलाल की आंखें नम हो गई। खुशी के इन आंसुओं को पोछते हुए कहने लगे कि, अब जमीन से बेदखल की तलवार हटते ही वे अपनी इस भूमि पर अपनी पत्नी रेशम बाई और दो बेटों के साथ चौन से रह कर अपनी उन्नति कर पाएंगे।
   ग्राम टीघाली के 0.981 वन भूमि पर वर्षों से कब्जा कर खेती करने वाले श्री बद्रीलाल बताते हैं कि वन भूमि होने के कारण हमेशा भय बना रहता था कि ना जाने कब वनरक्षक आकर बेदखल कर देंगे। जिसके कारण में चाह कर भी अपनी भूमि पर उन्नत खेती करने का साहस  नहीं जुटा पा रहे थे। किंतु अब सरकार ने पट्टा देकर जो राह दिखाई है, उस राह पर चलते हुए वे शीघ्र उन्नत किसान बनकर अपना और अपने परिवार का विकास कर पाएंगे।
   ज्ञातव्य है कि श्री बद्रीलाल को उनके कब्जे की इस वन भूमि का पट्टा देने के साथ-साथ कुआं बनवाने हेतु भी आर्थिक सहायता सरकार ने उपलब्ध कराई है। जिसके कारण श्री बद्रीलाल को पूर्ण विश्वास हो चला है कि वे अब अपने परिवार के विकास का नया ताना-बाना सरलता से बुन पाएंगे।
(44 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer