समाचार
|| राज्य मंत्री श्री यादव ने जिला जेल का किया औचक निरीक्षण || किसान और खेती देश की मजबूत अर्थव्यवस्था के हैं आधार : मंत्री श्री पटेल || निःशुल्क कोविड टीकाकरण लगाने के लिए एक मार्च से शुरू होने वाले अभियान में अधिक से अधिक लोग टीकाकरण का लाभ लें: कलेक्टर || कृषि मंत्री श्री पटेल द्वारा आत्मा कार्यालय भवन उर्वरक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला का लोकार्पण || स्वच्छता अभियान के तहत कलेक्टर एवं अधिकारियों ने कलेक्ट्रेट परिसर की सफाई की || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पश्चिम बंगाल के जगतवल्लभपुर में बाँस का पौधा लगाया || मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा राष्ट्रीय विज्ञान दिवस की बधाई || देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी श्रद्धांजलि || किसानों की मेहनत मध्यप्रदेश को फिर बनाएगी सिरमौर : मुख्यमंत्री श्री चौहान || आज दिनांक तक 75138 व्यक्तियों का लिया गया सैंपल
अन्य ख़बरें
2 फर्मों के खाद्य नमूने अमानक पाये गये
-
उज्जैन | 08-जनवरी-2021
     कलेक्टर श्री आशीष सिंह के निर्देश एवं अभिहित अधिकारी व संयुक्त कलेक्टर श्री जगदीश मेहरा के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा प्रशासन की टीम द्वारा मिलावट से मुक्ति अभियान के अंतर्गत लगातार निरीक्षण एवं नमूना कार्यवाही की जा रही है। साथ ही खाद्य विश्लेषक द्वारा प्राप्त अवमानक/मिथ्याछाप/असुरक्षित एवं अन्य अपराध पर अभियोजन की कार्यवाही भी की जा रही है। टीम द्वारा विगत 22 दिसम्बर को जूना सोमवारिया उज्जैन स्थित राजा बेकरी एवं बड़नगर रोड स्थित चांदनी बेकरी पर निरीक्षण कर नमूना कार्यवाही की गई थी, जिनके नमूने राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला भेजे गये थे। खाद्य विश्लेषक, राज्य खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला की जांच रिपोर्ट अनुसार राजा बेकरी एवं चांदनी बेकरी के अधिकांश नमूने फेल पाये गये है।
   खाद्य एवं औषधी प्रशासन विभाग के अधिकारी श्री बसन्तदत्त शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि इनमें राजा बेकरी के टोस्ट (खुला) में सेकरीन की मिलावट, तिल्ली टोस्ट मिथ्याछाप, पिस्ता टोस्ट मिथ्याछाप, पाम ऑईल (खुला) अवमानक, शुद्ध भोग मैदा मिथ्याछाप पाये गये। इसी प्रकार न्यू चांदनी बेकरी के न्यू चांदनी टोस्ट (पैक्ड) मिथ्याछाप और रिफाइंड पाम ऑईल (खुला) अवमानक पाया गया।
    श्री जगदीश मेहरा द्वारा बताया गया कि राजा बेकरी से लिये गये टोस के नमूने में सेकरिन पाये जाने से नमूना असुरक्षित घोषित किया गया है, जिसमें बेकरी संचालक के विरूद्ध प्रकरण खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006, नियम एवं विनियम-2011 की धारा 59(1) के अंतर्गत माननीय न्यायालय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, उज्जैन में प्रस्तुत किया जावेगा। प्रकरण में धारा 59(1) के अंतर्गत अधिकतम छह माह का कारावास एवं अधिकतम एक लाख रूपये अर्थदण्ड का प्रावधान है। वहीं चांदनी बेकरी से लिये गये नमूने अवमानक एवं मिथ्याछाप पाये जाने से संचालक के विरूद्ध प्रकरण माननीय एडीएम न्यायालय में प्रस्तुत किया जावेगा, जिसमें अधिनियम की धारा 51 एवं 52 के अंतर्गत अधिकतम पांच लाख रूपये के अर्थदण्ड का प्रावधान है। मिलावटी खाद्य पदार्थों के निर्माता एवं विक्रेता पर प्रशासन द्वारा कार्यवाही लगातार जारी रहेगी।


 
(51 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2021मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer