समाचार
|| बजट में कोई नया कर नहीं : मुख्यमंत्री श्री चौहान || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सांसद श्री नंदकुमार सिंह चौहान के अंत्येष्टि कार्यक्रम में श्रद्धांजलि अर्पित की || जिला पंचायत सामान्य सभा बैठक में ग्राम सड़क, विद्युतीकरण के साथ ही अन्य विषयक की गई चर्चा || समाधान ऑनलाइन कार्यक्रम 4 मार्च को || वन नेशन वन राशन का लाभ प्रत्येक पात्र हितग्राही को मिले || टीबी मुक्त मध्यप्रदेश एक जन आन्दोलन का जिपं. अध्यक्ष तथा कलेक्टर की उपस्थिति में हुआ शुभारम्भ || गेहूँ उपार्जन, परिवहन और भंडारण की अग्रिम व्यवस्थाएँ हुई || शासन द्वारा कोविड गाइडलाइन को अधीनस्थ अधिकारियों को समझाया - जिला सीईओ || स्व-सहायता समूह की चल निकली सवारी गाड़ी (खुशियों की दास्तां) || रबी उपार्जन के लिए किसानों का पंजीयन अब 5 मार्च तक
अन्य ख़बरें
आजीविका मिशन से आत्म निर्भरता की ओर बढ़े कदम (खुशियों की दास्तां)
मुख्यमंत्री से सीधा संवाद करके बेहद खुश हैं उसरार की अनीता
सतना | 08-जनवरी-2021
    जिले में ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका मिशन द्वारा गठित स्व सहायता समूह आत्म निर्भरता की ओर अग्रसर हो रहे है। समूह की महिलाएं बचत राशि एवं आजीविका मिशन द्वारा उपलब्ध कराई गई राशि से स्थानीय स्तर पर छोटे-छोटे व्यवसाय के माध्यम से परिवार का संचालन तो कर ही रही हैं, साथ ही अपने गांव को भी आत्मनिर्भर बनाने में सहयोग दे रही हैं।
    जिले की नागौद तहसील के ग्राम उसरार में राधाकृष्णा स्व-सहायता समूह की महिलाओ द्वारा सिलाई कर समूह की हर एक महिला को लखपति क्लब में शामिल करने का लक्ष्य तय किया है। समूह की सचिव श्रीमती अनीता माझी 8 जनवरी को प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान से सजीव संवाद कर बेहद खुश एवं उत्साहित हैं। अनीता ने बताया कि आजीविका मिशन से जुड़कर हम लोग महीनें में 10 हजार रूपये तक कमा लेते है। सिलाई केन्द्र का शुभारंभ हो जाने से गणवेश सिलाई का कार्य मिल गया है। इससे हमारी आमदनी और बढ़ जाएगी।
     अनीता ने मुख्यमंत्री को बताया कि हमारे गांव में आटा चक्की, राइस मिल, किराना स्टोर, स्टेशनरी, चाट-ठेला, होटल का व्यवसाय महिला समूहों द्वारा किया जा रहा है। हमारे पति भी अन्य व्यवसाय कर रहे हैं। कुल मिलाकर प्रतिमाह 18-19 हजार रूपये तक की आय हो जाती है। अनीता माझी का कहना था कि अब स्व-सहायता समूह की महिलाएं घर से बाहर निकलकर बैंक और ब्लाक ऑफिस जाने लगी हैं। कोरोना काल में भी महिला स्व-सहायता समूहों ग्राम संगठन ने 10 हजार मास्क तैयार कर 90 हजार रूपये कमाए। इसी प्रकार सैनेटाईजर का विक्रय कर 10 हजार रूपये का लाभ उठाया। उसरार गांव में कुल 156 परिवारों की महिलाएं 13 स्व-सहायता समूहों के माध्यम से जुड़कर महिला सशक्तिकरण के आंदोलन में हिस्सेदारी निभा रही हैं। समूह की मदद के लिए शासन द्वारा भी हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। समूह की महिलाएं समूह से जुड़कर अपनी अलग पहचान बना रही हैं एवं अपने ग्राम व परिवार को आगें बढ़ा रही हैं। महिलाएं स्वाबलंबी एवं आत्मनिर्भर बनने की दिशा में कदम से कदम मिलाकर चल रही हैं। अब महिलाएं सामाजिक निर्णयो में भी अपनी भूमिका निभा रही है। प्रदेश सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण हेतु चलाए गए अभियान के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को राधाकृष्णा समूह की महिलाओ द्वारा धन्यवाद ज्ञापित किया गया।
 
(54 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer