समाचार
|| कलेक्टर पर लाठी उठाने एवं नपा के कर्मी पर चाटा मारने वाली वृद्धा को पहुंचाया गया वृद्धा आश्रम || दीनदयाल अन्त्योदय रसोई केन्द्र में लोग दे रहे है अपना सहयोग || कला और हुनर के अदभुत संगम से कला प्रेमियों और पर्यटकों का सीधा संवाद - खजुराहो नृत्य समारोह || 27 एवं 28 फरवरी को बिजली बिल भुगतान केन्द्र खुलेंगे || "प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि" आजाद भारत में सबसे बड़ा उपहार - मंत्री श्री पटेल || शिक्षा में प्रथम चिंतन राष्ट्रहित में हो : राज्य मंत्री श्री परमार || मानसून के पूर्व सभी भवनों के प्लिंथ लेवल को पूरा करें || सड़क दुर्घटनाओं में कमी के लिये सशक्त यातायात प्रबंधन आवश्यक-एडीजी श्री सागर || एमएमएमवीवाय के तहत पॉलीटेक्निक के छात्रों के लिए भी बनेगी नीति || युवाओं को प्रदेश में ही मिलेगा रोजगार : लोक निर्माण मंत्री श्री भार्गव
अन्य ख़बरें
जिला प्रशासन की सक्रियता से सकुशल वापस लौटे बंधक बनाये गये 52 श्रमिक
मंगलवार की जनसुनवाई में ग्रामीणों ने की थी शिकायत, कलेक्टर श्री मिश्रा से गंभीरता से लिया मामला, तुरन्त एक्शन से मिली सफलता सोलापुर एसपी तेजस्वी सतपोटे, इन्सपेक्टर महाराष्ट्र पुलिस नितिन थेटे और एसडीएम टीकमगढ़ सौरभ सोनवाने का रहा सक्रिय सहयोग
कटनी | 09-जनवरी-2021
    जिला प्रशासन की सक्रियता और महाराष्ट्र की सोलापुर पुलिस के सहयोग से सोलापुर में बंधक बनाये गये 52 श्रमिकों को छुड़ाने में सफलता मिली है। शुक्रवार की देर रात 2 बजे श्रमिकों को सकुशल स्लीमनाबाद लाया गया। पूरे मामले के अनुसार मंगलवार की जनसुनवाई में बहोरीबंद तहसील के ग्राम धनवाही के ग्रामीणों ने आकर पुलिस अधीक्षक कार्यालय में इस विषय में शिकायत दर्ज कराई थी। इसकी जानकारी जैसे ही कलेक्टर प्रियंक मिश्रा को मिली, उन्होने मामले की संवेदनशीलता को समझते हुये तुरंत ही बहोरीबंद एसडीएम रोहित सिसोनिया (आईएएस) को प्रकरण की जांच करने और त्वरित रुप से जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।
            एसडीएम श्री सिसोनिया ने तत्परता के साथ बंधक बनाये गये श्रमिकों की जानकारी एकत्र की। साथ ही उन्होने श्रमिकों से व्यक्तिगत रुप से बात की और पूरी जानकारी ली। जिसमें इस बात की पुष्टि हुई कि श्रमिकों को झांसा देकर सोलापुर जिले के कंदल गांव नामक स्थान ले जाया गया है। जहां पर इनसे अत्याधिक काम कम पैसे देकर जोर-जबरजस्ती से कराया जा रहा है।
            शिकायत की पुष्टि होने पर कलेक्टर श्री मिश्रा एवं एसडीएम श्री सिसोनिया ने महाराष्ट्र के अधिकारियों से संपर्क किया। जिसमें महत्वपूर्ण सहयोग टीकमगढ़ जिले में पदस्थ एसडीएम सौरभ सोनवाने (आईएएस) ने भी किया। श्री सोनवाने ने महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में पदस्थ पुलिस अधीक्षक तेजस्वी सतपोटे से बात की और उन्हें पूरा घटनाक्रम तथा श्रमिकों की समस्या बताई।
            श्रमिकों की समस्या संज्ञान में आते ही पुलिस अधीक्षक तेजस्वी सतपोटे ने मामले को अत्याधिक गंभीरता से लेते हुये 5 जनवरी को ही विषेश टीम का गठन करते हुये कार्य में लगाया। जिसके बाद चौबीस घंटे के भीतर ही 6 जनवरी टीम छापामार कार्यवाही करते हुये सभी बंधक बनाये गये 52 श्रमिकों को अपनी अभिरक्षा में लिया। साथ ही उन्हें वाहनों के माध्यम से मंदरुप थाने ले गये।
            7 जनवरी की सुबह श्रीमती तेजस्वी सतपोटे द्वारा विशेष वाहन से बंधनमुक्त कराये गये श्रमिकों को गृह जिला कटनी के लिये जाने के लिये सोलापुर से नागपुर के लिये रवाना किया गया। जहां पर कलेक्टर प्रियंक मिश्रा के द्वारा की गई वाहन व्यवस्था से उन्हें नागपुर से उनके ग्राम धनवाही, कारीपाथर, बंधी स्टेशन सकुशल लाया गया है।
            कलेक्टर श्री मिश्रा ने बताया कि इस पूरे ऑपरेशन में पुलिस अधीक्षक सोलापुर श्रीमती तेजस्वी सतपोटे, इन्सपेक्टर महाराष्ट्र पुलिस नितिन थेटे और एसडीएम टीकमगढ़ सौरभ सोनवाने का विशेष योगदान रहा है। इनके द्वारा सम्पूर्ण विषय की गंभीरता से लेते हुये अपने पदीय दायित्वों से उपर उठकर मानवीय दृष्टिकोण से कार्य किया गया, जिससे सभी श्रमिकों की सकुशल घर वापसी हो पाई है। श्री मिश्रा ने इस कार्य में लगे सभी सदस्यों का जिला प्रशासन की तरफ से आभार भी माना है।
 
(47 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2021मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer