समाचार
|| राष्ट्रपति को दिया गया गार्ड ऑफ ऑनर || राष्ट्रपति श्री कोविन्द का जबलपुर पहुँचने पर भव्य स्वागत || कोरोना के प्रकरणों में कमी नहीं आई तो भोपाल-इंदौर में 8 मार्च से रात्रि कर्फ्यू - मुख्यमंत्री श्री चौहान || जिले की बॉर्डर पर प्रशासन की कड़ी नजर || 07 मार्च को जलेहरी तिगड्डा से प्रात: 07.45 बजे से आवागमन के लिए मार्ग बंद रहेगा || उपभोक्ता शिविरों का आयोजन किया गया इसमें कुल 100 आवेदन प्राप्त हुए || मुख्यमंत्री आज कई स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होंगे || कोरोना से स्वस्थ होने पर 22 व्यक्ति डिस्चार्ज || नगरपालिका परिषद धनपुरी के 48 व्यक्तियो का नाम अपात्र पाये जाने पर एसडीएम ने किया विलोपित || नगरीय निकाय आम निर्वाचन 2021 के तैयारियो संबंधित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग 6 मार्च को
अन्य ख़बरें
16 जनवरी से लगेगी पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड वैक्सीन
एसएमएस, आईडी कार्ड एवं आधार लिंक्ड मोबाइल पर आए ओटीपी वेरिफिकेशन के साथ चाक चौबंद है वैक्सीननेशन की व्यवस्था
सागर | 13-जनवरी-2021
    बहुप्रतीक्षित कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण का सिलसिला 16 जनवरी 2021 से शुरू होने जा रहा है। कोरोना काल में अपनी जान की परवाह न करते हुए लगातार स्वास्थ्य सेवाएँ दे रहे स्वास्थ्य कर्मियों का कोविड टीकाकरण सबसे पहले किया जाएगा। संभाग कमिशनर श्री मुकेश शुक्ला ने बताया कि प्रथम चरण में पंजीकृत स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण 16 जनवरी से शुरू किया जा रहा है।
इन चरणों में समझें वैक्सीनेशन की व्यवस्था
1- सर्वप्रथम उचित आईडी कार्ड के माध्यम से कोविन - सिस्टम में लाभार्थी का पंजीकरण होगा।
2- पंजीकरण के बाद लाभार्थी को उसके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस प्राप्त होंगे। प्रथम एसएमएस पंजीकरण की पुष्टि के लिए आएगा तथा द्वितीय एसएमएस वैक्सीननेशन की तिथि,समय, स्थान बताने के लिए आएगा।
3- तीसरा एसएमएस प्रथम टीकाकरण के बाद आएगा जिसमें द्वितीय टीकाकरण की तिथि का उल्लेख होगा तथा चौथा एसएमएस द्वितीय टीकाकरण के पश्चात डिजिटल सर्टिफिकेट की लिंक के साथ भेजा जाएगा।
4- टीकाकरण के दिन वैक्सीसिनेटर ऑफिसर क्रमांक एक के द्वारा लाभार्थी के पंजीकरण का एसएमएस तथा फोटो आइडी की जाँच की जाएगी।
5- तत्पश्चात वैक्सीसिनेटर ऑफिसर क्रमांक-दो द्वारा कोविन-सिस्टम पर लाभार्थी के दस्तावेज को प्रमाणित किया जाएगा।
6- इसके बाद टीकाकरण अधिकारी द्वारा लाभार्थी को वैक्सीन लगायी जाएगी।
7- वैक्सीन लगने के बाद निर्धारित प्रतीक्षालय कक्ष में ऑब्जर्वेशन हेतु करीब आधे घंटे बैठना होगा।
संभाग के सभी जिलों में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया को सुचारु रूप से संपन्न कराने के उद्देश्य से संभागायुक्त श्री मुकेश शुक्ला ने संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा कर उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस दौरान सागर,पन्ना, टीकमगढ़, दमोह, निवाड़ी, छतरपुर कलेक्टर ने एनआईसी कक्ष से बैठक में भाग लिया।
कमिश्नर श्री शुक्ला ने बताया कि सागर संभाग के विभिन्न जिलों में कोविड-19 बचाव की वैक्सीन ग्वालियर से आएगी। वैक्सीन को पूर्ण सुरक्षा के साथ लाया जाएगा। जिन वाहनों से वैक्सीन लाई जाएगी उनकी लोकेशन भी ट्रेक की जाएगी।
उन्होंने बताया कि सभी वैक्सीनेशन सेंटर पर तथा समस्त टीकाकरण अधिकारियों द्वारा कोविड-19 से बचाव संबंधी प्रोटोकॉल का पालन भी किया जाएगा। केंद्र पर सुरक्षा मापदंडों के साथ-साथ सभी प्रोटोकॉल का पालन करना आवश्यक होगा।
बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आईएस ठाकुर द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इस संबंध में समस्त जोनल ऑफिसर का प्रशिक्षण संपन्न हो चुका है।
36 केंद्रों पर लगेगी वैक्सीन
सागर जिले में 36 केंद्रों पर कोविड-19 वैक्सीन लगायी जाएगी। इन 36 केंद्रों में से 34 केंद्र शासकीय हैं तथा 2 केंद्र प्रायवेट हैं।
शहरी केंद्रों में तीन केंद्र मेडिकल कॉलेज में, तीन केंद्र जिला अस्पताल में, एक केन्द्र इंदिरा नेत्र चिकित्सालय में, एक भाग्योदय अस्पताल में, एक सागरश्री अस्पताल में तथा एक मकरोनिया रजाखेड़ी शहरी सीएचसी में बनाया गया है। ग्रामीण क्षेत्र में 26 (सीएचसी तथा पीएचसी में) वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं।
आधार लिंक्ड मोबाइल नंबर पर पहुँचेगा ओटीपी
कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने बताया कि वैक्सीनेशन सेंटर पर दस्तावेज के प्रमाणीकरण हेतु लाभार्थी के आधार लिंक्ड मोबाइल नम्बर पर एक ओटीपी अर्थात वन टाइम पासवर्ड भेजा जाएगा। इसे कोविन सिस्टम में दर्ज किए जाने के पश्चात ही आगे टीकाकरण की प्रक्रिया की जाएगी। अतः समस्त पंजीकृत स्वास्थ्य कर्मियों के लिए यह आवश्यक होगा कि वे आधार लिंक्ड मोबाइल लंबर उनके साथ रखें।
वैक्सीनेशन के बाद 30 मिनिट तक प्रतीक्षालय में बैठना होगा अनिवार्य
कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि कोरोना वैक्सीन के पश्चात संबंधित लाभार्थियों को प्रतीक्षालय में करीब 30 मिनट तक अंडर ऑब्जर्वेशन रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन के बाद यदि किसी व्यक्ति को कोई शिकायत महसूस होती है तो मौक़े पर मौजूद डॉक्टर द्वारा त्वरित एक्शन लिया जाकर चिकित्सकीय कार्यवाही की जाएगी।

 
(52 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
फरवरीमार्च 2021अप्रैल
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
22232425262728
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer