समाचार
|| ग्रामोदय शिविर का उठाये लाभ || म.प्र. लोकसेवा आयोग की परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को मिलेगी प्रोत्साहन राशि || म.प्र. लोकसेवा एवं सुशासन के क्षेत्र में बढते कदम कार्यक्रम का आयोजन 25 जनवरी को होगा || शासकीय स्कूलों को आकर्षक, स्वच्छ एव सुंदर बनाने का कार्य जारी || राष्ट्रीय मतदाता दिवस का कार्यक्रम 25 जनवरी 2021 को होगा || नगर के सभी वार्डो में साफ-सफाई के लिए जन जागरूकता हेतु दल गठित || कंटेनमेंट क्षेत्रों को छोड़कर 26 जनवरी से शुरू होगा आंगनबाड़ी केन्द्रों का संचालन || विधायक स्वेच्छानुदान से 40 लोगो को 1 लाख 78 हजार रूपए की आर्थिक मदद || सभी योजनाओं में शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ति करें - कमिश्नर श्री श्रीवास्तव || ‘‘कोविड़-19 वैक्सिन : विकास, उपयोग व चुनौतियॉं‘‘ विषय पर हुई एक दिवसीय नेशनल वेबीनार
अन्य ख़बरें
कृषि मंत्री श्री कमल पटैल ने किया कृषि उपज उपमंडी सांईखेड़ा का शुभारंभ
-
नरसिंहपुर | 13-जनवरी-2021
 
   प्रदेश के किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री कमल पटैल ने सांईखेड़ा कृषि उपज उपमंडी का शुभारंभ बुधवार को किया। उन्होंने यहां किसान चौपाल कार्यक्रम में कृषकों से संवाद भी किया। इस मौके पर सांसद श्री राव उदय प्रताप सिंह विशेष रूप से मौजूद थे।
         कार्यक्रम को संबोधित करते हुये कृषि मंत्री श्री कमल पटैल ने कहा कि भारत किसानों का देश है। भारत गांव में बसता है प्रधानमंत्री श्री मोदी गांवों के सर्वांगीण विकास के लिए संकल्पि‍त हैं। इसके लिए प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना को शुरू किया गया है। पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, किसान क्रेडिट कार्ड व फसल बीमा योजना की शुरूआत की। श्री पटैल ने कहा कि किसानों को अपने खेत में जाने में तकलीफ नहीं हो, इसके लिए मुख्यमंत्री खेत सड़क योजना भी शुरू की जायेगी।
   कृषि मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने ग्रामवासियों को उनकी आवासीय संपत्ति का मालिकाना हक दिलानें में मदद के लिए प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना शुरू की है। श्री मोदी ने स्वामित्व योजना के तहत संपत्ति कार्ड का वितरण शुरू किया है। इस योजना से भूमि रिकॉर्ड का डिजिटलीकरण व ग्रामीण क्षेत्रों का सशक्तिकरण होगा। इस योजना से संपत्ति कर का निर्धारण और वित्तीय संस्थाओं से संपत्ति ऋण का लाभ मिलेगा। 2020- 21 के दौरान ड्रोन का उपयोग कर गांवों में संपत्ति के रिकॉर्ड का सर्वेक्षण किया गया है। इससे संपत्ति के मालिकों को अपनी संपत्ति का कार्ड मिलेगा। उन्होंने बताया कि पिछली सरकार में जब वे मंत्री थे, तो उन्होंने हरदा जिले के मसन और भारत परेठिया गांवों का सर्वे कराकर लोगों को मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास पुस्तिका के माध्यम से उनकी आवासीय संपत्ति का मालिकाना हक दिलाया था।
   श्री पटैल ने कहा कि कोरोना काल में अर्थव्यवस्था को खेती- किसानी, गांव और किसानों ने ही संभाला। लोगों को रोजगार देने में किसानों की अहम भूमिका है। उन्होंने एमएसपी, कांट्रेक्ट फार्मिंग सहित तीनों नये कृषि कानूनों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार किसानों के कल्याण एवं प्रगति के लिए कृत संकल्पित है। प्रदेश में 24 घंटे घरेलू बिजली मिल रही है। फसलों की सिचाई के लिए 10 घंटे बिजली दी जा रही है। इससे फसल उत्पादन बढ़ा है।
   कृषि मंत्री ने सांईखेड़ा में कृषि उपज उपमंडी शुरू होने पर किसानों को बधाई दी और कहा कि इससे किसानों की लंबे समय से की जा रही मांग पूरी हो गई है और अब किसानों को काफी सहूलियत होगी। उन्होंने सांईखेड़ा कृषि उपज उपमंडी का नाम भगवान बलराम कृषि उपज उपमंडी करने की मांग पर इसका प्रस्ताव देने के निर्देश मंडी सचिव को दिये। उन्होंने कहा कि यह पूर्ण कृषि उपज मंडी होगी। यहां इलेक्ट्रानिक कांटा लगाया जायेगा। मंडी तक आने के लिए सीमेंट रोड बनाई जायेगी, इसके लिए इस्टीमेट बनाकर भिजवाने के निर्देश उन्होंने संबंधित अधिकारियों को दिये। श्री पटैल ने इस मंडी को आदर्श मंडी बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिलना सुनिश्चित होना चाहिए। उन्होंने बताया कि भोपाल स्तर पर निर्देश दिये गये हैं कि चना खरीदी इस बार पहले होगी। उन्होंने कहा कि किसान और व्यापारी एक गाड़ी के दो पहिये हैं। इनमें संतुलन जरूरी है। किसान मित्र पुन: बनाये जायेंगे। उन्होंने मंडी सचिव को किसान व व्यापारी का तिलक लगाकर स्वागत करने के निर्देश दिये।
   सांसद राव उदय प्रताप सिंह ने कहा कि किसान ने भारत की तकदीर व तस्वीर बदलने का काम किया है। किसान देश के विकास की धुरी हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा जो नये कृषि कानून लागू किये गये हैं, वे पूरी तरह से किसानों के हित में है। इस बारे में किसान तनिक भी भ्रमित नहीं हो। ये कानून किसानों के हित में ही लागू किये गये हैं। नवीन कृषि कानून में ऐसा एक भी प्रावधान नहीं है, जो किसानों के हितों के विरूद्ध हो। उन्होंने सांईखेड़ा की कृषि उपज उपमंडी का नाम भगवान बलराम के नाम से करने और यहां आने- जाने में सुगमता के लिए सीसी रोड का निर्माण कराने पर जोर दिया। श्री सिंह ने कहा कि पहले फसलों को सिर्फ ओलावृष्टि से हुये नुकसान को प्राकृतिक आपदा माना जाता था। परंतु मध्यप्रदेश सरकार ने फसलों को पाला एवं इल्ली से होने वाले नुकसान को भी आपदा में शामिल कर किसानों को राहत‍ दी है। इस प्रावधान को शामिल करने में कृषि मंत्री श्री कमल पटैल की महत्वपूर्ण भूमिका है।
   कार्यक्रम को पूर्व विधायक श्री गोविन्द सिंह पटैल एवं श्रीमती साधना स्थापक, जिला भाजपा अध्यक्ष श्री अभिलाष मिश्रा और भारतीय किसान संघ के क्षेत्रीय संगठन मंत्री श्री महेश चौधरी ने भी संबोधित किया।
  • पौधरोपण
         कृषि मंत्री श्री कमल पटैल ने मंडी परिसर में पौधरोपण किया।
  • वृक्ष‍ मित्र सम्मानित
         कार्यक्रम में कृषि मंत्री ने वृक्ष मित्र श्री साहब सिंह लोधी का सम्मान किया।
  • बोली लगाकर मंडी का शुभारंभ
         कृषि मंत्री श्री पटैल ने सांईखेड़ा कृषि उपज उपमंडी में किसानों के बीच में जाकर उपज की बोली लगाकर मंडी कार्य का शुभारंभ किया।
  • कन्या पूजन
         कार्यक्रम के प्रारंभ में कृषि मंत्री श्री पटैल और अन्य अतिथियों ने कन्या पूजन किया।
         इस अवसर पर श्री गौतम पटैल, एसडीएम श्री आरएस राजपूत, उप संचालक कृषि श्री राजेश त्रिपाठी, सहायक मिट्टी परीक्षण अधिकारी डॉ. आरएन पटैल, अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारी और किसान मौजूद थे।
 
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2021फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer